• Hindi News
  • National
  • In The Sixth Batch Of Rafale, 3 More Fighter Aircraft Arrived In India From France, Now 21 Aircraft In The Airforce Fleet

वायुसेना की बढ़ेगी ताकत:राफेल के छठवें बैच में 3 और लड़ाकू विमान फ्रांस से भारत पहुंचे, एयरफोर्स के बेड़े में अब 20 एयरक्राफ्ट

नई दिल्ली6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
तीनों राफेल विमान फ्रांस के मेरिग्नैक-बोर्डो एयरबेस से उड़ान भरें। - Dainik Bhaskar
तीनों राफेल विमान फ्रांस के मेरिग्नैक-बोर्डो एयरबेस से उड़ान भरें।

राफेल लड़ाकू विमानों की छठवीं खेप में बुधवार-गुरुवार की रात तीन और लड़ाकू विमान भारत पहुंच गए हैं। तीनों विमान जामनगर पहुंच गए हैं। यहां से इन्हें अंबाला एयरबेस रवाना किया जाएगा। इसके साथ ही अब वायुसेना के बेड़े में इस लड़ाकू विमान की संख्या 20 हो गई है।

इससे पहले फ्रांस में भारतीय दूतावास ने बुधवार को ट्वीट कर बताया कि तीन और राफेल लड़ाकू विमानों की खेप भारत के लिए रवाना हो चुके हैं। तीनों राफेल विमान फ्रांस के मेरिग्नैक-बोर्डो एयरबेस से उड़ान भर चुके हैं और ये आज रात तक जामगर एयरबेस पर लैंड करेंगे।

फ्रांस से उड़ान भर चुके इन विमानों की संयुक्त अरब अमीरात (UAE) के एयरबस 330 मल्टी-रोल ट्रांसपोर्ट विमान के जरिए हवा में ही रिफ्यूलिंग होगी। चार और राफेल विमानों के जल्द भारत पहुंचने की उम्मीद है।

हासिमारा वायु सैन्य अड्डे पर होगा ठिकाना
राफेल लड़ाकू विमानों की नयी स्क्वाड्रन का ठिकाना पश्चिम बंगाल में हासिमारा एयरबेस पर होगा। राफेल की पहली स्क्वाड्रन अंबाला वायु सेना स्टेशन पर है। एक स्क्वाड्रन में 18 विमान शामिल होते हैं। भारत ने 2016 में 59,000 करोड़ 36 राफेल लड़ाकू विमान खरीदने के लिए फ्रांस के साथ सौदा किया था।

बता दें कि पांच राफेल विमानों का पहला जत्था 29 जुलाई 2020 को भारत पहुंचा था। इन विमानों को पिछले साल 10 सितंबर को अंबाला में एक कार्यक्रम में आधिकारिक रूप से भारतीय वायुसेना में शामिल किया गया।

कोरोना के चलते लाने की प्रक्रिया लेट
बता दें कि भारत में कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी के बाद राफेल विमानों के लाने की प्रक्रिया थोड़ी लंबी हो गई है। क्योंकि भारत से फ्रांस के लिए रवानों होने से पहले भारतीय पायलटों को क्वारंटाइन के साथ-साथ और भी कई सावधानियों से गुजरना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...