गोवा / आईएनएस हंसा पर उतर रहे यात्री विमान का अगला लैंडिंग गियर नहीं खुला, नौसेना ने सुरक्षित उतारा

'डबोलिम' एयरपोर्ट नौसेना के बेस आईएनएस हंसा से संचालित होता है। - फाइल 'डबोलिम' एयरपोर्ट नौसेना के बेस आईएनएस हंसा से संचालित होता है। - फाइल
X
'डबोलिम' एयरपोर्ट नौसेना के बेस आईएनएस हंसा से संचालित होता है। - फाइल'डबोलिम' एयरपोर्ट नौसेना के बेस आईएनएस हंसा से संचालित होता है। - फाइल

  • सूरत से गोवा जाने वाली स्पाइसजेट की फ्लाइट संख्या 'एसजी-3568' का अगला लैंडिंग गियर नहीं खुला था
  • सतर्क नौसेना अधिकारियों ने विमान को उतरने से रोका, वापस हवा में भेजा, तीसरी कोशिश में लैंडिंग हुई

दैनिक भास्कर

Dec 17, 2019, 06:33 PM IST

पणजी. गोवा में रविवार को आईएनएस हंसा पर नौसेना के रनवे कंट्रोलर और एयर ट्रैफिक कंट्रोल अधिकारी सतर्कता से एक बड़ा हादसा टल गया। स्पाइसजेट की फ्लाइट संख्या 'एसजी-3568' को रनवे पर उतरने के लिए अंतिम अनुमति दी जा चुकी थी। तभी, नौसेना के अधिकारियों ने देखा कि विमान का अगला लैंडिंग गियर (पहिया) नहीं खुला था। इसके बाद विमान को न उतरने का निर्देश दिया गया और अधिकारियों ने विमान को हवा में चक्कर लगाने को कहा। आखिरकार, तीसरी बार में विमान की लैंडिंग कराई जा सकी।

नौसेना के अधिकारियों के मुताबिक, स्पाइस जेट की फ्लाइट सूरत से गोवा आ रही थी। दक्षिण गोवा के वास्को में डबोलिम हवाई अड्डे पर तैनात रनवे कंट्रोलर रमेश तिग्गा और एक एयर हैंडलर ने विमान के लैंडिंग गियर न खुलने पर सबसे पहले ध्यान दिया। उन्होंने तुरंत एयर ट्रैफिक कंट्रोल (एटीसी) टॉवर को इसकी सूचना दी। ड्यूटी पर तैनात एटीसी लेफ्टिनेंट कमांडर हरमीत कौर ने तुरंत विमान को नीचे उतारने की जगह वापस हवा में उठाने को कहा। इसके बाद विमान को हवा में एक चक्कर लगवाया गया, ताकि खराबी से निपटने के लिए विमान के चालक दल को समय मिल सके।

तीसरी कोशिश में उतारा गया विमान

दूसरी बार कोशिश करने पर भी विमान के लैंडिंग गियर नहीं खुले। सतर्क नौसेना अधिकारियों ने एक बार फिर विमान को हवा में ले जाने को कहा। आखिरकार तीसरी कोशिश में विमान का लैंडिंग गियर आंशिक तौर पर खुल पाया। एयरपोर्ट पर फुल इमरजेंसी घोषित कर विमान को उतारा गया।

इमरजेंसी एंड सेफ्टी सर्विस तैनात थी

नौसेना की तरफ से जारी बयान में कहा गया- नौसेना अधिकारियों की सतर्कता के चलते सुबह 8 विमान को सुरक्षित रूप से उतार लिया गया। इमरजेंसी एंड सेफ्टी सर्विस को पूरी तरह से विमान की सहायता और मार्गदर्शन के लिए तैयार रखा गया था। सभी यात्री भी सुरक्षित हैं। हालांकि यात्रियों की संख्या के बारे में जानकारी नहीं दी गई है।

आईएनएस हंसा से संचालित होता है गोवा एयरपोर्ट

गोवा का एकमात्र हवाई अड्डा 'डबोलिम' नौसेना के सैन्य बेस आईएनएस हंसा से संचालित होता है। इस पर सैन्य और नागरिक दोनों ही तरह के विमान संचालित किए जाते हैं।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना