विरोध / गुजरात से रोज 1500 किलो टमाटर पाकिस्तान एक्सपोर्ट होते थे, व्यापारी अब नहीं भेजेंगे



gujarat businessmen and farmer decide not to export tomatto to pakistan
X
gujarat businessmen and farmer decide not to export tomatto to pakistan

  • पुलवामा हमले के बाद किसान और व्यापारियों ने एक्सपोर्ट नहीं करने का लिया निर्णय 
  • कपराडा इलाके से अहमदाबाद और मुंबई के जरिए पाकिस्तान भेजे जाते थे टमाटर

Feb 27, 2019, 08:35 AM IST

वापी (गुजरात). पुलवामा हमले के बाद भारत ने अलग-अलग तौर पर पाकिस्तान का विरोध करना शुरू किया है। इसमें व्यापारी और किसान भी खुलकर सामने आ रहे हैं। किसान और व्यापारियों ने पाकिस्तान में टमाटर भेजना बंद कर दिया है। गुजरात के वलसाड जिले के कपराडा तालुका में हर दिन लगभग 18 टन टमाटर का उत्पादन होता है। इसमें से अहमदाबाद और महाराष्ट्र के जरिए 1500 किलो टमाटर पाकिस्तान भेजा जाता था। इसे अब बंद कर दिया गया है।

कुल 3600 किलो टमाटर होता है एक्सपोर्ट

  1. वलसाड जिले के कपराडा तालुका के गांवों में अधिकांश किसान सब्जी व्यवसाय से जुड़े हुए हैं। विशेष तौर पर लोकर, आम, जंगल, पीपलखेड, मारवड, वाववेडी सहित अन्य गांवों में टमाटर का सबसे ज्यादा उत्पादन होता है।

  2. कपराडा से लेकर नासिक बोर्ड-2 तक के गांवों में टमाटर का अच्छा-खासा उत्पादन होता है। लगभग 16326 किलो टमाटर के उत्पादन से 60 फीसदी माल वलसाड तथा आसपास के विस्तारों में बेचा जाता है। करीब 3600 किलो माल महाराष्ट्र और अहमदाबाद के जरिए अन्य देशों में भेजा जाता है।

  3. स्थानीय व्यापारियों के मुताबिक पुलवामा आतंकी घटना में 40 से अधिक जवान शहीद होने के बाद किसान और व्यापारियों में आक्रोश के चलते पाकिस्तान जाने वाला टमाटर रोक दिया गया है।

  4. मध्यप्रदेश के किसान पहले ही रोक चुके हैं पाक जाने वाला टमाटर

    प्रदेश के किसानों ने पिछले दिनों कहा था कि चाहे हमारे टमाटर सड़ जाएं या उन्हें फेंकना पड़े, लेकिन आतंकियों को पालने वाले देश में नहीं भेजेंगे। किसानों ने कहा था कि पाकिस्तान में हमारे यहां का टमाटर 200 से 250 रुपए किलो तक भी बिका है। इससे बड़ी बात और क्या होगी, लेकिन अब दुश्मन देश को सप्लाई नहीं भेजेंगे, भले ही घाटा सह लेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना