गुजरात / सूरत के रघुवीर टेक्सटाइल मार्केट में आग, दमकल की 76 गाड़ियों की मदद से काबू पाया गया

आग पर काबू पाने के लिए रातभर अभियान चला। आग पर काबू पाने के लिए रातभर अभियान चला।
रघुवीर मार्केट में सोमवार देर रात आग लगी। रघुवीर मार्केट में सोमवार देर रात आग लगी।
रघुवीर मार्केट के सभी 14 मंजिलों पर आग लगी। रघुवीर मार्केट के सभी 14 मंजिलों पर आग लगी।
X
आग पर काबू पाने के लिए रातभर अभियान चला।आग पर काबू पाने के लिए रातभर अभियान चला।
रघुवीर मार्केट में सोमवार देर रात आग लगी।रघुवीर मार्केट में सोमवार देर रात आग लगी।
रघुवीर मार्केट के सभी 14 मंजिलों पर आग लगी।रघुवीर मार्केट के सभी 14 मंजिलों पर आग लगी।

  • फायर सेफ्टी दुरुस्त नहीं होने के कारण इमारत में आग लगी: अधिकारी
  • रघुवीर टेक्सटाइल मार्केट इमारत के सभी 14 मंजिलों पर आग लगी

Dainik Bhaskar

Jan 21, 2020, 01:38 PM IST

सूरत. गुजरात के सूरत में पुणा-सारोली रोड पर स्थित 14 मंजिला रघुवीर सिलियम मार्केट की इमारत में सोमवार को रात 3 बजे आग लग गई। सूचना मिलते ही 76 दमकल की गाड़ियां मौके पर पहुंची। जानकारी के मुताबिक, चौथी मंजल पर शॉट सर्किट के कारण आग लगी। इसके बाद पूरे इमारत में फैल गई। काफी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया गया। फायर सेफ्टी को देखते हुए पूरे मार्केट को सील कर दिया गया है।


सूरत अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (सूडा) के चेयरमैन बंधानिधि पानी ने बताया कि बिल्डिंग में इलेक्ट्रिक वायरिंग और बिल्डिंग को नोटिस दिया गया था। 13 दिन पहले भी आग लगी थी। इसके बाद भी फायर सेफ्टी दुरुस्त नहीं की गई। आग लगने का कारण भी यही है। रघुवीर मार्केट में व्यापारियों ने अवैध रूप से लकड़ी की सीढ़ियां बनाई हैं, जिससे आग तेजी से फैली। यही कारण है कि आग पर काबू पाने में दमकल कर्मियों को काफी मशक्कत करनी पड़ी।


बारडोली, नवसारी, पलसाणा दमकल की सेवाएं ली गई
सूरत महानगर पालिका के फायर ब्रिगेड के पास अत्याधुनिक सुविधाएं हैं। इसके बाद भी रघुवीर मार्केट की आग बुझाने के लिए बारडोली, नवसारी और पलसाणा के फायर स्टॉफ की सेवाएं ली गईं। इसके अलावा हजीरा पट्‌टी पर स्थित एक निजी कंपनी के फायर स्टॉफ की भी सेवाएं ली गई।

मई में तक्षशिला कॉम्पलेक्स में आग से 23 छात्रों की मौत हुई थी

पिछले साल 24 मई को सूरत के चार मंजिला तक्षशिला कॉम्पलेक्स में आग लगने से 23 छात्रों की मौत हो गई थी। इनमें से 16 जिंदा जल गए थे। ऐसा बताया गया था कि आग शॉर्ट सर्किट की वजह से लगी थी। घटना के समय 15 से 22 की उम्र के 60 छात्र-छात्राएं दूसरी और तीसरी मंजिल पर चलने वाली दो आर्ट-हॉबीज क्लासेज अटेंड कर रहे थे।

कॉम्प्लेक्स की चौथी मंजिल अवैध रूप से बनी थी
प्रशासन के अनुसार, तक्षशिला नाम का यह कॉम्प्लेक्स कागजों में तीन मंजिला है। इसमें जिम, फैशन डिजाइनिंग इंस्टीट्यूट, नर्सिंग होम समेत कई शॉपिंग सेंटर्स हैं। इसकी चौथी मंजिल अवैध रूप से बनी थी। ऐसी रिपोर्ट्स के बाद गुजरात के सीएम विजय रूपाणी ने जांच के आदेश दिए थे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना