• Hindi News
  • National
  • Kerala: human chain formed in Kerala withdrawal of CAA, Indian national flag unfurled at mosques on Republic Day

केरल / 10 हजार मस्जिदों में तिरंगा फहराया; नागरिकता कानून के विरोध में 620 किमी लंबी मानव श्रृंखला बनाई

गणतंत्र दिवस पर केरल की 10 हजार मस्जिदों में तिंरगा झंडा फहराया गया। गणतंत्र दिवस पर केरल की 10 हजार मस्जिदों में तिंरगा झंडा फहराया गया।
मुख्यमंत्री विजयन और सीपीआई नेता कानम राजेंद्रन मानव श्रृंखला में शामिल हुए। मुख्यमंत्री विजयन और सीपीआई नेता कानम राजेंद्रन मानव श्रृंखला में शामिल हुए।
X
गणतंत्र दिवस पर केरल की 10 हजार मस्जिदों में तिंरगा झंडा फहराया गया।गणतंत्र दिवस पर केरल की 10 हजार मस्जिदों में तिंरगा झंडा फहराया गया।
मुख्यमंत्री विजयन और सीपीआई नेता कानम राजेंद्रन मानव श्रृंखला में शामिल हुए।मुख्यमंत्री विजयन और सीपीआई नेता कानम राजेंद्रन मानव श्रृंखला में शामिल हुए।

  • वक्फ बोर्ड के निर्देश पर मस्जिदों में तिरंगा फहराने के साथ संविधान की प्रस्तावना पढ़ी गई
  • सत्तारूढ़ वाम दल ने मानव श्रृंखला में 60-70 लाख लोगों के शामिल होने का दावा किया

दैनिक भास्कर

Jan 26, 2020, 07:36 PM IST

तिरुवंतपुरम. केरल की मस्जिदों में गणतंत्र दिवस पर पहली बार तिरंगा फहराया गया। कुट्टियादी जुमा मस्जिद समिति के सचिव के बशीर ने न्यूज एजेंसी को बताया कि वक्फ बोर्ड के निर्देश पर राज्य की करीब 10 हजार मस्जिदों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। साथ ही संविधान की प्रस्तावना भी पढ़ी गई।

बशीर ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून से संविधान खतरे में है। इसमें धर्म के आधार पर भेदभाव किया जा रहा है। इसलिए, हमने एकजुटता के साथ संविधान की प्रस्तावना पढ़ी। देश की एकता बनाए रखने के लिए हमने मस्जिदों में राष्ट्रीय ध्वज भी फहराया।

मुख्यमंत्री विजयन मानव श्रृंखला में शामिल हुए

दूसरी ओर, नागरिकता कानून का विरोध करते हुए सत्तारुढ़ माकपा के नेतृत्व में 620 किमी मानव श्रृंखला बनाकर प्रदर्शन किया गया। वाम दल ने उत्तर केरल के कासरगोड से लेकर राज्य के दक्षिणी भाग में कालियाचक तक मानव श्रृंखला बनाई। मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन और सीपीआई नेता कानम राजेंद्रन भी तिरुवंतपुरम में प्रदर्शन में शामिल हुए।

लोगों ने संविधान की रक्षा की शपथ ली

वाम दल ने दावा किया कि मानव श्रृंखला में करीब 60 से 70 लाख लोग शामिल हुए। मानव श्रृंखला शाम 4 बजे बनाई गई। बाद में लोगों ने संविधान की प्रस्तावना पढ़ी और इसकी रक्षा करने की शपथ ली। माकपा के वरिष्ठ नेता एस रामचंद्रन पिल्लई कासरगोड में 620 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला की पहली कड़ी थे, जबकि एमए बेबी कालियाचकविलाय में आखिरी व्यक्ति थे। मानव श्रृंखला में सभी क्षेत्रों में कई प्रमुख हस्तियों ने भाग लिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना