• Hindi News
  • National
  • IMD Rainfall Weather Updates; Lucknow Kanpur Punjab | Haryana Chandigarh, Himachal Pradesh, And Jharkhand Monsoon News

19 राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट:बाढ़ के बीच जोधपुर में सेना ने मोर्चा संभाला; वाराणसी में दशाश्वमेध घाट की आरती की जगह दोबारा बदली

नई दिल्ली4 महीने पहले

देश के अधिकतर राज्यों में भारी बारिश की वजह से बाढ़ के हालात हो गए हैं। उत्तर भारत के कई राज्यों में भारी बारिश हो रही है। मौसम विभाग के मुताबिक, उत्तर की ओर शिफ्ट होने की वजह से अगले 2-3 दिनों में उत्तर भारत में बारिश बढ़ेगी।

इधर, राजस्थान में बारिश ने बीते 33 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। सामान्य से 55% ज्यादा बारिश से कई जिलों में बाढ़ के हालात हैं। जोधपुर की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। यहां जिला प्रशासन की मदद के लिए सेना के जवानों को लगाया गया है।

UP में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज समेत 22 जिलों में बारिश का अलर्ट है। कानपुर में गुरुवार सुबह 2 घंटे झमाझम बारिश हुई। इससे सड़कें तालाब बन गईं। उधर, वाराणसी में दशाश्वमेध घाट की आरती की जगह को दोबारा बदल दिया गया है।

देशभर में बुधवार को हुई बारिश का हाल आप इस मैप के जरिए देख सकते हैं…

मौसम विभाग की तरफ से जारी इस मैप देखा जा सकता है कि 5 राज्यों में भारी, 6 राज्यों में सामान्य से ज्यादा, जबकि 10 राज्यो में मध्यम बारिश हुई है।
मौसम विभाग की तरफ से जारी इस मैप देखा जा सकता है कि 5 राज्यों में भारी, 6 राज्यों में सामान्य से ज्यादा, जबकि 10 राज्यो में मध्यम बारिश हुई है।

अगले 4 दिनों में 3 राज्यों में भारी बारिश
मौसम विभाग के मुताबिक, अगले 24 घंटों में उत्तरी पंजाब, उत्तरी हरियाणा-चंडीगढ़ और हिमाचल प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश और झारखंड में भारी बारिश होने की संभावना है। अगले तीन से चार दिनों के दौरान आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, पुडुचेरी में भारी बारिश होगी।

असम, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, मणिपुर, मिजोरम और त्रिपुरा में 31 जुलाई तक भारी बारिश की संभावना है। वहीं, सिक्किम, मेघालय और नागालैंड में छिटपुट बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा मौसम विभाग ने जम्मू-कश्मीर में भी अगले चार दिन तक बारिश की चेतावनी जारी की है।

अब देश के अन्य राज्यों में बारिश की स्थिति जान लीजिए...

राजस्थान: जोधपुर में बाढ़, सेना ने मोर्चा संभाला

राजस्थान में सामान्य से 55 फीसदी ज्यादा बरस चुके मानसून के कारण कई जिलों में बाढ़ के हालात हैं। बारिश का दौर कुछ धीमा होने के बाद प्रभावित एरिया में रेस्क्यू काम स्टार्ट किया गया है। हालांकि, इलाकों में पानी अब भी जमा होने से एजेंसियों को मुश्किल का सामना करना पड़ा रहा है।

राजस्थान में सामान्य से 55 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है। मानूसन आने से अबतक 356.1MM बारिश दर्ज की गई।
राजस्थान में सामान्य से 55 फीसदी ज्यादा बारिश हो चुकी है। मानूसन आने से अबतक 356.1MM बारिश दर्ज की गई।

जोधपुर की स्थिति सबसे ज्यादा खराब है। यहां जिला प्रशासन की मदद के लिए सेना के जवानों को लगाया गया है। जवान रेस्क्यू के साथ कई दिनों से घरों में फंसे लोगों को खाने का सामान भी पहुंचा रहे हैं। जोधपुर में बीते 15 में सबसे अधिक बारिश रिकॉर्ड हुई है। यहां तीन दिन में 7 मौतें हो चुकी हैं। इनमें 5 बच्चे, एक महिला और पुरुष हैं।

सेना के 40 से अधिक जवानों को शहर में रेस्क्यू के लिए लगाया गया है। शहर की कई कॉलोनियों में हालात ज्यादा खराब हैं।
सेना के 40 से अधिक जवानों को शहर में रेस्क्यू के लिए लगाया गया है। शहर की कई कॉलोनियों में हालात ज्यादा खराब हैं।

