पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • India China Tension, India China Tension Latest News Update; India China Tension Latest News, Eastern Laddakh, Finger Area, Line Of Actual Control (LAC)

पूर्वी लद्दाख में भारत का एजेंडा स्पष्ट:फिंगर एरिया समेत टकराव वाले इलाकों से चीनी सेना को पीछे हटाने पर भारत का फोकस, कहा- चीन बैठकों में तय हुई बातों का सम्मान करे

नई दिल्ली8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सूत्रों के मुताबिक, पिछली मीटिंग के बाद फिंगर एरिया से भी चीनी सेना ने पीछे हटना शुरू किया था। लेकिन, 2-3 दिन बाद चीन ने प्रक्रिया पूरी तरह रोक दी थी। (फाइल फोटो)
  • भारत ने कहा- 14 और 15 जुलाई को कॉर्प्स कमांडर की मीटिंग में जो भी तय हुआ था, चीन उसका सम्मान करे
  • चीन-भारत के बीच कमांडर लेवल की पांचवें दौर की बैठक हुई, पिछली बैठक के बाद चीन ने सकारात्मक रुख दिखाया, फिर पलट गया

भारत और चीन के बीच तनाव को कम करने के लिए बातचीत एक बार फिर शुरू हो गई है। इसमें भारत को फोकस फिंगर एरिया समेत पूर्वी लद्दाख के तनाव वाले इलाकों से चीनी सेना को पूरी तरह पीछे हटाने पर है। सरकार के सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि इस मीटिंग के एजेंडे में फिलहाल देपसांग प्लेन्स को शामिल नहीं किया गया है।

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के नजदीक चीन की तरफ मॉल्डो में भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर लेवल की पांचवीं बैठक हुई। इसमें भारत का प्रतिनिधित्व लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह ने किया। चीन की तरफ से मेजर जनरल लियू जिन शामिल हुए।

सूत्रों के मुताबिक, भारत ने अपना रुख साफ कर दिया है कि एलएसी पर फ्रंट और गहराई वाले इलाकों में पहले सेना को पूरी तरह पीछे हटाने की प्रक्रिया पूरी हो जानी चाहिए।

भारत डी-एस्केलेशन की जल्दी में नहीं
चीन की तैनाती के बराबर ही भारत ने सीमा पर सेना बल बढ़ा रखा है। ऐसे में भारत अब डी-एस्केलेशन के लिए बिल्कुल भी जल्दी में नहीं है। भारत की मांग है कि 14-15 जुलाई को कॉर्प्स कमांडर की मीटिंग में जो भी तय हुआ था, चीन उसका सम्मान करे। और चीन अपनी परमानेंट लोकेशन पर वापस लौटे।

पिछली मीटिंग के बाद फिंगर एरिया से भी चीनी सेना ने पीछे हटना शुरू किया था। लेकिन, 2-3 दिन बाद चीन ने प्रक्रिया पूरी तरह रोक दी थी।

देपसांग में भारत की स्थिति मजबूत
सूत्रों के मुताबिक, देपसांग में भारत की स्थिति मजबूत है। अप्रैल-मई में चीन के निर्माण के बाद से भारत ने वहां खुद को मजबूत करना शुरू कर दिया था। 28 जुलाई को हुई कॉर्प्स कमांडर की लेवल की वार्ता में भारत ने चीन स्टडी ग्रुप (सीएसजी) के जरिए चीन को कुछ अहम निर्देश और सुझाव दिए थे।

भारत अब भी अपने रुख पर अड़ा है कि चीन को फिंगर एरिया समेत सभी तनाव वाले इलाकों से अपनी सेना पूरी तरह पीछे हटानी होगी। सीएसजी सरकार में एक टॉपमोस्ट बॉडी है, जो चीन के साथ होने वाली मीटिंग में मिलिट्री और डिप्लोमैट को दिशा-निर्देश मुहैया कराती है और चीन की ओर से उठाए गए मुद्दों और पॉइंट्स पर स्टैंड लेती है।

ये भी पढ़ सकते हैं...

तनाव कम करने की एक और कोशिश, भारत और चीन के बीच सैन्य स्तर पर पांचवें दौर की बातचीत शुरू; एलएसी पर तीनों सेक्टर्स में ताकत बढ़ा रहा है चीन

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें