ATM मशीन पर महिला ने की एक गलती और अकाउंट से चोरी हो गए 10 हजार रुपए, हैकर्स आपकी इसी गलती का करते हैं इंतजार; पैसे निकालते वक्त इन 2 चीजों को हमेशा करें चेक / ATM मशीन पर महिला ने की एक गलती और अकाउंट से चोरी हो गए 10 हजार रुपए, हैकर्स आपकी इसी गलती का करते हैं इंतजार; पैसे निकालते वक्त इन 2 चीजों को हमेशा करें चेक

ATM मशीन में जहां कार्ड लगाया जाता है उसमें सबसे पहले करें ये जरूरी काम

Dainikbhaskar.com

Jan 11, 2019, 12:15 PM IST
Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards

न्यूज डेस्क। मुंबई में रेहाना शेख नाम की महिला के ATM कार्ड से 10 हजार रुपए के निकलने का मामला सामने आया है। जब मशीन से पैसे निकाले गए तब ATM कार्ड रेहाना के पास था। हालांकि, पैसे निकालने वाला आरोपी भूपेंद्र मिश्रा अब पुलिस की गिरफ्त में है। वो पहले ही कई लोगों के AMT कार्ड को लिया बिना उनके अकाउंट से पैसे निकाल चुका है। दरअसल, इस मामले में आरोपी ने क्लोनिंग का सहारा लिया था।

ये है पूरा मामला

बांद्रा पुलिस के अनुसार वडाला की रहने वाली 35 साल की रेहाना शेख 18 दिसंबर को महिला पाली हिल स्थित अपने दफ्तर जाने के लिए ट्रेन से उतरीं। इसके बाद बांद्रा स्टेशन के पास ATM पर पैसे निकालने गईं। तकनीकी खामी से पैसे नहीं निकले। तब ATM के बाहर खड़े शख्स ने उनकी मदद करने के लिए कहा, लेकिन तब भी पैसे नहीं निकले। इसके बाद वे ऑफिस चली गईं। ऑफिस पहुंचते ही उनके पास 10,000 रुपए निकलने का SMS आया।

Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards

ऐसे होती है ATM क्लोनिंग

 

हैकर्स आपके ATM कार्ड का क्लोन तैयार करने के लिए स्कीमर मशीन और हिडन कैमरा का यूज करते हैं। स्कीमर मशीन को किसी भी ATM मशीन में लगा दिया जाता है। यानी आप जैसे ही पैसे निकालने के लिए अपने कार्ड को अंदर लगाएंगे उसका सारा डाटा हैकर्स के पास पहुंच जाएगा। ठीक इसी तरह, हिडन कैमरा से वे आपके कार्ड का पिन नंबर पता कर लेते हैं। बाद में इस डाटा को दूसरे कार्ड में इन्सर्ट करके किसी भी ATM मशीन से पैसा निकाल लिया जाता है।

 

 

Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards

बैंक से निकाले जा चुके 78 करोड़ रुपए

 

अगस्त 2018 में पुणे की कॉसमॉस बैंक से हैकर्स द्वारा 78 करोड़ रुपए निकालने का मामला सामने आया था। हैकर्स ने इस काम को बैंक के सर्वर को हैक करने के बाद क्लोन ATM कार्ड की मदद से किया है। उसने क्लोन कार्ड बनाकर अमेरिका, रूस, ब्रिटेन और संयुक्त अरब अमीरात समेत कुल 28 देशों से इस चोरी का अंजाम दिया था।

 

Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards

अधिकारी ने बताई हैं ये सावधानियां

 

क्लोनिंग के कई मामले सामने आने के बाद बैंक से जुड़े अधिकारियों ने वीडियो और मैसेज के माध्यम से कई सावधानियां बताई हैं। इन्हें हर ATM यूजर को फॉलो करना चाहिए।

 

> कस्टमर्स उस ATM से पैसे कभी नहीं निकाले जहां पर गार्ड तैनात न हो।
> कस्टमर अपना ATM स्वयं यूज करें। किसी दूसरे को यूज करने के लिए नहीं दें।
> ATM केबिन में यदि कोई और है तो उसके बाहर निकलने के बाद ही मशीन का प्रयोग करें।
> ATM मशीन में जहां कार्ड लगाया जाता है उसे हमेशा खींचकर देखें। यदि वो क्लोनिंग मशीन हुई तो बाहर आ जाएगी।
> ATM मशीन में कार्ड लगाने वाली जगह पर ग्रीन लाइट जलती है। ये लाइट तब तक नहीं रुकती जब तक पैसे या कार्ड वापस नहीं आता। यदि ग्रीन लाइट नहीं जल रही तब मशीन के साथ छेड़छाड़ की गई है। ऐसे में उसका यूज नहीं करें।

X
Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards
Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards
Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards
Mumbai ATM Fraud Case : Hackers Withdraw Rs. 10,000 With Cloned ATM Cards
COMMENT