UP: 22 जिलों में बारिश का अलर्ट
UP में लखनऊ, कानपुर, प्रयागराज समेत 22 जिलों में बारिश का अलर्ट है। बीते 24 घंटे में 7.2 मिलीमीटर बारिश हुई है। कानपुर में गुरुवार सुबह 2 घंटे झमाझम बारिश हुई। इससे सड़कें तालाब बन गई। नरवल कोतवाली में मालखाने से लॉकअप तक पानी भर गया है। पुलिसवालों और फरियादियों को आने-जाने में दिक्कत हुई। लखनऊ में करीब 11 बजे बारिश शुरू हुई, जो अब तक जारी है।

कानपुर में भारी बारिश से नरवल कोतवाली में मालखाने से लॉकअप तक पानी भर गया, जिससे पुलिसवालों और फरियादियों को आने-जाने में दिक्कत हुई।
कानपुर में भारी बारिश से नरवल कोतवाली में मालखाने से लॉकअप तक पानी भर गया, जिससे पुलिसवालों और फरियादियों को आने-जाने में दिक्कत हुई।

वाराणसी में गंगा नदी के उफनाने से 14 घाट डूबे चुके हैं। एक दिन में यहां 78 सेमी वाटर लेवल बढ़ा है। मणिकर्णिका और हरिशचंद्र घाट के शवदाह स्थल भी बदले जा रहे। दशाश्वमेध घाट की आरती की जगह को दोबारा बदल दिया गया है। आरती के आयोजकों ने बताया ऐसा पहली बार है कि इतनी जल्दी-जल्दी गंगा के आरती स्थल को बदला जा रहा है।

हमीरपुर में बुधवार की देर रात उफनाए एक नाले में बोलेरो बहने लगी। उसमें सवार 2 साल की बच्ची समेत 8 लोग किसी तरह गाड़ी का गेट तोड़कर बाहर निकल आए, लेकिन तीन साल की बच्चा नाले में बह गया। अभी उसका कुछ पता नहीं चल सका है।

मथुरा में बुधवार की देर रात तेज बारिश हुई। सड़क पर जलभराव हो गया। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए हैं। कानपुर में गंगा बैराज के सभी 30 गेट खोल दिए गए हैं। पढ़ें पूरी खबर...

मथुरा में बुधवार की देर रात तेज बारिश हुई। सड़क पर जलभराव हो गया। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए हैं।
मथुरा में बुधवार की देर रात तेज बारिश हुई। सड़क पर जलभराव हो गया। कई जगहों पर पेड़ उखड़ गए हैं।

MP: चंबल नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर
MP में बारिश से नदी-नाले उफान पर हैं। बड़वानी में नर्मदा उफनाने से राजघाट इलाका टापू बन गया। बुधवार शाम 6 बजे नदी का जलस्तर 130.200 मीटर पर पहुंच गया। राजघाट में 17 परिवार बसे हुए हैं। इन लोगों ने एसडीएम घनश्याम धनगर से नाव उपलब्ध कराने की मांग की है। छिंदवाड़ा में भगवान श्रीचंद स्कूल के सामने उफनाए नाले में एक शख्स और उसके तीन भतीजे बह गए। लोगों ने तीनों बच्चों को तो बचा लिया, लेकिन उनके ताऊ लापता हो गए।

MP में अभी ग्वालियर-चंबल, बुंदेलखंड, बघेलखंड और उज्जैन में बारिश ज्यादा होगी। अगले 4 दिन प्रदेश में तेज बारिश से कुछ राहत रहेगी। ट्रफ लाइन के ग्वालियर की तरफ जाने के कारण प्रदेश में तेज बारिश का दौर कुछ धीमा हुआ है। नमी रहने के कारण रिमझिम बारिश होती रहेगी। पढ़ें पूरी खबर...

MP में अभी ग्वालियर-चंबल, बुंदेलखंड, बघेलखंड और उज्जैन में बारिश ज्यादा होगी। अगले 4 दिन तेज बारिश से कुछ राहत रहेगी।
MP में अभी ग्वालियर-चंबल, बुंदेलखंड, बघेलखंड और उज्जैन में बारिश ज्यादा होगी। अगले 4 दिन तेज बारिश से कुछ राहत रहेगी।

हिमाचल: 3 जिलों में ऑरेंज अलर्ट जारी
हिमाचल की राजधानी शिमला में मानसून को लेकर मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने 3 जिलों में तेज बारिश होने की संभावना जताई है और ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। इस बीच इन जिलों में कहीं-कहीं पर 115 से 204 मिली मीटर तक भारी बारिश हो सकती है। यह नुकसान का भी बड़ा कारण भी बन सकती है। प्रदेश के अन्य जिलों में भी भारी बारिश का येलो अलर्ट जारी किया गया है। पढ़ें पूरी खबर...

पूरे देश में अगले चार दिन तक कैसा रहेगा मानसून, जानने के लिए ये चार मैप देखें...