15 फोटोज में देखें आंध्र में बाढ़ से तबाही:झरने-नदियां उफान पर; तिरूपति मंदिर में घुसा पानी, सैकड़ों गाड़ियां और जानवर बहे

तिरुमला17 दिन पहले

आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में गुरुवार को भारी बारिश के बाद बाढ़ ने जमकर तबाही मचाई। बारिश की वजह से पहाड़ी झरने और नदी-नाले उफान पर हैं। तिरूपति के प्रसिद्ध मंदिर में भी पानी घुस गया है। निचले इलाकों की सड़कें और गली-मुहल्ले पानी का बहाव ऐसा है कि वाहन कागज की तरह बहने लगे। शहर से लगे ग्रामीण इलाकों में सैकड़ों जानवर बाढ़ में बह गए हैं। कुल मिलाकर नुकसान का आंकलन करना मुश्किल है। 15 तस्वीरों में देखें तबाही का मंजर...

तिरुमला मंदिर से लगे पहाड़ी झरने में पानी का बहाव बहुत तेज है। पानी मंदिर परिसर में भर गया है। यहां से श्रद्धालुओं को सुरक्षित हटा लिया गया है।
तिरुमला मंदिर से लगे पहाड़ी झरने में पानी का बहाव बहुत तेज है। पानी मंदिर परिसर में भर गया है। यहां से श्रद्धालुओं को सुरक्षित हटा लिया गया है।
तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD), जो प्रसिद्ध मंदिर का प्रबंधन संभालता है, ने भारी बारिश के पूवार्नुमान के मद्देनजर अलीपीरी और श्रीवरिमेट्लू को दो दिनों के लिए बंद करने की घोषणा पहले ही की थी।
तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD), जो प्रसिद्ध मंदिर का प्रबंधन संभालता है, ने भारी बारिश के पूवार्नुमान के मद्देनजर अलीपीरी और श्रीवरिमेट्लू को दो दिनों के लिए बंद करने की घोषणा पहले ही की थी।
बारिश ने तिरुमाला में वैकुंठम कतार परिसर को भी प्रभावित किया। परिसर के तहखाने में पानी घुस गया। TTD के अतिरिक्त कार्यकारी धर्मा रेड्डी के घर में भी पानी भर गया।
बारिश ने तिरुमाला में वैकुंठम कतार परिसर को भी प्रभावित किया। परिसर के तहखाने में पानी घुस गया। TTD के अतिरिक्त कार्यकारी धर्मा रेड्डी के घर में भी पानी भर गया।
तिरुमला स्थित विश्व प्रसिद्ध भगवान श्री वेंकटेश्वर स्वामी के मंदिर जाने के लिए घाट रोड सड़क में भी पानी का तेज बहाव है। पहाड़ी मंदिर के लिए सीढ़ी वाले मार्ग को भी बंद कर दिया गया है। मंदिर परिसर में पानी भर गया है।
तिरुमला स्थित विश्व प्रसिद्ध भगवान श्री वेंकटेश्वर स्वामी के मंदिर जाने के लिए घाट रोड सड़क में भी पानी का तेज बहाव है। पहाड़ी मंदिर के लिए सीढ़ी वाले मार्ग को भी बंद कर दिया गया है। मंदिर परिसर में पानी भर गया है।
बंगाल की खाड़ी में बने डिप्रेशन की वजह से आंध्र प्रदेश के कई तटीय जिलों में भारी बारिश हो रही है। डिप्रेशन का सबसे ज्यादा असर चित्तूर, कड़पा और नेल्लूर जिलों में देखने को मिल रहा है। इन जिलों के कई निचले इलाकों में जल भराव हो गया है।
बंगाल की खाड़ी में बने डिप्रेशन की वजह से आंध्र प्रदेश के कई तटीय जिलों में भारी बारिश हो रही है। डिप्रेशन का सबसे ज्यादा असर चित्तूर, कड़पा और नेल्लूर जिलों में देखने को मिल रहा है। इन जिलों के कई निचले इलाकों में जल भराव हो गया है।
गांधी रोड, तिलक रोड, आकाशवाणी बाईपास रोड, लक्ष्मीपुरम, लीला महल और वेस्ट चर्च रेलवे अंडर ब्रिज जैसे व्यस्त इलाकों में वाहनों का आवागमन ठप हो गया। कुछ आवासीय कॉलोनियों में भी पानी भर गया, जिससे निवासियों को भारी कठिनाई हुई।
गांधी रोड, तिलक रोड, आकाशवाणी बाईपास रोड, लक्ष्मीपुरम, लीला महल और वेस्ट चर्च रेलवे अंडर ब्रिज जैसे व्यस्त इलाकों में वाहनों का आवागमन ठप हो गया। कुछ आवासीय कॉलोनियों में भी पानी भर गया, जिससे निवासियों को भारी कठिनाई हुई।
नदी नहर सब कुछ ऊफान पर हैं। सड़कों में भी पानी भर गया, कई इलाकों में पानी की तेज बहाव में सड़कें कट गई हैं, जिसकी वजह से लोगों की आवाजाही में काफी दिक्कत हो रही है।
