• Hindi News
  • International
  • Japan Shinzo Abe Death LIVE News | Former Japan PM Shinzo Abe Dead After Shooting In Japan Nara

जापान के पूर्व PM आबे की हत्या:इलेक्शन कैंपेन में पूर्व सैनिक ने पीछे से गोली मारी, 6 घंटे बाद निधन; भारत में राष्ट्रीय शोक

टोक्यो7 महीने पहले

जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे की शुक्रवार सुबह गोली मारकर हत्या कर दी गई। आबे नारा शहर में इलेक्शन कैंपेन के दौरान स्पीच दे रहे थे। 42 साल के हमलावर ने पीछे से फायरिंग की। आरोपी को मौके पर गिरफ्तार कर लिया गया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपी का नाम यामागामी तेत्सुया है और वो आबे की नीतियों से नाखुश था।

दो गोलियां लगने के फौरन बाद आबे गिर पड़े। उन्हें हेलिकॉप्टर से नारा मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल ले जाया गया। 6 घंटे तक मेडिकल टीम ने उन्हें बचाने की कोशिश की। इलाज के दौरान आबे को दिल का दौरा भी पड़ा। घटना भारतीय समयानुसार सुबह 8 बजे (जापान के समय के मुताबिक सुबह 11.30 बजे) की है। आबे की जान बचाने की कोशिश करने वाली मेडिकल टीम में शामिल एक डॉक्टर ने कहा- आबे को लगी एक गोली उनके दिल तक पहुंच गई थी।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आबे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। मोदी ने एक ट्वीट में कहा- भारत और जापान के रिश्तों और ग्लोबल पार्टनरशिप में आबे की अहम भूमिका रही।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आबे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया। मोदी ने एक ट्वीट में कहा- भारत और जापान के रिश्तों और ग्लोबल पार्टनरशिप में आबे की अहम भूमिका रही।

मोदी बोले- पूरा भारत शोक में डूबा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आबे के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। मोदी ने एक ट्वीट में कहा- भारत और जापान के रिश्तों और ग्लोबल पार्टनरशिप में आबे की अहम भूमिका रही। आज पूरे भारत में शोक है। इस मुश्किल वक्त में हम पूरी ताकत के साथ अपने जापानी भाई-बहनों के साथ खड़े हैं। उन्होंने शिंजो के सम्मान में कल यानी 9 जुलाई को एक दिन के राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी की।

PHOTOS में आबे का भारत प्रेम:जापानी PM रहते 9 साल में 4 बार भारत आए; वाराणसी में गंगा आरती की

मैप में जापान का नारा शहर, जहां आबे पर हमला किया गया।
मैप में जापान का नारा शहर, जहां आबे पर हमला किया गया।

आबे पर फायरिंग उस वक्त की गई, जब वे चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान फायरिंग की आवाज आई और आबे गिर पड़े। शुरुआती रिपोर्ट्स में कहा गया कि किसी ने उन्हें सीने पर गोली मारी। बाद में ये साफ हुआ कि उन पर पीछे से फायरिंग हुई।

हमले के बाद आबे सड़क पर गिर गए। उनके सीने पर खून देखा जा सकता था।
हमले के बाद आबे सड़क पर गिर गए। उनके सीने पर खून देखा जा सकता था।

हमलावर को गिरफ्तार किया गया
हमलावर यामागामी तेत्सुया को गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से गन बरामद हुई है। ये किसी टीवी कैमरे की तरह नजर आती है। जापानी मीडिया के मुताबिक हमलावर ने हैंडमेड गन का इस्तेमाल किया। वो मेरीटाइम सेल्फ डिफेंस फोर्स का मेंबर था।

शिंजो आबे पर हमला कैमरे जैसी गन से किया:हमलावर ने हैंडमेड गन से 2 फायर किए, सभा में पत्रकार बनकर पहुंचा था

आबे का इलाज नारा मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में चल रहा था। यहां उन्हें हेलिकॉप्टर से लाया गया।
आबे का इलाज नारा मेडिकल यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल में चल रहा था। यहां उन्हें हेलिकॉप्टर से लाया गया।

दिल का दौरा भी पड़ा
जापानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गोली लगने के बाद शिंजो को दिल का दौरा भी पड़ा। हालांकि अभी इसके बारे में आधिकारिक बयान नहीं आया है। चश्मदीदों के मुताबिक मौके पर गोली चलने की आवाज सुनाई दी और आबे के शरीर से खून बहता दिखा।

