पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • IITian medical Student Grazing Animals; Helping With Household Chores, Also Removing Misconceptions

लॉकडाउन की अनोखी तस्वीरें:राजस्थान के बांसवाड़ा में आईआईटियन औप मेडिकल छात्र चरा रहे पशु; कोरोना से जुड़ी अफवाहों को भी दूर कर रहे

बांसवाड़ा13 दिन पहलेलेखक: सुरेश लाैहार/आशीष दाेसी
  • कॉपी लिंक
खेत पर पशु चरा रहे रोहनवाड़ी गांव के चिराग ने आईआईटी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग की है। - Dainik Bhaskar
खेत पर पशु चरा रहे रोहनवाड़ी गांव के चिराग ने आईआईटी कानपुर से केमिकल इंजीनियरिंग की है।

राजस्थान में बांसवाड़ा के गांवों में इन दिनाें अलग ही नजारा है। आईआईटी, एमबीबीएस और मैनेजमेंट काेर्स करने वाले छात्र कहीं खेतों में हल चला चला रहे हैं, तो कहीं पशु चरा रहे हैं। साथ ही पशुओं के लिए हरा चारा काटना भी इनकी जिम्मेदारी है। ऐसा इसलिए क्योंकि, यहां से ये छात्र पढ़ने के लिए दूसरे शहरों के इंस्टीट्यूट में गए थे। कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन के चलते इन्हें घर लौटना पड़ा। इसलिए अब ये छात्र ऑनलाइन पढ़ाई भी कर रहे हैं और घर के काम में हाथ भी बंटा रहे हैं।

इन दिनाें फसल कटाई, झाड़ू, खाना बनाना, पानी भरना, गाय-भैंस, बकरी का दूध-दुहना जैसे काम भी इन छात्रों की दिनचर्या में शामिल हैं। घर के काम में हाथ बंटाने के साथ-साथ ये युवा अपने-अपने गांवाें में काेराेना से जुड़ी भ्रांतियों को भी दूर कर लाेगाें काे जागरूक कर रहे हैं। इनमें मनीष कटारा (एमबीबीएस), आंचल पारगी, (एमबीबीएस) और जितेंद्र पारगी (एमबीबीएस) समेत कई स्टूडेंट्स शामिल हैं। ये हर दिन 7-8 घंटे पढ़ाई भी करते हैं।

खबरें और भी हैं...