• Hindi News
  • National
  • Food Will Soon Be Available In Trains Through Pantry Car, Decision Taken In View Of Festival Season

ट्रेन में पेंट्री सर्विस:ट्रेनों में 18 महीने बाद फिर परोसा जाएगा ताजा खाना, पिछले साल कोरोना के चलते रोक लगी थी

नई दिल्लीएक महीने पहले

रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर हैं। जल्द ही ट्रेनों में सफर करते हुए आप गर्म खाने का मजा ले सकेंगे। रेलवे की यात्री सुविधा कमेटी ट्रेनों में ऑन बोर्ड कैटरिंग सर्विस समेत कई दूसरी सुविधाएं एक बार फिर बहाल करने जा रही है। ट्रेनों में कोरोना की पहली लहर के बाद से ही पेंट्री की केटरिंग पर रोक है। अब 18 महीने बाद इसे फिर से शुरू किया जा सकता है।

ट्रेनों में खाने के लिए यात्रियों को अलग से कोई बुकिंग नहीं करनी होगी। प्रीमियम ट्रेनों में टिकट के साथ ही खाने की सुविधा मिलेगी, जबकि दूसरी ट्रेनों में यात्री पहले की तरह पेमेंट देकर पेंट्री से खाना ले सकेंगे।

रेल मंत्री के साथ यात्री सुविधा समिति की बैठक
IRCTC से जुड़े सूत्रों के मुताबिक 25 या 26 अक्टूबर तक यात्री सुविधा समिति की बैठक रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव के साथ होनी है। इसमें खाना समेत बाकी सर्विसेस को दोबारा शुरू करने को लेकर चर्चा होगी। इस बैठक में रेलवे बेस किचन, ऑन बोर्ड कैटरिंग सर्विस शुरू करने पर निर्णय लिया जा सकता है। इसको लेकर विभाग और मंत्रालय को एक प्रेजेंटेशन भी दिया गया है।

30% लोग ही ट्रेनों में खाना खरीद रहे
कोरोना काल में सफर करने वाले यात्रियों की सुविधा को देखते हुए रेलवे बोर्ड के निर्देश पर IRCTC ने ट्रेनों में रेडी टू ईट फूड देने की शुरुआत की थी, लेकिन ज्यादातर यात्रियों को रेडी टू ईट फूड पसंद नहीं आ रहा था। जिसकी शिकायतें कई बार IRCTC को भी मिली हैं।

IRCTC के पास कैटरिंग और टूरिज्म का कोर बिजनेस है। पहले के मुकाबले महज 30 फीसदी ट्रेनों में लोग खाना खरीदना पसंद कर रहे हैं। मसलन पहले किसी ट्रेन के फेरे में 5 लाख तक की बिक्री होती थी तो अब वह घटकर महज 1.5 लाख रु. की रह गई है। IRCTC 19 राजधानी, 2 तेजस, 1 गतिमान, 1 वंदे भारत, 22 शताब्दी, 19 दूरंतो और 296 मेल-एक्सप्रेस ट्रेनों में कैटरिंग सर्विस देती है।