• Hindi News
  • National
  • Utpal Parrikar; Goa Election 2022 Update | Former CM Manohar Parrikar Son Utpal Parrikar Quits BJP

पर्रिकर के बेटे ने की भाजपा से बगावत:पणजी से टिकट नहीं मिला तो उत्पल ने BJP छोड़ी, निर्दलीय लड़ेंगे; कहा- मुझे जनता का सपोर्ट

पणजी5 महीने पहले

पणजी से टिकट न मिलने से नाराज चल रहे गोवा के पूर्व CM मनोहर पर्रिकर के बेटे उत्पल ने BJP छोड़ दी है। मनोहर पर्रिकर भी इसी सीट से चुनाव लड़ा करते थे। गुरुवार को BJP ने विधानसभा चुनाव लिए 34 कैंडिडेट्स की लिस्ट जारी की, लेकिन इसमें उत्पल का नाम नहीं था। पार्टी ने यहां से बाबुश मोनसेराटे को टिकट दिया है, जो हमेशा मनोहर पर्रिकर के विरोधी रहे थे।

इसके बाद से ही उत्पल के BJP छोड़ने की अटकलें थीं। शुक्रवार को उन्होंने साफ कर दिया कि वे पणजी सीट से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि पणजी की जनता का उन्हें सपोर्ट है और वही उनके भाग्य का फैसला करे। उत्पल बोले की भाजपा को पिछले और इस चुनाव में समझाया था कि कार्यकर्ता और लोगों, दोनों का सपोर्ट है पर टिकट नहीं मिला।

उत्पल बोले- अब आगे बढ़ना चाहता हूं
उत्पल ने कहा कि मैंने पिछले और इस चुनाव के दौरान अपनी पार्टी को यह समझाने की पूरी कोशिश की कि मुझे न केवल पार्टी के सभी सदस्यों का, बल्कि पणजी के लोगों का भी समर्थन हासिल है। इसके बावजूद मैं पणजी से उम्मीदवारी नहीं कर पा रहा हूं। यहां से किसी ऐसे व्यक्ति को टिकट दिया गया है, जो पिछले 2 साल में पार्टी में आया है। इसलिए मैं आगे बढ़ना चाहता हूं और पणजी के लोगों को मेरे राजनीतिक भाग्य का फैसला करने देना चाहता हूं।

केजरीवाल ने दिया था पणजी से चुनाव लड़ने का ऑफर
भाजपा की लिस्ट जारी होते ही आम आदमी पार्टी ने उत्पल पर्रिकर को अपने टिकट पर पणजी से लड़ने का ऑफर दिया था। अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट किया कि गोवा की जनता भाजपा की यूज एंड थ्रो पॉलिसी से दुखी है। पर्रिकर परिवार के साथ भी उन्होंने ऐसा ही किया। मैंने हमेशा मनोहर पर्रिकरजी का सम्मान किया है। अगर उत्पल जी AAP जॉइन करते हैं तो उनका स्वागत है और वे हमारी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ सकते हैं।

BJP ने दो सीटें की थीं ऑफर
उत्पल पर्रिकर पहले ही यह बात कह चुके थे कि वे पिता की सीट पणजी से चुनाव लड़ना चाहते हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्पल को भाजपा ने दो अन्य जगहों से चुनाव लड़ने का ऑफर दिया था, पर उन्होंने इसे ठुकरा दिया। भाजपा की लिस्ट जारी होने के बाद उत्पल ने अपना स्टैंड जल्द क्लियर करने की बात कही थी।

मनोहर पर्रिकर गोवा में BJP का सबसे बड़ा चेहरा थे। वे 4 बार यहां के मुख्यमंत्री भी रहे। 2019 में कैंसर से उनका निधन हो गया था।
मनोहर पर्रिकर गोवा में BJP का सबसे बड़ा चेहरा थे। वे 4 बार यहां के मुख्यमंत्री भी रहे। 2019 में कैंसर से उनका निधन हो गया था।

उत्पल का जाना BJP के लिए बड़ा झटका
मनोहर पर्रिकर गोवा में BJP के सबसे बड़े नेता हुआ करते थे। वे यहां के लोकप्रिय मुख्यमंत्री भी रहे। बाद में मोदी सरकार में उन्हें रक्षा मंत्री बनाया गया। ऐसे में उनके बेटे का चुनाव से पहले पार्टी छोड़ना BJP को नुकसान पहुंचा सकता है। हालांकि पार्टी को उनके जाने की उम्मीद नहीं थी।

महाराष्ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फडणवीस ने कहा था कि हमें लगा था कि उत्पल हमारा ऑफर स्वीकार कर लेंगे। भाजपा ने हमेशा ही मनोहर पर्रिकर जी के परिवार को सम्मान दिया है। उम्मीद है कि कोई विद्रोह नहीं होगा।

2027 में बेहतर तरीके से लॉन्च करने की बात कही थी
भाजपा सूत्रों के मुताबिक, पार्टी ने सीटों के ऑप्शन के अलावा उत्पल से यह भी कहा था कि अगर वे चुनाव हारते हैं तो भी उन्हें संगठन में पद दिया जाएगा। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, हमने उनके साथ अगले 5 साल के लिए बड़ी योजना बनाई थी। उन्हें 2027 में बेहतर तरीके से लॉन्च करने की बात कही थी।