गुजरात / राज्यसभा उपचुनाव के चलते कांग्रेस ने अपने विधायकों को माउंट आबू भेजा



Gujarat Cong to shift MLAs to Mount Abu ahead of RS bypolls
X
Gujarat Cong to shift MLAs to Mount Abu ahead of RS bypolls

  • अमित शाह-स्मृति ईरानी के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद गुजरात में राज्यसभा की 2 सीटें खाली हुईं, यहां 5 जुलाई को अलग-अलग मतदान
  • कांग्रेस का कहना है कि विधायक हिल स्टेशन पर विधानसभा में आगामी बजट सत्र के मद्देनजर रणनीति तैयार करेंगे

Dainik Bhaskar

Jul 03, 2019, 10:53 PM IST

गांधीनगर. गुजरात की दो राज्यसभा सीटों पर 5 जुलाई को होने वाले उपचुनाव को देखते हुए कांग्रेस ने बुधवार को अपने विधायकों को माउंट आबू भेज दिया। हालांकि, पार्टी का कहना है कि सभी विधायक राजस्थान के प्रसिद्ध हिल स्टेशन पर मंथन सत्र में हिस्सा लेंगे। यहां विधानसभा में आगामी बजट सत्र के मद्देनजर रणनीति भी तैयार की जाएगी। पार्टी सूत्रों के मुताबिक, 5 जुलाई की सुबह तक सभी विधायक यहीं रुकेंगे।

 

विधानसभा में कांग्रेस व्हिप प्रमुख अश्विन कोटवाल ने बताया कि विधायकों के इस दौरे का राज्यसभा उपचुनाव से कोई लेना देना नहीं। हालांकि, कांग्रेस विधायक धवलसिंह जाला का कहना है कि पार्टी को उपचुनाव में क्रॉस वोटिंग का डर है। जाला कांग्रेस से हाल ही में इस्तीफा देने वाले विधायक अल्पेश ठाकोर के समर्थक हैं।

 

जाला और ठाकोर ने विधायकों को गुजरात से बाहर भेजने के इस फैसले की आलोचना की। उन्होंने कहा कि वे अन्य विधायकों के साथ हिल स्टेशन नहीं जाएंगे। इससे पहले कांग्रेस ने 2017 में राज्यसभा चुनाव में 44 विधायकों को बेंगलुरु भेज दिया था। 

 

पार्टी के एक या दो विधायक कर सकते हैं क्रॉस वोटिंग

कोटवाल ने कहा, डर और दबाव का कोई सवाल नहीं है। सोमवार तक विधानसभा नहीं चलनी थी, इसलिए सभी विधायकों ने माउंट आबू में वर्कशॉप रखने का फैसला किया। हालांकि, उन्होंने कहा कि पार्टी के एक या दो विधायक भाजपा के पक्ष में वोट कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि जाला और ठाकोर अभी भी कांग्रेस के विधायक हैं। हमने उन्हें अभी तक नहीं हटाया है। 

 

'कई कांग्रेसी विधायक पार्टी छोड़ने के लिए सही वक्त का इंतजार कर रहे'

उधर, अल्पेश ठाकोर ने कहा कि उन्हें पार्टी की ओर से कोई व्हिप नहीं मिली। उन्होंने कहा कि वे इस बात की गारंटी नहीं दे सकते कि वे कांग्रेस को वोट करेेंगे। ठाकोर ने कहा, मैं सिर्फ इतना कह सकता हूं कि मैं 5 जुलाई को वोट करुंगा। वक्त बताएगा कि मैंने किसे वोट किया। 

 

उन्होंने कहा, कई कांग्रेस के विधायक पार्टी से खुश नहीं हैं और पार्टी छोड़ने के लिए सही वक्त का इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि विधायकों को गुजरात से बाहर ले जाने की क्या जरूरत थी, वर्कशॉप यहां राज्य में भी हो सकती थी।  

 

कांग्रेस और भाजपा ने दो-दो उम्मीदवार उतारे

अमित शाह के गांधी नगर और स्मृति ईरानी के अमेठी से लोकसभा चुनाव जीतने के बाद राज्यसभा की 2 सीटें खाली हुईं। भाजपा ने यहां से विदेश मंत्री एस जयशंकर और ओबीसी नेता जुगलजी ठाकोर को उतारा है। वहीं, कांग्रेस से चंद्रिका चुडासमा और गौरव पांड्या ने नामांकन भरा है।

 

इन दोनों सीटों पर 5 जुलाई को सुबह 9 बजे से शाम 4 बजे तक मतदान होगा। वहीं, मतगणना उसी दिन शाम 5 बजे होगी। 182 विधानसभा वाले राज्य में 175 विधायक ही वोट करेंगे। चार सीटें खाली हैं, जबकि तीन विधायक किन्हीं कारणों के चलते मतदान नहीं कर पाएंगे। राज्य में भाजपा के 100 और कांग्रेस के 71 विधायक हैं। एक उम्मीदवार को जीतने के लिए 50% यानी 88 वोट चाहिए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना