पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • National
  • India Coronavirus Vaccination; Odisha's Bhubaneswar Becomes India’s First City To Vaccinate 100% Of Its Population

वैक्सीनेशन में ओडिशा ने बनाया रिकॉर्ड:100% टीकाकरण करने वाला देश का पहला शहर बना भुवनेश्वर, 7 महीने में 18 लाख से ज्यादा वैक्सीन डोज लगाए

भुवनेश्वर2 महीने पहले

ओडिशा का भुवनेश्वर शहर 100% वैक्सीनेशन करने वाला देश का पहला शहर बन गया है। यानी यहां 18 साल से ज्यादा उम्र के सभी लोगों को वैक्सीन के दोनों डोज लग चुके हैं। साउथ ईस्ट भुवनेश्वर के डिप्टी म्युनिसिपल कमिश्नर अंशुमान रथ ने ANI को बताया कि हमने लगातार वैक्सीनेशन ड्राइव चलाई। 100% वैक्सीनेशन का लक्ष्य पहले ही तय कर लिया गया था।

रिकॉर्ड के मुताबिक भुवनेश्वर में 18 साल से ज्यादा उम्र के 9 लाख लोग हैं। इनमें 31 हजार हेल्थ केयर वर्कर, 33 हजार फ्रंट लाइन वर्कर हैं। 5 लाख 17 हजार लोगों की उम्र 18 से 44 साल के बीच है। 3 लाख 25 हजार लोग 45 साल से ज्यादा उम्र के हैं। सभी का टीकाकरण हो चुका है।

अंशुमान रथ के मुताबिक भुवनेश्वर में अब तक 18 लाख 16 हजार वैक्सीन डोज लगाए गए हैं। ऐसे लोगों की संख्या बहुत कम है, जिन्हें एक भी डोज नहीं लगा है। इसके अलग-अलग कारण हैं। जैसे कुछ लोग पास के जिलों से यहां काम करने आते हैं। गर्भवती महिलाओं को वैक्सीन का डोज देने पर रथ ने बताया कि उन्हें पहला डोज दिया जा चुका है।

भुवनेश्वर की 10% आबादी संक्रमित हो चुकी
इसके बाद भी भुवनेश्वर में संक्रमण पर लगाम लगती नजर नहीं आ रही है। भुवनेश्वर में रविवार को 318 नए मामले सामने आए और 317 लोग ठीक हुए। यानी यहां संक्रमित होने वालों का आंकड़ा ठीक होने वालों से ज्यादा है। भुवनेश्वर में एक्टिव केस 2.5 हजार के करीब हैं। अब तक 800 लोगों की मौत हुई है। दूसरी वेव के 5 महीनों के दौरान यहां 65 हजार केस सामने आए हैं।

2011 की जनगणना में भुवनेश्वर की आबादी 8.37 लाख थी। अनुमान के मुताबिक अब 10 लाख के करीब है। TOI की रिपोर्ट के मुताबिक इसमें से 1 लाख (10%) लोग अब तक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं।

संक्रमितों की संख्या ठीक होने वालों से ज्यादा
एक्सपर्ट्स के मुताबिक ओडिशा में रोजाना आने वाले मामलों की संख्या रिकवर होने वालों से ज्यादा है। ये चिंता की बात है। ओडिशा में के रविवार को 74,735 कोरोना टेस्ट किए गए, जिसमें से 1,437 लोग संक्रमित मिले। पुरी में 146 मामले आए, लेकिन सिर्फ 51 रिकवर हुए। भद्रक जिले में 47 पॉजिटिव मिले और इतने ही ठीक हुए। राज्य में अब तक कोरोना से पॉजिटिव होने वालों का आंकड़ा 10 लाख के करीब पहुंचने वाला है। राज्य का टेस्ट पॉजिटिविटी रेट (TPR 1.92% है।

इंस्टीट्यूट ऑफ लाइफ साइंस के डायरेक्टर अजय परिदा के मुताबिक रविवार को 12 जिलों का TPR 1% से भी नीचे रहा है। पुरी एक अकेला जिला हैं, जहां का TPR 5% से ज्यादा है। 3.86% के साथ कटक दूसरे नंबर पर है। पुरी, खुर्दा (इसमें भुवनेश्वर शामिल है) और कटक तीन ऐसे जिले हैं, जहां नए केस ट्रिपल डिजिट में सामने आ रहे हैं। एहतियात बरतते हुए पुरी में वीकेंड्स पर लॉकडाउन लगाया जा रहा है।

देश में वैक्सीनेशन का हाल

45 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज लगे
देश में 29 जुलाई तक 45 करोड़ से ज्यादा वैक्सीन डोज दिए जा चुके हैं। देश की 7% से ज्यादा आबादी पूरी तरह वैक्सीनेट हो चुकी है। वहीं, 26% से ज्यादा आबादी को वैक्सीन की कम से कम एक डोज लगाई जा चुकी है। अगर दिसंबर तक 100% वयस्क आबादी को वैक्सीनेट करना है तो वैक्सीन कंपनियों को प्रोडक्शन बढ़ाना होगा।

खबरें और भी हैं...