हरियाणा / क्लर्क भर्ती परीक्षा में मोबाइल नंबरों को बनाया रोल नंबर, डायल करने पर एनसीआर में कॉल रिसीव हो रहे



HSSC made mobile numbers roll number
X
HSSC made mobile numbers roll number

  • 4858 पदों के लिए 15 लाख आवेदन, एडमिट कार्ड डाउनलोड करने के लिए मां के नाम को पासवर्ड बनाया
  • करीब 25 रोल नंबर डायल कर चेक किए गए तो इसमें से करीब 15 से ज्यादा में कॉल रिसीव हुई

Dainik Bhaskar

Sep 18, 2019, 09:32 AM IST

पानीपत (मनोज कुमार). हरियाणा में 4858 र्क्लक पदों पर भर्ती के लिए 15 लाख अभ्यर्थियों को जारी एडमिट कार्ड पर दिए रोल नंबर लोगों के मोबाइल नंबर हैं। हरियाणा स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (एचएसएससी) की ओर से मोबाइल नंबरों को परीक्षा के लिए रोल नंबर बना दिया गया। अगर कोई रोल नंबर को मोबाइल पर डायल करता है तो फोन मिल जाता है और दूसरी ओर से लोग हैलो भी बोलते हैं। रोल नंबर तो पहले की तरह ही 10 अंक के हैं। लेकिन ऐसा पहली बार है, जब मोबाइल नंबरों की सीरीज वाले रोल नंबर बनाए गए।

 

वहीं, एडमिट कार्ड डाउनलोड करने का पासवर्ड भी बदल दिया है। पहले आवेदन करने के वक्त अभ्यर्थी के मोबाइल पर जो रजिस्ट्रेशन नंबर और पासवर्ड आता था, उसी से एडमिट कार्ड डाउनलोड होता था। इस बार एडमिट कार्ड डाउनलोड के लिए रजिस्टेशन नंबर और जन्म तारीख या मां का नाम पासवर्ड बनाया गया है।

 

25 रोल नंबर मोबाइल पर डायल किया तो आधे से ज्यादा पर फोन लगा

करीब 25 रोल नंबर डायल कर चेक किए गए तो इसमें से करीब 15 से ज्यादा में कॉल रिसीव हुई। कुछ स्विच ऑफ आए। कुछ पर रिंग तो जा रही है, लेकिन रिसीव नहीं हो रहे। भिवानी जिले की पुष्पा के एडमिट कार्ड पर दिए रोल नंबर को डायल किया तो सामने वाला बोला कि वह गुड़गांव से विजय बोल रहा है। इसी प्रकार पूनम के रोल नंबर को डायल किया तो गाजियाबाद के सतीश ने फोन उठाया। उसके बेटे गौरव ने कुछ समय पहले रेलवे में अम्बाला में एग्जाम दिया था। एक नंबर दिल्ली में, एक नारनौल में भी जाकर मिला।

 

इसलिए रोल नंबर बन गया मोबाइल नंबर  
इस बार रोल नंबर 9990 से शुरू हो रहे हैं। इस नंबर से कई कंपनियों के मोबाइल नंबर की सीरीज शुरू होती है। इसीलिए यह गफलत हुई। एचएसएससी के चेयरमैन भारत भूषण भारती ने बताया कि मोबाइल नंबरों को रोल नंबर नहीं बनाया गया है। इत्तेफाक से मोबाइल नंबरों की सीरीज के रोल नंबर बन गए होंगे।

 

एडमिट कार्ड के लिए बनाने पड़े दो नए लिंक
एक साथ करीब 15 लाख युवाओं की ओर से एडमिट कार्ड डाउनलोड किए जाने से एचएसएससी का सर्वर भी फुल हो गया है। ऐसे में अब नया सर्वर शुरू किया गया है। जिस पर एडमिट कार्ड के लिए लिंक-1 और लिकं-2 दर्शाया गया है। जबकि पहले सर्वर-1 और सर्वर-2 बनाया हुआ था।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना