• Hindi News
  • National
  • Gautam Adani Priti Adani Not Interested In Politics Adani Group Issued An Official Statement News

राजनीति में नहीं जाएंगे गौतम अडानी:राज्यसभा भेजे जाने की खबरों पर ग्रुप की सफाई- गौतम अडानी को पॉलिटिक्स में दिलचस्पी नहीं

12 दिन पहले

गौतम अडानी को राज्यसभा भेजे जाने की खबरों पर अडानी ग्रुप ने सफाई दी है। ग्रुप ने कहा कि अडानी फैमिली को पॉलिटिक्स में इंटरेस्ट नहीं है। ग्रुप ने यह ऑफिशियल बयान शनिवार देर रात जारी किया।

अडानी ग्रुप को क्यों जारी करना पड़ा बयान
राज्यसभा में खाली सीटों पर चुनाव का ऐलान होते ही कई रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया कि अडानी ग्रुप के मालिक गौतम अडानी या फिर उनकी पत्नी प्रीति अडानी को किसी राजनीतिक दल से राज्यसभा भेजा जा सकता है। इसके बाद अडानी ग्रुप को इस बारे में सफाई पेश करनी पड़ी।

शनिवार रात को अडानी ग्रुप ने ऑफिशियल बयान जारी कर कहा कि अपने फायदे के लिए लोग अडानी परिवार का नाम घसीट रहे हैं।
शनिवार रात को अडानी ग्रुप ने ऑफिशियल बयान जारी कर कहा कि अपने फायदे के लिए लोग अडानी परिवार का नाम घसीट रहे हैं।

अडानी ग्रुप ने बयान में लिखा- अपने फायदे के लिए नाम खराब कर रहे
सोशल मीडिया पर अडानी ग्रुप ने लिखा- हम उन खबरों से वाकिफ हैं, जिनमें कहा जा रहा है कि गौतम अडानी या डॉ. प्रीति अडानी को राज्यसभा की सीट दी जाएगी। ये गलत खबरें हैं। जब-जब राज्यसभा में कोई सीट खाली होती है तो ऐसी खबरें आने लगती हैं। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ लोग अपने फायदे के लिए हमारा नाम अपनी रिपोर्ट्स में घसीट रहे हैं। गौतम अडानी, प्रीति अडानी और अडानी परिवार के किसी भी सदस्य को राजनीतिक करियर या फिर किसी भी राजनीतिक दल में शामिल होने में कोई दिलचस्पी नहीं है।

रिपोर्ट्स में दावा- आंध्र से राज्यसभा भेजे जा सकते हैं अडानी
पिछले दिनों आई रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि जून में खाली होने वाली आंध्र प्रदेश की 4 राज्यसभा सीटों के लिए लॉबिंग तेज हो गई है। 21 जून को वी विजयसाई रेड्डी, टीडी वेंकटेश, वाईएस चौधरी और सुरेश प्रभु रिटायर हो रहे हैं। इनकी सीटों के लिए 6 नाम सबसे आगे हैं। इसमें अडानी परिवार के सदस्य भी शामिल हैं।

रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया गया था कि ग्रुप की तरफ से ऐसी कोई रिक्वेस्ट की जाती है तो आंध्र के सीएम जगन मोहन रेड्डी अडानी को राज्यसभा भेजने पर विचार कर सकते हैं।

राज्यसभा की 57 सीटों के लिए वोटिंग 10 जून को
15 राज्यों की 57 राज्यसभा सीटों के लिए 10 जून को चुनाव होंगे। इन सभी सीटों के सांसदों का कार्यकाल जून से अगस्त के बीच पूरा हो रहा है। BJP की नजर राज्यसभा में भी बहुमत हासिल करने पर है। 245 सीटों में से भाजपा के पास 101 सीटें हैं। चुनाव के बाद इनकी संख्या और बढ़ेगी।