• Hindi News
  • National
  • IAF (Indian Air Force) boost fighter squadron strength with 21 new MiG 29s and 12 Sukhoi 30s combat aircraft

रक्षा / वायुसेना कर रही अपनी ताकत बढ़ाने की तैयारी, जल्द खरीदे जाएंगे 33 नए लड़ाकू विमान



लड़ाकू विमान (फाइल फोटो) लड़ाकू विमान (फाइल फोटो)
X
लड़ाकू विमान (फाइल फोटो)लड़ाकू विमान (फाइल फोटो)

  • वायुसेना खरीदेगी 21 मिग-29 और 12 सुखोई-30 विमान
  • भारत के पास पहले से ही हैं इस श्रेणी के लड़ाकू विमान
  • नए सुखोई-30 आने के बाद भारत के बेड़े में होंगे 272 विमान

Dainik Bhaskar

Aug 29, 2019, 07:38 PM IST

नई दिल्ली. पुराने लड़ाकू विमानों की वजह से कम हो रही अपने बेड़े की ताकत को देखते हुए भारतीय वायुसेना ने 33 नए लड़ाकू विमानों को खरीदने की योजना बनाई है। सरकारी सूत्रों से प्राप्त जानकारी के मुताबिक वायुसेना जल्द ही इस बारे में एक प्रस्ताव बनाकर अगले कुछ हफ्तों में रक्षा मंत्रालय की उच्च स्तरीय बैठक में रखेगी। खरीदे जाने वाले 33 विमानों में से 21 विमान जहां मिग-29 होंगे तो वहीं 12 विमान सुखोई-30 होंगे। भारतीय वायुसेना की योजना है कि नए सुखोई विमान अलग-अलग दुर्घटनाओं में नष्ट हो चुके विमानों की जगह लेंगे। साथ ही 12 अतिरिक्त सुखोई आने के बाद भारतीय वायुसेना के बेड़े में सुखोई-30MKI विमानों की संख्या 272 हो जाएगी। पिछले 10-15 साल के दौरान अलग-अलग अवधि में भारत इन सब सुखोई-30 विमानों का ऑर्डर कर चुका है।

 


भारतीय वायुसेना जिन 21 मिग-29 विमानों को रूस से लेने के बारे में विचार कर रही है, उनका प्रस्ताव रूस ने ही भारतीय वायुसेना की नए विमानों की जरूरत पूरी करने के लिए दिया था। सूत्र के मुताबिक, 'जो मिग-29 विमान वायुसेना को ऑफर किए जा रहे हैं, वे वायुसेना के पास पहले से मौजूद मिग-29 के मुकाबले अपनी श्रेणी में नवीनतम और सबसे उन्नत होंगे। विमान पर लगे रडार और अन्य उपकरण भी बिल्कुल नवीनतम मानकों के होंगे।' आगे उन्होंने बताया, 'मिग-29 के लिए बातचीत फिलहाल शुरुआती स्तर पर है और भारतीय वायुसेना जल्द से जल्द इस सौदे को अंतिम रूप देने की उम्मीद कर रही है।'

 

भारत के पास मिग-29 के तीन बेड़े हैं


इससे पहले भारतीय वायुसेना ने इस बात को जानने के लिए एक अध्ययन भी किया था कि क्या मिग-29 की एयरफ्रेम्स लंबे वक्त तक काम करने के लिए पर्याप्त है। बता दें कि भारतीय वायुसेना मिग-29 का इस्तेमाल पहले से कर रही है और पायलट भी इससे परिचित हैं। लेकिन रूस जिन विमानों का ऑफर दे रहा है, वे भारत के पास रखे विमानों से अलग हैं। भारतीय नौसेना के पास मिग-29K विमान भी है और विमान के इस वर्जन का इस्तेमाल करने वाली वो अकेली ऑपरेटर है। इस दौरान उसका अनुभव खराब रहा है, क्योंकि इस तरह के विमान का रख-रखाव काफी मुश्किल है और युद्धपोत पर उतरते ही उनकी सेटिंग्स भी तुरंत बदल जाती है। एयरफोर्स के पास मिग-29 विमानों के तीन बेड़े हैं, हवाई रक्षा के क्षेत्र में इनकी गिनती काफी अच्छे विमानों की जाती है, हालांकि बेड़े के सभी विमानों की कार्यक्षमता बढ़ाने के लिए फिलहाल उन्हें अपग्रेड किया जा रहा है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना