--Advertisement--

दिल्ली / शहर में सामान्य से 5 गुना ज्यादा प्रदूषण; आशंका- लोगों की औसत उम्र 18 महीने कम हुई



Five times more air pollution in Delhi
X
Five times more air pollution in Delhi

  • आईसीएमआर के वैज्ञानिकों का अनुमान- वायु प्रदूषण से सालाना 12 लाख से ज्यादा मौतें
  • देश में 70 साल से कम उम्र के 11% लोगों की मौत की वजह वायु प्रदूषण

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 02:18 PM IST

नई दिल्ली. दिल्ली में पिछले साल सामान्य से पांच गुना ज्यादा वायु प्रदूषण रिकाॅर्ड किया गया। इससे यहां के लोगों की उम्र में 18 महीने की कमी होने का अनुमान है। वहीं, सामान्य से ज्यादा प्रदूषण से राजस्थान में लोगों की औसत उम्र में 2.5 साल, उत्तरप्रदेश में 2.2 साल और हरियाणा के 2.1 साल की कमी होने का अनुमान है। यह आकलन इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) सहित देश के कई अन्य चिकित्सीय संस्थानों के वैज्ञानिकों ने मिल कर किया है।

 

दिल्ली में ज्यादा प्रदूषण होने के बाद भी उम्र में ज्यादा कमी नहीं होने की वजह बेहतर चिकित्सा सेवा को बताया गया है। रिपोर्ट काे ‘द लैंसेट जर्नल’ में प्रकाशित किया गया है। पिछले साल देश में वायु प्रदूषण से होने वाली बीमारियों से 12 लाख 40 हजार 530 लोगों की मौत हुई थी। इनमें 6 लाख 73 हजार 129 लोगों की मौत बाहरी प्रदूषण और 4 लाख 81 हजार 738 लोगों की मौत घर के अंदर के प्रदूषण से हुई।

 

भारत में वायु प्रदूषण की वजह से 26% लोग बीमार

आईसीएमआर के महानिदेशक डॉ. बलराम भार्गव ने कहा कि वायु प्रदूषण देश में 8% बीमारियों का कारण बन रहा है। इससे सांस लेने में तकलीफ, दमा, फेफड़ों का संक्रमण, फेफड़ों का कैंसर, हृदय संबंधी बीमारी, ब्रेन स्ट्रोक और मधुमेह का खतरा होता है। देश में 70 साल से कम उम्र के 11% लोगों की मौत की वजह वायु प्रदूषण है। विश्व की 18% आबादी भारत में रहती है, लेकिन यहां वायु प्रदूषण की वजह से होने वाली बीमारियों से 26% पीड़ित हैं।
 

दिल्ली में सबसे ज्यादा है पीएम 2.5 की मात्रा

दिल्ली में गुरुवार को पीएम 2.5 की मात्रा 209 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकाॅर्ड की गई जबकि उत्तरप्रदेश, बिहार और हरियाणा में पीएम 2.5 का लेवल 125.7 से 174.7 रिकाॅर्ड किया गया। राजस्थान, झारखंड और पश्चिम बंगाल में पीएम 2.5 का स्तर 81.4 से 93.4 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर रिकाॅर्ड हुआ। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..