दिल्ली / प्रदूषण बदतर स्तर पर, लोगों से घरों की खिड़कियां बंद रखने को कहा गया

Dainik Bhaskar

Oct 27, 2018, 10:07 PM IST


एक अफसर के मुताबिक- पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने के एक दिन बाद ही दिल्ली में असर दिख जाता है। (फाइल) एक अफसर के मुताबिक- पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने के एक दिन बाद ही दिल्ली में असर दिख जाता है। (फाइल)
X
एक अफसर के मुताबिक- पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने के एक दिन बाद ही दिल्ली में असर दिख जाता है। (फाइल)एक अफसर के मुताबिक- पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने के एक दिन बाद ही दिल्ली में असर दिख जाता है। (फाइल)

  • दिल्ली के 8 इलाकों में प्रदूषण का स्तर खतरनाक दर्ज किया गया
  • रिपोर्ट में दिल्ली के 32% प्रदूषण के लिए पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने को जिम्मेदार बताया गया

नई दिल्ली. सर्दी के दस्तक देते ही दिल्ली में प्रदूषण बढ़ने लगा है। सरकारी संस्थाओं ने लोगों को ताकीद दी है कि वे घरों की खिड़कियां बंद रखें और निजी वाहनों का इस्तेमाल कम से कम करें। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड और सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने अलग-अलग एडवायजरी जारी की है जिसमें दिल्ली की एयर क्वालिटी को काफी खराब बताया गया है। वहीं, दिल्ली के 32% प्रदूषण के लिए पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने को जिम्मेदार बताया गया है।

दिल्ली से सटे इलाकों में भी खासा प्रदूषण

  1. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने शनिवार को बताया- राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के गाजियाबाद में प्रदूषण स्तर खतरनाक (सीवियर) पाया गया। वहीं, गुड़गांव, फरीदबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में एयर क्वालिटी बहुत खराब पाई गई।

  2. शनिवार को दिल्ली के 8 इलाकों आनंद विहार, द्वारका सेक्टर-8, नरेला, पंजाबी बाग, बवाना, मुंडका, विवेक विहार और रोहिणी में एयर क्वालिटी का खतरनाक स्तर दर्ज किया गया। 

    Delhi

  3. केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड की टास्क फोर्स ने लोगों से अपील की कि जरूरी न हो तो घर से बाहर न निकलें और निजी वाहनों का इस्तेमाल न करें। ताकि जहरीली हवा के उत्सर्जन में कटौती की जा सके। टास्क फोर्स ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई एन्वायरमेंट पॉल्यूशन कंट्रोल अथॉरिटी को भी प्रदूषण से निपटने के लिए निर्देश दिए।

  4. कंस्ट्रक्शन का काम बंद करने की अपील

    टास्क फोर्स ने सभी तरह के निर्माण कार्य मसलन खुदाई, सिविल कंस्ट्रक्शन (बिल्डिंगों का बनना), स्टोन क्रशर और धूल का प्रदूषण बढ़ाने के जिम्मेदार हॉट मिक्स प्लांटों को 1 से 10 नवंबर तक बंद रखने की भी अपील की।

  5. प्रदूषण कम करने के उपायों में कहा गया है कि चार से 10 नवंबर तक कोयले और बायोमास आधारित फैक्ट्रियां बंद रखी जाएं। यातायात विभाग को निर्देश दिए गए हैं कि वे 1-10 नवंबर तक दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में प्रदूषण फैलाने वाले वाहनों की गहनता से जांच करें।

  6. टास्क फोर्स ने एनसीआर के इलाकों में बिना किसी बाधा के बिजली सप्लाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं। ताकि बिजली न आने पर डीजल जेनरेटर चलाने की नौबत न आए और प्रदूषण को बढ़ने से रोका जा सके।

  7. दिल्ली में प्रदूषण की पराली जलाना

    सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी फोरकास्टिंग एंड रिसर्च ने दिल्ली के 32% प्रदूषण के लिए पंजाब और हरियाणा में पराली जलाने को जिम्मेदार बताया है। दिल्ली में पीएम2.5 (हवा में 2.5 माइक्रोमीटर से कम के कण) का बढ़ा स्तर दिखाता हैं कि 11 अक्टूबर से पराली जलाने में 36% का इजाफा हुआ। पीएम2.5 बहुत छोटे कण होते हैं और सांस के जरिए आसानी से शरीर के अंदर चले जाते हैं।

    Punjab

  8. एक अफसर के मुताबिक- गुरुवार और शुक्रवार को पंजाब और हरियाणा में ज्यादा पराली जलाई गई। इसके चलते हवा में पीएम2.5 कणों का इजाफा हुआ। पंजाब-हरियाणा में पराली जलाने के एक दिन बाद ही दिल्ली में इसका असर दिख जाता है।

    punjab

  9. रिपोर्ट के मुताबिक- 2010 से दिल्ली में प्रदूषण बढ़ाने के अलग-अलग कारण जिम्मेदार रहे हैं। बीते आठ सालों में राष्ट्रीय राजधानी में ट्रांसपोर्ट के उत्सर्जन में 41% का इजाफा हुआ।  

COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543