• Hindi News
  • National
  • Gandhiji asked people to adopt morality, but here man gets mad after being elected as a lawmaker: Satyapal Malik

गोवा / गांधीजी ने नैतिकता अपनाने का संदेश दिया, लेकिन लोग विधायक बनने के बाद पागल हो जाते हैं: सत्यपाल मलिक

गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक। (फाइल) गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक। (फाइल)
X
गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक। (फाइल)गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक। (फाइल)

  • गोवा के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने गांधीजी के 150वें जयंती वर्ष पर आयोजित कार्यक्रम में यह बयान दिया
  • मलिक ने कहा- लोहियाजी मानते थे कि गोडसे ने सिर्फ उनके शरीर को मारा, लेकिन उनके वारिसों ने उनकी आत्मा मार दी

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 09:42 AM IST

पणजी. गोवा के राज्यपाल सत्यापाल मलिक ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को राजनीति में नैतिकता लाने का श्रेय दिया। राजभवन की ओर से गांधीजी के 150वें जयंती वर्ष पर आयोजित कार्यक्रम में मलिक ने सत्ता में लालच और ताकत की चाहत का उदाहरण दिया। उन्होंने कहा कि गांधीजी ने सभी से सार्वजनिक जीवन में नैतिकता अपनाने का आग्रह किया था, लेकिन आज तो इंसान विधायक बनने के बाद पागल हो जाता है।

मलिक ने गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि गांधीजी के राजनीतिक वारिसों ने ही उनके गुणों को भुला दिया। हमने गांधीजी को राममनोहर लोहिया की दृष्टि से जाना। लोहिया मानते थे कि नाथूराम गोडसे ने सिर्फ गांधीजी के भौतिक रूप को मारा है। लेकिन उनके राजनीतिक वारिसों ने तो गांधीजी की आत्मा ही मार दी। उन्होंने गांधीजी के गुणों के स्तर को सिर्फ एक चरखे तक सीमित कर दिया। बापू में कोई अभिमान नहीं था। वे सरलता के साथ जीने वाले आदमी थे। आज भारत में कोई विधायक बनता है तो पागल हो जाता है। उन्हें गांधीजी से सीखना चाहिए।

मलिक ने 3 नवंबर को गोवा के राज्यपाल पद की शपथ ली

सत्यपाल मलिक को 25 अक्टूबर को कश्मीर से हटाकर गोवा का राज्यपाल बनाया गया था। उन्होंने 3 नवंबर को शपथ ली। हाल ही में उन्होंने एक कार्यक्रम के दौरान जम्मू-कश्मीर में अपने समय को याद करते हुए कहा था कि पुरानी यादें अब तक दिल से नहीं गईं। मैं कश्मीर से कुछ दिन पहले ही गोवा आया हूं। मेरी कश्मीर की खुमारी अब तक कम नहीं हुई है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना