विदेश मंत्रालय के ड्राइवर पर जासूसी का आरोप:पाकिस्तान को भेजता था खुफिया जानकारी, दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया

नई दिल्ली2 महीने पहले

दिल्ली पुलिस ने विदेश मंत्रालय में तैनात एक ड्राइवर को गिरफ्तार किया है। वह पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI को गोपनीय और संवेदनशील जानकारी भेज रहा था। ड्राइवर को पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI ने हनीट्रैप में फंसाया था। दिल्ली पुलिस ने सुरक्षा एजेंसियों से मिले इनपुट के बाद आरोपी ड्राइवर को गिरफ्तार किया है।

पाकिस्तानी जासूस से संपर्क में था ड्राइवर
पुलिस ने बताया कि ड्राइवर को जवाहरलाल नेहरू भवन से गिरफ्तार किया गया है। वह पाकिस्तान को भारतीय विदेश मंत्रालय की खूफिया जानकारियां भेजता है, इसके बदले में उसे पैसे मिलते थे। ड्राइवर पाकिस्तान की एक महिला जासूस के संपर्क में था, उसे विदेश मंत्रालय से जुड़ी जानकारियां भेजता था।

महिला ड्राइवर से कहती थी कि वह कोलकाता में रहती है। वह कभी अपना नाम पूनम शर्मा तो कभी पूजा बताती थी। पुलिस का कहना है कि यह मामला हनीट्रैप का है। अधिकारियों ने बताया कि हम आरोपी से पूछताछ में पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि उसने पाकिस्तान को क्या जानकारी दी है।

राजस्थान में भी पकड़ा गया था पाकिस्तानी जासूस

ये तस्वीर भागचंद की है, जिसे भारत में पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।
ये तस्वीर भागचंद की है, जिसे भारत में पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

इससे पहले अगस्त में राजस्थान पुलिस ने दिल्ली से एक शख्स को पाकिस्तान के लिए जासूसी करने के मामले में गिरफ्तार किया था। उसकी पहचान 44 साल के भागचंद के रूप में हुई थी। भागचंद का जन्म पाकिस्तान में हुआ था और 1998 में अपने परिवार के साथ भारत आया था। भागचंद भारत दिल्ली में टैक्सी चलाकर अपना गुजारा करता था। 2016 में उसे भारत की नागरिकता मिल गई। भागचंद अपने पाकिस्तानी रिश्तेदार के जरिए हैंडलर के संपर्क में था। अक्टूबर में भी चीन के लिए जासूसी करने वाली एक महिला को पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

भारत में पाकिस्तानी जासूसों की गिरफ्तारी से जुड़ी अन्य खबरें यहां पढ़ें...
ISI के जासूस आफताब को 5 साल की सजा सुनाई गई

ISI के लिए जासूसी करने वाले आफताब को जुलाई में कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी।
ISI के लिए जासूसी करने वाले आफताब को जुलाई में कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी।

जुलाई में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के जासूस आफताब अली को कोर्ट ने 5 साल की सजा सुनाई थी। दोषी को सेना की जासूसी करते 2017 में ATS ने गिरफ्तार किया था। दोषी आफताब अली अयोध्या का रहने वाला है। आफताब सेना के हर मूवमेंट की जानकारी ISI हैंडलर को दे रहा था। पढ़ें पूरी खबर...

दिल्ली में बौद्ध भिक्षु की वेशभूषा में चीनी महिला गिरफ्तार, पुलिस को जासूस होने का शक

पिछले महीने दिल्ली के मजनूं टीला इलाके से पुलिस ने एक चीनी महिला को गिरफ्तार किया गया था। महिला बौद्ध भिक्षु की वेशभूषा में रह रही थी। उसकी पहचान काय रुओ के रूप में हुई है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने यह कार्रवाई महिला के संदिग्ध हाव भाव को देखते हुए की। पुलिस को शक है कि महिला भारत में जासूसी के लिए आई थी। पढ़ें पूरी खबर...