• Hindi News
  • National
  • Farmers Protest, Kisan Andolan Delhi Singhu Border LIVE Update | Haryana Punjab Farmers Delhi Chalo March Latest News Today 11 December

किसान आंदोलन:कृषि कानूनों के खिलाफ किसान सुप्रीम कोर्ट पहुंचे; जालंधर में JIO का ऑफिस बंद करवाया

नई दिल्ली10 महीने पहले
फोटो सिंघु बॉर्डर की है, जहां हजारों किसान जमा हैं। कल यानी 12 दिसंबर को भारत में हाईवे जाम करने का ऐलान किया गया है। इस बीच, अमृतसर से 50 हजार किसान दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। - Dainik Bhaskar
फोटो सिंघु बॉर्डर की है, जहां हजारों किसान जमा हैं। कल यानी 12 दिसंबर को भारत में हाईवे जाम करने का ऐलान किया गया है। इस बीच, अमृतसर से 50 हजार किसान दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं।
  • किसान आंदोलन के चलते रेलवे ने पंजाब रूट की 4 ट्रेनें रद्द कीं
  • सिंघु बॉर्डर पर ड्यूटी देने वाले 2 पुलिस अफसरों को कोरोना हुआ

नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के आंदोलन का आज 16वां दिन है और अपने ऐलान के मुताबिक, किसानों ने जालंधर में जियो का दफ्तर बंद करवा दिया। किसानों ने कहा कि मांग पूरी होने तक इसे नहीं खुलने दिया जाएगा। दफ्तर के स्टाफ ने कहा है कि इस घटना की सूचना हेड ऑफिस को दी जाएगी और वहां से मिले निर्देशों का पालन होगा। केंद्र सरकार का प्रपोजल ठुकराने के बाद किसानों ने कहा था कि वो देशभर में अंबानी और अदाणी के प्रोडक्ट का बायकॉट करेंगे।

किसानों ने 12 दिसंबर यानी कल देशभर में हाईवे पर चक्काजाम का ऐलान किया है। अमृतसर से 500 ट्रैक्टर-ट्रालियों में करीब 50 हजार किसान दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं। ये दिल्ली के करीब पहुंच चुके हैं। अमृतसर से रवाना होने से पहले इन किसानों ने स्वर्ण मंदिर में अरदास की।

सिख तालमेल कमेटी संगठन ने जालंधर में किसान आंदोलन के समर्थन में जियो का दफ्तर बंद करवा दिया।
सिख तालमेल कमेटी संगठन ने जालंधर में किसान आंदोलन के समर्थन में जियो का दफ्तर बंद करवा दिया।

सुप्रीम कोर्ट में किसानों ने कहा- कॉरपोरेट लालच के आगे हम कमजोर होंगे

इससे पहले भारतीय किसान यूनियन ने तीनों कृषि बिलों को शुक्रवार को कोर्ट में चैलेंज किया। उनका कहना है कि इन कानूनों के चलते किसान कॉरपोरेट के लालच के आगे कमजोर होंगे। किसानों ने बुधवार को सरकार का लिखित प्रपोजल ठुकरा दिया था। इस बारे में कृषि मंत्री ने शुक्रवार को कहा कि हमें किसानों से कोई जवाब नहीं मिला। सिर्फ मीडिया के जरिए पता चला कि उन्होंने प्रपोजल ठुकरा दिया। हमने अपने प्रपोजल में आपत्तियां दूर करने की कोशिश की है। हमें उनकी तरफ से आगे की बातचीत का प्रपोजल नहीं मिला है।

कृषि मंत्री ने कहा कि हम किसानों से बातचीत के लिए तैयार हैं। हालांकि, उन्होंने किसान आंदोलन के दौरान दिल्ली दंगों के आरोपी शरजील इमाम और उमर खालिद के पोस्टर दिखाए जाने पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि किसानों की मांग MSP हो सकती है, कानूनों के प्रावधान हो सकते हैं, पर ये किसानों की मांग कैसे हो सकती है?

'सरकार कानून वापस ले, हम घर चले जाएंगे'
किसान नेता बूटा सिंह ने कहा कि कानून रद्द करने को लेकर अभी तक कोई फैसला नहीं हुआ, इसलिए जल्द ट्रेनें रोकने की तारीख का ऐलान करेंगे। वहीं भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि सरकार और किसान दोनों को पीछे हटना होगा। सरकार कानून वापस ले तो किसान अपने घरों को चले जाएंगे।

मोदी की अपील- मेरे मंत्रियों की बात जरूर सुनें
किसानों की मांगों को लेकर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। मोदी ने इसका वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर कर कहा है कि इसे जरूर सुनें।

आंदोलन के बीच कोरोना का खतरा
किसान आंदोलन के बीच सिंघु बॉर्डर पर ड्यूटी देने वाले 2 IPS अफसर कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इनमें एक DCP और एक एडिशनल DCP शामिल हैं। इन्हें होम आइसोलेट कर दिया गया है।

रेलवे ने पंजाब जाने वाली 4 ट्रेनें रद्द कीं
किसान आंदोलन के चलते रेलवे ने ट्रेनें कैंसिल करने का फैसला लिया है। आज सियालदह-अमृतसर और डिब्रूगढ़-अमृतसर ट्रेनें रद्द की गई हैं। 13 दिसंबर को अमृतसर-सियालदह और अमृतसर-डिब्रूगढ़ ट्रेनें कैंसिल की गई हैं।

'भगवान जाने कब हल निकलेगा'
किसान नेता शिवकुमार कक्का से पूछा गया कि हल कब निकलेगा तो उन्होंने कहा, "भगवान जाने कब ऐसा होगा। सर्दी और कोरोना के चलते हमें काफी दिक्कतें आ रही हैं, लेकिन मांगें पूरी होने तक आंदोलन जारी रखेंगे।