• Hindi News
  • National
  • India China Tension Latest News Update, De escalating Situation On LAC, Line Of Actual Control, Ladakh Front, People's Liberation Army

चीन बाज नहीं आ रहा:चीन पूर्वी लद्दाख के तनाव वाले इलाकों से पीछे हटने को तैयार नहीं, 40 हजार जवानों की तैनाती जारी, हथियार-बख्तरबंद गाड़ियां मौजूद

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
चीन पिछले दिनों बातचीत के दौरान हुए समझौतों को भी नहीं मान रहा है। तनाव वाले इलाकों से अभी भी वह पीछे नहीं हटा है। - प्रतीकात्मक फोटो
  • पूर्वी लद्दाख के तनाव वाले इलाकों में चीन का एयर डिफेंस सिस्टम, लंबी दूरी तक मार करने वाली तोपें मौजूद हैं
  • मिलिट्री और डिप्लोमैटिक लेवल की बातचीत दोनों देशों में हुई, डोभाल की एंट्री के बाद सेनाएं पीछे हटने को तैयार हुई थीं

मिलिट्री और डिप्लोमैटिक चैनलों के जरिए कई दौर की बातचीत, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल के दखल के बावजूद चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। चीन लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर तनाव कम करने की कोशिश नहीं कर रहा है। इसके अलावा चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के 40 हजार जवानों की तैनाती पूर्वी लद्दाख सेक्टर में जारी है।

हथियारबंद जवान, बख्तरबंद वाहन अभी भी मौजूद
न्यूज एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि पूर्वी लद्दाख सेक्टर के विवाद वाले इलाकों से चीन की सेना पीछे नहीं हट रही है। चीन पिछले दिनों हुई बातचीत में हुए समझौतों को भी नहीं मान रहा है। इसके अलावा इन इलाकों में करीब 40 हजार सैनिकों की तैनाती हो रही है। यहां चीन का एयर डिफेंस सिस्टम, बख्तरबंद गाड़ियां, बड़े हथियार और लंबी दूरी तक मार करने वाली तोपें मौजूद हैं।

गोगरा और हॉट स्प्रिंग में कंस्ट्रक्शन किया
सूत्रों ने बताया कि पिछले हफ्ते दोनों सेनाओं के कमांडरों की बातचीत के बावजूद ग्राउंड पोजिशन नहीं बदली हैं। फिंगर 5 एरिया से चीन के जवान पीछे नहीं हटना चाहते हैं, बल्कि वे सिरीजाप में अपनी पुरानी लोकेशन पर पहुंच गए हैं। चीन के सैनिक यहां पर एक ऑब्जर्वेशन पोस्ट बनाना चाहते हैं। हॉट स्प्रिंग और गोगरा पोस्ट के इलाके में भी काफी कंस्ट्रक्शन खड़ा कर लिया है।

चीन का तर्क है कि अगर उसकी सेना पीछे हटी तो गोगरा और हॉट स्प्रिंग में भारतीय सेना को पीएलए पर बढ़त हासिल करने वाली ऊंची पोजिशन हासिल हो जाएगी। जबकि, 14-15 जुलाई को हुई कमांडर लेवल की बातचीत में इलाके से तनाव कम करने पर सहमति बनी थी।

ये भी पढ़ें...

1. सीमा विवाद पर चीन का अड़ियल रवैया:फिंगर एरिया से पूरी तरह पीछे हटने को तैयार नहीं चीन, भारत ने एलएसी पर अप्रैल-मई की स्थिति बहाल करने की मांग की

2. विवाद का इतिहास, चीन की विस्तारवादी नीतियां, मोदी सरकार के सच्चे-झूठे दावों समेत भारत-चीन विवाद पर भास्कर की 10 खास रिपोर्ट्स...

खबरें और भी हैं...