• Hindi News
  • National
  • Delhi Maharashtra Rain Updates; Jalgaon Flood | Uttar Pradesh Dam Leakage; Rain In Madhya Pradesh 16 Districts Including Bhopal Indore

बारिश से बर्बादी:महाराष्ट्र के 750 गांव बाढ़ की चपेट में, 500 मवेशी बहे; UP के 11 बांधों में रिसाव शुरू

नई दिल्ली3 महीने पहले
फोटोजलगांव की सके तहसील के चालीसगांव की है। यहां बारिश के बाद कॉलोनियों और सड़कों पर कमर तक पानी भर गया है।

महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और गुजरात सहित कई राज्यों में बारिश से बर्बादी की घटनाएं सामने आ रही हैं। महाराष्ट्र में 750 गांव बाढ़ की चपेट में हैं। यहां 500 मवेशियों के बाढ़ में बह जाने की खबर है। वहीं, उत्तर प्रदेश के 11 बांधों में रिसाव शुरू हो गया है। इनमें से एक भी बांध यदि टूट जाता है तो भयानक तबाही मचा सकता है।

महाराष्ट्र: कई गांवों में लोग फंसे

फोटो जलगांव जिले के चालीसगांव की है। यहां बहाव तेज होने की वजह से सड़क बह गई।
फोटो जलगांव जिले के चालीसगांव की है। यहां बहाव तेज होने की वजह से सड़क बह गई।

महाराष्ट्र के जलगांव के चालीसगांव तालुका में मूसलाधार बारिश की वजह से 750 गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। भारी बारिश से यहां कमर तक पानी भर गया है। अचानक आई बाढ़ से एक महिला की मौत हुई है। 500 से ज्यादा मवेशी पानी में बह गए हैं।

कई गांव में लोग अब भी फंसे हुए हैं और रेस्क्यू किए जाने का इंतजार कर रहे हैं। मंगलवार को बारिश के बाद हुई औरंगाबाद-धुले हाईवे पर लैंडस्लाइड हुई थी। तब से वहां ट्रैफिक जाम है। सड़क पर कीचड़ है। हाईवे पर गाड़ियों की लंबी कतार लगी है।

उत्तर प्रदेश: 23 साल बाद इतने बुरे हालात

गोरखपुर जिले के कई गांवों में हर घंटे नदियों का जलस्तर 3 से 4 इंच बढ़ रहा है। इससे लोगों में दहशत का माहौल है।
गोरखपुर जिले के कई गांवों में हर घंटे नदियों का जलस्तर 3 से 4 इंच बढ़ रहा है। इससे लोगों में दहशत का माहौल है।

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में बाढ़ के हालत हैं। आसपास के कई गांव पानी में डूब चुके हैं। नदियों का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, इससे डरकर लोगों ने पलायन शुरू कर दिया है। जिन लोगों के मकान पक्के हैं, उन्होंने छत पर पनाह ले ली है।

हर घंटे नदियों का जलस्तर 3 से 4 इंच बढ़ रहा है। चौरीचौरा, राप्ती रोहा बांध, गोर्रा नदी के महुआकोल बांध, लकड़िहा बांध और बोहवार बांध सहित 11 बांधों में रिसाव शुरू हो गया है। 23 साल पहले 1998 में इतने बुरे हालात बने थे। अब तक 39 लोगों को रेस्क्यू कर सुरक्षित जगह पर पहुंचाया जा चुका है।

दिल्ली: 12 साल बाद सितंबर में एक दिन के अंदर इतनी बारिश

दिल्ली के ITO इलाके में बहादुर शाह जफर मार्ग के एक अंडर-पास में हुआ जलभराव।
दिल्ली के ITO इलाके में बहादुर शाह जफर मार्ग के एक अंडर-पास में हुआ जलभराव।

दिल्ली में बारिश ने 12 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया। बुधवार की सुबह 8.30 बजे तक 24 घंटे के अंदर दिल्ली में 112.1 मिलीमीटर बारिश हुई। पिछले 12 साल में अगस्त में एक दिन में इतनी बारिश नहीं हुई। इससे राजधानी के निचले इलाकों में पानी भर गया।

मौसम विभाग (IMD) के मुताबिक दिल्ली में हर साल सितंबर महीने में करीब 125.1 मिलीमीटर बारिश होती है। इस साल सितंबर के पहले दिन ही 112.1 मिमी बारिश हो गई।

मध्यप्रदेश: भोपाल-इंदौर सहित 16 जिलों में बारिश
मध्यप्रदेश में मानसून का असर खूब दिखाई दे रहा है। पिछले 24 घंटे में नीमच, भोपाल, टीकमगढ़ समेत 16 से ज्यादा जिलों में रुक-रुककर बारिश जारी है। बुधवार सुबह भोपाल-इंदौर में रिमझिम बारिश हुई, तो छिंदवाड़ा में डेढ़ घंटा तेज बारिश देखने मिली।

होशंगाबाद के तवा डैम में 0.70 फीट पानी बारिश के बाद बढ़ा है। भोपाल के बड़ा तालाब, कलियासोत और केरवा और सीहोर के कोलार डैम के लेवल में भी बढ़ोतरी जारी है।

गुजरात: 10 घंटे के अंदर 11 इंच बारिश

पानी का बहाव इतना तेज था कि गुजरात के अंबाजी टाउन में सड़क पर खड़ी बाइक्स तक बहने लगीं।
पानी का बहाव इतना तेज था कि गुजरात के अंबाजी टाउन में सड़क पर खड़ी बाइक्स तक बहने लगीं।

गुजरात के सौराष्ट्र और उत्तर गुजरात में जोरदार बारिश का दौर जारी है। वलसाड जिले के उमरगाम और वापी में बारिश परेशानी बन गई है। यहां बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। उमरगाम में 10 घंटे के अंदर 11 इंच बारिश हुई है।

खबरें और भी हैं...