• Hindi News
  • National
  • ED raids at Former Ranbaxy CEO Malvinder Mohan Singh and Shivinder Mohan Singh Residence

मनी लॉन्ड्रिंग / रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर मलविंदर और शिविंदर सिंह के ठिकानों पर ईडी के छापे



शिविंदर सिंह (बाएं) और मलविंदर। (फाइल) शिविंदर सिंह (बाएं) और मलविंदर। (फाइल)
X
शिविंदर सिंह (बाएं) और मलविंदर। (फाइल)शिविंदर सिंह (बाएं) और मलविंदर। (फाइल)

  • मलविंदर, शिविंदर पर वित्तीय अनियमितताओं के आरोप
  • दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज किया था, उसके आधार पर ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग की जांच शुरू की

Dainik Bhaskar

Aug 01, 2019, 03:30 PM IST

नई दिल्ली. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने रैनबैक्सी के पूर्व प्रमोटर भाइयों मलविंदर मोहन सिंह (45) और शिविंदर मोहन सिंह (43) के ठिकानों पर गुरुवार को छापे मारे। न्यूज एजेंसी के मुताबिक मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में यह कार्रवाई की गई है। दोनों पर रेलीगेयर एंटरप्राइजेज और फोर्टिस हेल्थकेयर में वित्तीय अनियमितताओं के आरोप हैं।

 

मई में पुलिस केस हुआ, ईडी ने संज्ञान लिया

रेलीगेयर फिनवेस्ट लिमिटेड ने पिछले साल दिसंबर में मलविंदर और शिविंदर के खिलाफ दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा से शिकायत की थी। इस साल मई में दोनों के खिलाफ मामला दर्ज हुआ। उन पर 740 करोड़ रुपए के फ्रॉड के आरोप हैं। इस मामले में संज्ञान लेते हुए प्रवर्तन निदेशालय ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया था।

 

रैनबैक्सी की डील में भी जानकारियां छिपाने के आरोप

मलविंदर-शिविंदर का जापान की दवा कंपनी दाइची सैंक्यो से भी विवाद चल रहा है। 4,000 करोड़ रुपए के भुगतान विवाद में सुप्रीम कोर्ट ने अप्रैल में दोनों भाइयों से कहा था कि आदेश का उल्लंघन किया तो जेल भेज दिए जाएंगे। दाइची सैंक्यो आर्बिट्रेशन अवॉर्ड को लागू करवाने के लिए कोर्ट में लड़ रही है। सिंगापुर ट्रिब्यूनल में उसने 2016 में केस जीता था। दाइची ने 2008 में मलविंदर-शिविंदर सिंह से रैनबैक्सी को खरीदा था। बाद में उसने आरोप लगाया कि सिंह ब्रदर्स ने रैनबैक्सी के बारे में अहम जानकारियां छिपाईं। उसने सिंगापुर ट्रिब्यूनल में शिकायत की थी।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना