• Hindi News
  • National
  • Gaay Janwar Nahi Maa Hai; Gujarat Tapi Court On Cow Smuggling Case Hearing

गुजरात की कोर्ट ने कहा- गाय जानवर नहीं मां है:गोहत्या बंद हो जाए तो धरती की सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी

अहमदाबाद5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कॉन्सेंप्ट इमेज। - Dainik Bhaskar
कॉन्सेंप्ट इमेज।

गुजरात की एक अदालत ने कहा कि गाय केवल एक जानवर नहीं है, बल्कि मां है। गोहत्या बंद कर दी जाए तो धरती की सारी समस्याएं (जलवायु परिवर्तन) खत्म हो जाएंगी। अगर गाय दुखी होगी तो हमारा धन और संपत्ति खत्म हो जाएगी।

उसके गोबर का इस्तेमाल कर बनाए घरों पर एटॉमिक रेडिएशन का भी असर नहीं होता। वहीं, गोमूत्र से कई लाइलाज बीमारियों का इलाज भी होता है। गो तस्करी के एक मामले पर सुनवाई करते हुए तापी जिला कोर्ट ने यह बात कही।

गो-तस्करी के मामले पर सुनवाई कर रही थी कोर्ट
लाइव लॉ की रिपोर्ट के मुताबिक तापी जिले के सेशन जज एसवी व्यास की अध्यक्षता वाली बेंच गो तस्करी से जुड़े केस पर सुनवाई कर रही थी। अगस्त 2022 में मोहम्मद आमीन आरिफ अंजुम को 16 गायों की तस्करी के आरोप में गिरफ्तार किया था। कोर्ट ने आमीन को आजीवन कारावास और 5 लाख का जुर्माना लगाया है।

गाय दुखी हुई तो धन-संपत्ति खत्म हो जाएगी
इस दौरान जज एसवी व्यास ने कहा कि गाय केवल एक जानवर नहीं है, बल्कि मां है। गाय 68 करोड़ पवित्र स्थानों और 33 करोड़ देवताओं का ग्रह है। अगर गाय दुखी होगी तो हमारा धन और संपत्ति खत्म हो जाएगी।

उन्होंने जलवायु परिवर्तन को भी गो हत्या से जोड़ा। एसवी व्यास ने कहा कि अगर गो हत्या बंद हो जाए तो धरती की सारी समस्याएं खत्म हो जाएंगी। जब तक गो हत्या को पूरी तरह से बंद नहीं किया जाता तब तक जलवायु परिवर्तन से राहत नहीं मिलेगी।

गोमूत्र से लाइलाज बीमारियों का इलाज होता है
गाय हमारे लिए बहुत उपयोगी है, गाय के गोबर का इस्तेमाल कर बनाए घरों पर एटॉमिक रेडिएशन का भी असर नहीं होता है। गो-मूत्र से कई लाइलाज बीमारियों का इलाज होता है।