नदी नहर सब कुछ ऊफान पर हैं। सड़कों में भी पानी भर गया, कई इलाकों में पानी की तेज बहाव में सड़कें कट गई हैं, जिसकी वजह से लोगों की आवाजाही में काफी दिक्कत हो रही है।
दक्षिण बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र अब डिप्रेशन में बदल गया है। इससे उत्तरी तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र में भारी बारिश हुई है और आगे भी होने के आसार हैं।
दक्षिण बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र अब डिप्रेशन में बदल गया है। इससे उत्तरी तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र में भारी बारिश हुई है और आगे भी होने के आसार हैं।
तिरुपति शहर के कुछ इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस गया था, चंद्रगिरि इलाके में लोगों के घरों तक पानी आ गया, शहर के सड़कों में भी जलभराव हो गया है। वाहन पानी में बह रहे हैं।
तिरुपति शहर के कुछ इलाकों में लोगों के घरों में पानी घुस गया था, चंद्रगिरि इलाके में लोगों के घरों तक पानी आ गया, शहर के सड़कों में भी जलभराव हो गया है। वाहन पानी में बह रहे हैं।
रेनीगुंटा हवाईअड्डा भी जलमग्न हो गया, जिससे अधिकारियों को उड़ानों को डायवर्ट करना पड़ा। हैदराबाद-तिरुपति इंडिगो फ्लाइट को बेंगलुरु डायवर्ट किया गया। हैदराबाद-तिरुपति एयर इंडिया और स्पाइसजेट की उड़ानों को हैदराबाद लौटना पड़ा।
रेनीगुंटा हवाईअड्डा भी जलमग्न हो गया, जिससे अधिकारियों को उड़ानों को डायवर्ट करना पड़ा। हैदराबाद-तिरुपति इंडिगो फ्लाइट को बेंगलुरु डायवर्ट किया गया। हैदराबाद-तिरुपति एयर इंडिया और स्पाइसजेट की उड़ानों को हैदराबाद लौटना पड़ा।
मंदिर का रास्ता पूरी तरह से जलमग्न है। बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र अब डिप्रेशन में बदल गया है। परिणामस्वरूप उत्तरी तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र में भारी बारिश हुई है और आगे भी होने के आसार हैं।
मंदिर का रास्ता पूरी तरह से जलमग्न है। बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र अब डिप्रेशन में बदल गया है। परिणामस्वरूप उत्तरी तमिलनाडु, पुडुचेरी और दक्षिण आंध्र में भारी बारिश हुई है और आगे भी होने के आसार हैं।
तिरूपति में एक बस पानी से भरे सबवे में फंस गई। इसमें कुछ लोग सवार थे, जिन्हें स्थानीय लोगों ने रेस्क्यू किया।
तिरूपति में एक बस पानी से भरे सबवे में फंस गई। इसमें कुछ लोग सवार थे, जिन्हें स्थानीय लोगों ने रेस्क्यू किया।
तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई स्थित क्षेत्रीय मौसम विभाग ने गुरुवार देर रात अलर्ट जारी किया है। इसके अनुसार राज्य के कई जिलों में बारिश होने की आशंका जताई गई। मौसम विभाग के अनुसार कोयंबटूर, तिरकुवल्लूर, कांचीपुरम, चेन्नई और चेंगलपट्टू जिलों में बारिश होने की संभावना है।
तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई स्थित क्षेत्रीय मौसम विभाग ने गुरुवार देर रात अलर्ट जारी किया है। इसके अनुसार राज्य के कई जिलों में बारिश होने की आशंका जताई गई। मौसम विभाग के अनुसार कोयंबटूर, तिरकुवल्लूर, कांचीपुरम, चेन्नई और चेंगलपट्टू जिलों में बारिश होने की संभावना है।
डिप्रेशन शुक्रवार सुबह उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट को पार करेगा और इसके कारण यहां भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश के अलर्ट के कारण तमिलनाडु के कई जिलों के स्कूलों व कालेजों में अवकाश का ऐलान कर दिया गया है। पुडुचेरी और कारईकाल में भी यही हाल है।
डिप्रेशन शुक्रवार सुबह उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिण आंध्र प्रदेश के तट को पार करेगा और इसके कारण यहां भारी बारिश की संभावना है। भारी बारिश के अलर्ट के कारण तमिलनाडु के कई जिलों के स्कूलों व कालेजों में अवकाश का ऐलान कर दिया गया है। पुडुचेरी और कारईकाल में भी यही हाल है।