• Hindi News
  • National
  • Delhi Jafrabad Violence | AIMIM Asaduddin Owaisi On BJP Former MLA Kapil Mishra After Delhi Police Head Constable Ratan Lal among 5 killed in Delhi Jafrabad

प्रतिक्रिया / ओवैसी की पीएमओ से अपील- दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना की तैनाती हो, कहा- पुलिस हिंसा फैलाने वालों से मिली हुई

बेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी। -फाइल फोटो बेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी। -फाइल फोटो
X
बेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी। -फाइल फोटोबेंगलुरु में एक कार्यक्रम के दौरान हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी। -फाइल फोटो

  • गृह राज्यमंत्री रेड्डी ने कहा- कांग्रेस, राहुल गांधी और सीएए विरोधियों को दिल्ली हिंसा का जवाब देना चाहिए
  • राहुल ने लिखा- शांतिपूर्ण प्रदर्शन स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है, हिंसा को उचित नहीं ठहराया जा सकता है

दैनिक भास्कर

Feb 26, 2020, 10:49 AM IST

हैदराबाद. एआईएमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री कार्यालय से दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना को तैनात करने की मांग की। उन्होंने ट्वीट किया- उत्तर पूर्वी दिल्ली में स्थिति बदतर हो रही है। अगर प्रधानमंत्री कार्यालय शांति बहाल करना चाहता है तो इसे प्रभावित क्षेत्रों में सेना को तैनात करना होगा। जान-माल की रक्षा करनी है तो इसका एकमात्र रास्ता यही है। ओवैसी ने पुलिस पर ड्यूटी करने में विफल होने और हिंसा फैलाने वालों से मिले होने का आरोप लगाया।

पूर्वी दिल्ली से सांसद गौतम गंभीर ने उकसाने वाले बयान पर अपनी ही पार्टी के नेता कपिल मिश्रा के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। गंभीर ने कहा- इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि व्यक्ति कौन है, किस पार्टी से जुड़ा हुआ है। वो कपिल मिश्रा हो या कोई और, ऐसा भड़काऊ भाषण देने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। इसके बाद सोशल मीडिया पर गंभीर की ट्रोलिंग शुरू हो गई।

ओवैसी ने कहा- हिंसा के लिए भाजपा के नेता जिम्मेदार हैं

इससे पहले, ओवैसी ने कहा- दिल्ली में हुई हिंसा के लिए भाजपा के नेता जिम्मेदार हैं। उन्होंने केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी. किशन रेड्डी पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा- कब तक ये लोग मेरे नाम की मिठाई खाते रहेंगे। उन्हें (जी किशन रेड्डी) वापस दिल्ली जाना चाहिए। वे हैदराबाद में क्या कर रहे हैं? वे गृह राज्यमंत्री हैं। उन्हें वहां जाकर स्थिति को नियंत्रित करना चाहिए।

दरअसल, रेड्डी ने हैदराबाद में कहा था कि ट्रम्प के दौरे के समय हिंसा होना बड़ी साजिश की तरफ इशारा कर रहा है। गृह मंत्रालय लगातार हालात पर नजर बनाए हुए है। दोषियों को किसी भी हाल में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कांग्रेस-सीएए विरोधियों पर निशाना साधते हुए कहा था कि राहुल गांधी, ओवैसी और सीएए विरोधियों को इस पर जवाब देना चाहिए।
  

हिंसा को सही नहीं ठहराया जा सकता : राहुल गांधी

राहुल गांधी ने कहा- शांतिपूर्ण प्रदर्शन स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है। हिंसा को कभी भी उचित नहीं ठहराया जा सकता है। मैं दिल्ली के नागरिकों से आग्रह करता हूं कि वे इस वक्त संयम से काम लें। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया- दिल्ली में पूरा दिन हिंसा से भरा रहा। हिंसा से सिर्फ आम जनता और देश का नुकसान होता है। मैं सभी दिल्लीवासियों से शांति की अपील करती हूं। सोनिया गांधी ने कहा- जो शक्तियां देश पर अपनी सांप्रदायिक और विभाजनकारी विचारधारा को थोपना चाहती हैं, उनका यहां कोई स्थान नहीं है।

दिल्ली के मौजूदा हालात से चिंतित: केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी मंगलवार को ट्वीट कर लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। उन्होंने लिखा- मैं दिल्ली के मौजूदा हालात को लेकर चिंतित हूं। सभी मिलकर शांति स्थापित करने की कोशिश करें। दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट किया- तीन दशक से दिल्ली में हूं। अपने ही शहर में इतना डर कभी नही लगा। क्या हो गया है ये ? कौन लोग हैं, जो दिल्ली में आग लगा रहे हैं? बेहद दुखी और शर्मिंदा हूं। ये हमारी प्यारी दिल्ली है। देश की राजधानी है। इसे बचाना ही होगा। 

ओवैसी ने मोदी से कहा था-जिन सांपों को आपने पाला है, वहीं आपको काटेंगे

सोमवार को दिल्ली में हुई हिंसा के लिए एक पूर्व विधायक को दोषी ठहराया। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि जिन सांपों को आपने पाला है, वहीं आपको काटेंगे। ओवैसी हैदराबाद में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए), नेशनल पॉपुलेशन रजिस्टर (एनपीआर) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटीजंस (एनआरसी) के विरोध में आयोजित कार्यक्रम में शामिल हुए थे। इसके अलावा राहुल गांधी ने भी हिंसा को गलत ठहराया है। उन्होंने कहा कि शांतिपूर्ण प्रदर्शन स्वस्थ लोकतंत्र का प्रतीक है, लेकिन हिंसा सही नहीं। वहीं, केजरीवाल भी राजधानी के मौजूदा हालात को लेकर चिंतित हैं। उन्होंने लोगों से संयम बरतने की अपील की है। 

ओवैसी ने ट्वीट किया, ‘‘यह दंगा एक पूर्व विधायक और भाजपा नेता के उकसाने का परिणाम था। इसमें पुलिस के शामिल होने के भी स्पष्ट सबूत हैं। पूर्व विधायक को तुरंत गिरफ्तार किया जाना चाहिए। हिंसा को नियंत्रित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने चाहिए, नहीं तो यह और फैलेगी।’’ 

हालांकि, उन्होंने किसी नेता का नाम नहीं लिया। लेकिन, ओवैसी स्पष्ट रूप से भाजपा नेता कपिल मिश्रा को लेकर ये बातें कह रहे थे। क्योंकि कपिल मिश्रा ने जाफराबाद और चांद बाग में सड़कों को खाली कराने के लिए 3 दिन का अल्टीमेटम दिया था।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना