• Hindi News
  • National
  • Eknath Shinde, Uddhav Thackeray On Rahul Gandhi Remarks On Savarkar | Maharashtra News

राहुल ने सावरकर की अंग्रेजों को लिखी चिट्ठी दिखाई:दावा किया- वो अंग्रेजों के नौकर बने रहना चाहते थे, गांधी-नेहरू ने ऐसा नहीं किया

मुंबई3 महीने पहले

भारत जोड़ो यात्रा पर निकले राहुल गांधी ने एक बार फिर सावरकर पर निशान साधा है। राहुल ने गुरुवार को अकोला में मीडिया के सामने एक चिट्ठी दिखाई। उन्होंने बताया कि सावरकर ने ये चिट्ठी अंग्रेजों को लिखी थी। उन्होंने खुद को अंग्रेजों का नौकर बने रहने की बात कही थी। साथ ही डरकर माफी भी मांगी थी। गांधी-नेहरू ने ऐसा नहीं किया, इसलिए वे सालों तक जेल में रहे।

इधर, राहुल के इस बयान पर महाराष्ट्र का सियासी पारा भी चढ़ गया है। मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे, डिप्टी CM देवेंद्र फडणवीस ने आपत्ति जताई है। वहीं पिछली सरकार में कांग्रेस के सहयोग से राज्य के CM रहे उद्धव ठाकरे ने राहुल के बयान से असहमति जताई है। बता दें कि इसी हफ्ते कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में उद्धव के बेटे आदित्य ठाकरे राहुल के साथ शामिल हुए थे।

सावरकर के पोते ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई

रंजीत सावरकर मुंबई में स्थित स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक के अध्यक्ष हैं।
रंजीत सावरकर मुंबई में स्थित स्वातंत्र्यवीर सावरकर राष्ट्रीय स्मारक के अध्यक्ष हैं।

सावरकर के पोते रंजीत सावरकर ने मुंबई के शिवाजी पार्क पुलिस स्टेशन में राहुल गांधी और महाराष्ट्र कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले की शिकायत की है। रंजीत ने बताया- राहुल कहते हैं कि सावरकर अंग्रेजों की नौकरी करते थे और उनसे पेंशन लेते थे। सावरकर देश के खिलाफ काम करते थे। राहुल ने ऐसा बोलकर वीर सावरकर का अपमान किया है।

भारत जोड़ो यात्रा का 71वां दिन है। यात्रा आज महाराष्ट्र के अकोला महाराष्ट्र जिले में है।
भारत जोड़ो यात्रा का 71वां दिन है। यात्रा आज महाराष्ट्र के अकोला महाराष्ट्र जिले में है।

चिट्ठी पर राहुल का पूरा बयान पढ़िए...
राहुल गांधी ने कहा, 'ये देखिए मेरे लिए सबसे जरूरी डॉक्यूमेंट। ये सावरकर जी की चिट्ठी है। इसमें उन्होंने अंग्रेजों को लिखा है। मैं आपका सबसे ज्यादा ईमानदार नौकर बने रहना चाहता हूं। ये मैंने नहीं सावरकर जी ने लिखा है। फडणवीस जी देखना चाहते हैं तो देख लें। सावरकर जी ने अंग्रेजों की मदद की। सावरकर जी ने ये चिट्ठी साइन की।

गांधी, नेहरू और पटेल सालों जेल में रहे और कोई चिट्ठी नहीं साइन की। सावरकर जी ने इस कागज पर साइन किया, उसका कारण डर था। अगर डरते नहीं तो कभी साइन नहीं करते। सावरकर जी ने जब साइन किया तो हिंदुस्तान के गांधी, पटेल को धोखा दिया था। उन लोगों से भी कहा कि गांधी और पटेल भी साइन कर दें।'

राहुल ने कहा- भारत में पिछले 8 साल से डर का माहौल, नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है।
राहुल ने कहा- भारत में पिछले 8 साल से डर का माहौल, नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है।

एकनाथ और उद्धव को भी राहुल के बयान पर ऐतराज
महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा- महाराष्ट्र के लोग हिंदू विचारक व्यक्ति का अपमान बर्दाश्त नहीं करेंगे। वीर सावरकर के अपमान को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। महाराष्ट्र में श्रद्धेय स्वतंत्रता सेनानी का अपमान किया गया और कुछ ऐसे भी लोग थे जो इसे सहते रहे। सावरकर का अपमान करने वालों के प्रति एक नरम रुख अपनाया जा रहा है। शिंदे का इशारा उद्धव ठाकरे की ओर था।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा- हमारी पार्टी सावरकर का बहुत सम्मान करती है। हम स्वतंत्रता सेनानी पर राहुल गांधी की टिप्पणी का समर्थन नहीं करते हैं। हमारे मन में वीर सावरकर के लिए बहुत सम्मान और विश्वास है और इसे मिटाया नहीं जा सकता। उन्होंने केंद्र सरकार से सवाल किया कि वे सावरकर को भारत रत्न क्यों नहीं देते?