स‌ड़क पर सभा कर रहे थे, हमले के बाद धुंआ दिखाई दिया
जापान में रविवार को उच्च सदन के चुनाव होने हैं। शिंजो इसके लिए कैंपेनिंग कर रहे थे। सड़क पर एक छोटी सी सभा थी, जिसमें 100 से ज्यादा लोग शामिल थे। जब आबे भाषण देने आए तो पीछे से एक हमलावर ने गोली चलाई। जो वीडियो सामने आया है, उसमें हमले के बाद धुंआ दिखाई दिया। इसके बाद अफरा-तफरी मच गई।

जापान में चुनाव:जनता महंगाई से त्रस्त, घर का बजट बनाने वाली महिलाएं नहीं कर रहीं शॉपिंग

10 PHOTOS में शिंजो आबे का जीवन:जापान के सबसे युवा PM बने, पिता विदेश मंत्री और नाना प्रधानमंत्री रहे

हमले के बाद सभा में अफरा-तफरी मच गई। आबे को लोग हाथों में उठाकर अस्पताल ले गए।
हमले के बाद सभा में अफरा-तफरी मच गई। आबे को लोग हाथों में उठाकर अस्पताल ले गए।

जापान में गन लाइसेंस हासिल करना बेहद मुश्किल
जापान में गन कंट्रोल लॉ बेहद सख्त है। करीब 13 करोड़ की आबादी वाले इस देश में फायरिंग से जान गंवाने वालों का आंकड़ा सिंगल डिजिट में ही रहता है। गन लाइसेंस सिर्फ जापान के लोगों को मिल सकता है। वो भी उन्हें जो किसी शूटिंग एसोसिएशन के मेंबर हों। इनको भी लाइसेंस जारी करने से पहले बेहद बारीकी से जांच पड़ताल होती है।

फोटो उस वक्त की है जब आबे को गोली लगी थी। वे वहीं सड़क पर गिर पड़े। लोग उन्हें फौरन अस्पताल ले गए।
फोटो उस वक्त की है जब आबे को गोली लगी थी। वे वहीं सड़क पर गिर पड़े। लोग उन्हें फौरन अस्पताल ले गए।
यह फोटो नारा सिटी में यामातोसैदाईजी स्टेशन के पास एक चौराहे की है। यहीं आबे सभा कर रहे थे।
यह फोटो नारा सिटी में यामातोसैदाईजी स्टेशन के पास एक चौराहे की है। यहीं आबे सभा कर रहे थे।

हमले के बाद हमलावर ने भागने की कोशिश की
शिंजो आबे पर हमला करने के बाद हमलावर ने भागने की कोशिश की, लेकिन मौके पर मौजूद सुरक्षा कर्मियों ने उसे पकड़ लिया। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

यह फोटो हमलावर (ग्रे टीशर्ट में) की है। उसे फायरिंग के बाद सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया। हमलावर की उम्र 42 साल बताई जा रही है।
यह फोटो हमलावर (ग्रे टीशर्ट में) की है। उसे फायरिंग के बाद सुरक्षा बलों ने गिरफ्तार कर लिया। हमलावर की उम्र 42 साल बताई जा रही है।

शिंजो जापान के सबसे लंबे समय तक PM रहे, दो टर्म में करीब 9 साल
67 साल के ​​​​​​शिंजो लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (LDP) से जुड़े हैं। 2006-07 के दौरान प्रधानमंत्री रहे। इसके बाद 2012 से 2020 तक 8 साल तक प्रधानमंत्री रहे। उनके नाम सबसे लंबे समय (9 साल) तक PM पद पर रहने का रिकॉर्ड है। इससे पहले यह रिकॉर्ड उनके चाचा इसाकु सैतो के नाम था।

आबे को एक आक्रामक नेता माना जाता है। शिंजो को आंत से जुड़ी बीमारी अल्सरट्रेटिव कोलाइटिस थी। इसी वजह से उन्हें 2007 में प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था।

मोदी के खास दोस्त हैं आबे, पद्म विभूषण से नवाजा गया
मोदी के साथ आबे के अच्छे संबंध रहे। उनकी गुजरात और बनारस यात्रा काफी चर्चित रही। 25 जनवरी 2021 को भारत ने आबे को पद्म विभूषण से सम्मानित किया था।

मोदी और आबे की यह फोटो दिसंबर 2015 की है। भारत के दौरे के वक्त वे वाराणसी भी गए थे। यहां उन्होंने गंगा आरती भी की थी।
मोदी और आबे की यह फोटो दिसंबर 2015 की है। भारत के दौरे के वक्त वे वाराणसी भी गए थे। यहां उन्होंने गंगा आरती भी की थी।
यह फोटो सितंबर 2017 की है। भारत के दौरे पर पहुंचे जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को प्रधानमंत्री मोदी अहमदाबाद के साबरमती आश्रम ले गए थे।
यह फोटो सितंबर 2017 की है। भारत के दौरे पर पहुंचे जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे को प्रधानमंत्री मोदी अहमदाबाद के साबरमती आश्रम ले गए थे।