मुजफ्फरपुर बालिका गृह से छुड़ाई गई लड़की से चलती कार में गैंगरेप, 4 पर केस

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • पीड़िता पड़ोस में एक परिचित के घर जा रही थी, तभी आरोपियों ने उसे कार में बैठा लिया
  • पुलिस ने लड़की के बयान के आधार पर केस दर्ज किया, मेडिकल रिपोर्ट आना बाकी

बेतिया. बिहार के चम्पारण में एक लड़की के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर चार लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है। फिलहाल, पीड़िता को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बताया जा रहा है कि जिस लड़की के साथ घटना हुई, वह पिछले साल मुजफ्फरपुर के बालिका गृह (शेल्टर होम) से छुड़ाई गई थी।
 
पीड़िता ने अपनी शिकायत में पुलिस को बताया कि वह शुक्रवार रात पड़ोस में एक परिचित के घर जा रही थी। इसी दौरान कार सवार चार युवकों ने उसे जबरन गाड़ी में बैठा लिया। सभी लड़के चेहरा ढंके हुए थे। इसके बाद उन्होंने चलती गाड़ी में दुष्कर्म किया। फिर वे उसे नहर के पास सूनसान इलाके में ले गए और वहां भी ज्यादती की। इसके बाद आरोपी उसे वहीं छोड़कर फरार हो गए।
 

पीड़िता ने नकाब खींचकर आरोपियों को पहचाना
वारदात के दौरान पीड़िता ने किसी तरह लड़कों के चेहरे से नाकाब खींचकर उन्हें पहचान लिया। पुलिस का कहना है कि लड़की को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। अभी मेडिकल रिपोर्ट आना बाकी है। उसके बयान के आधार पर चार आरोपियों के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की गई। आरोपियों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं।
 

2018 में शेल्टर होम में ज्यादती का खुलासा हुआ था
पिछले साल टाटा इंस्टीट्यूट ऑफ सोशल साइंसेस की रिपोर्ट में मुजफ्फरपुर स्थित बालिका गृह में लड़कियों के साथ ज्यादती का खुलासा हुआ था। यहां करीब 34 लड़कियों के शोषण का मामला सामने आने पर इसकी जांच सीबीआई को सौंपी गई थी। राज्य सरकार ने लड़कियों को छुड़ाकर शेल्टर होम और कुछ को घर भेज दिया था। यह शेल्टर होम बृजेश ठाकुर चलाता था। पिछले साल 31 मई को ठाकुर समेत 11 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई थी।
 


 

खबरें और भी हैं...