राहुल गांधी ने कहा कि सावरकर अंग्रेजों से पेंशन लेते थे, उनके लिए काम करते थे।
राहुल गांधी ने कहा कि सावरकर अंग्रेजों से पेंशन लेते थे, उनके लिए काम करते थे।

अपमान करने वालों को उचित जवाब देंगे: फडवणीस
डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि राहुल बड़ी बेशर्मी से झूठ बोलते हैं। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र के लोग सावरकर का अपमान करने वालों को उचित जवाब देंगे। राहुल गांधी वीर सावरकर के बारे में कुछ नहीं जानते हैं और रोज झूठ बोलते हैं।

राहुल गांधी भी महाराष्ट्र के वाशिम में बिरसा मुंडा के जन्मोत्सव कार्यक्रम में पहुंचे थे।
राहुल गांधी भी महाराष्ट्र के वाशिम में बिरसा मुंडा के जन्मोत्सव कार्यक्रम में पहुंचे थे।

यहां से विवाद शुरू
राहुल की भारत जोड़ो यात्रा अभी महाराष्ट्र में है। मंगलवार को जब यात्रा वाशिम पहुंची तो राहुल ने बिरसा मुंडा की जयंती पर एक रैली को संबोधित किया। उन्होंने कहा- सावरकर भाजपा और RSS के प्रतीक हैं। उन्हें जब अंडमान में दो-तीन साल तक जेल में रखा गया तो उन्होंने दया याचिकाएं लिखना शुरू कर दिया।

सावरकर ने खुद पर एक अलग नाम से एक किताब लिखी थी और बताया था कि वह कितने बहादुर थे। बिरसा मुंडा कभी एक इंच भी पीछे नहीं हटे। शहीद हो गए। ये आदिवासियों के प्रतीक हैं। बीजेपी-संघ के प्रतीक सावरकर ने दया याचिकाएं लिखनी शुरू कर दीं थीं। इस बयान पर सियासत हो रही है।

राहुल बोले राष्ट्रगीत बजेगा, पर नेपाल का राष्ट्रगान बज गया

कांग्रेस की भारत जोड़ो यात्रा में राष्ट्रगीत की जगह गलत सॉन्ग बजने से राहुल गांधी सोशल मीडिया पर ट्रोल हो रहे हैं। यह वाकया महाराष्ट्र के वाशिम का है। बुधवार को राहुल यहां एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान राहुल बोले अब राष्ट्रगीत बजेगा, लेकिन नेपाल का राष्ट्रगान बज गया। इस पर उन्होंने फौरन टोक दिया और राष्ट्रगीत चालू करने को कहा। अब भाजपा नेता ने भी इस वीडियो को शेयर कर सवाल उठा रहे हैं। पढ़े पूरी खबर...

भारत जोड़ो यात्रा में सावरकर से जुड़े विवाद की ये खबरें भी पढ़ें...

पिछले महीने कर्नाटक में राहुल गांधी ने कहा था- अंग्रेजों से पैसे लेते थे सावरकर

पिछले महीने जब भारत जोड़ो यात्रा का एक महीने पूरा हुआ था, तब राहुल गांधी ने कर्नाटक के तुरुवेकरे में 34 मिनट की एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। राहुल इस दौरान सावरकर, RSS और PFI से लेकर कांग्रेस की इंटरनल पॉलिटिक्स पर बात की थी। कांग्रेस सांसद ने कहा- देश की जनता भ्रष्टाचार से परेशान है और सरकार इसे मैनेज करने के लिए मीडिया पर कंट्रोल कर रही है। पूरी खबर पढ़ें

कर्नाटक में राहुल के साथ सावरकर का पोस्टर, कांग्रेस बोली- किसी शरारती की हरकत

राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा में एक बार फिर सावरकर चर्चा में हैं। कर्नाटक के मंड्या जिले में पहुंची इस यात्रा में एक पोस्टर लगाया गया, जिसमें राहुल के साथ विनायक दामोदर सावरकर को दिखाया गया है। पार्टी ने इस पोस्टर को नकारते हुए शरारती तत्व की हरकत बताया है। पूरी खबर पढ़ें

केरल में राहुल की यात्रा में लगा सावरकर का पोस्टर, कांग्रेसियों ने गांधी जी की फोटो से ढंक दिया

कन्याकुमारी से कश्मीर तक निकाली जा रही राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा गुरुवार को केरल के कोच्चि पहुंचेगी। यात्रा के स्वागत के लिए यहां स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों के पोस्टर लगाए गए थे। इनमें स्वतंत्रता सेनानी विनायक दामोदर सावरकर का पोस्टर भी लगाया गया था। कांग्रेसियों को जैसे ही इसकी जानकारी लगी, उन्होंने आनन-फानन में उसके ऊपर गांधी जी की फोटो लगा दी। पूरी खबर पढ़ें