• Hindi News
  • National
  • India Overtakes United States In Total Number । Vaccines Administered । Health Ministry

10 पॉइंट में वैक्सीनेशन ड्राइव:भारत वैक्सीनेशन में अमेरिका से आगे निकला, अब तक 32.36 करोड़ से ज्यादा लोगों को कोरोना वैक्सीन की डोज दी

नई दिल्ली5 महीने पहले

वैक्सीनेशन के मामले में भारत ने अमेरिका को पछाड़ दिया है। अब तक देश में 32.36 करोड़ डोज लगाई जा चुकी हैं। अमेरिका में 32.33 करोड़ लोगों को अब तक कोरोना वैक्सीन की डोज दी गई है, जबकि अमेरिका में भारत से एक महीने पहले ही वैक्सीनेशन की शुरुआत हो चुकी थी। देश में 32,36,63,297 डोज दी गई हैं। भारत ने ये मुकाम तब हासिल किया है, जब देश में कोरोना के केस घट रहे हैं। इस खबर से जुड़े 10 अहम पॉइंट्स जानिए...

1. पिछले 24 घंटे में भारत में कोरोना के 46,148 नए केस दर्ज किए गए हैं। इस दौरान 979 लोगों की मौत संक्रमण से हुई। भारत में केसों की कुल संख्या अब 3.02 करोड़ से ज्यादा हो गई है। अब तक कोरोना से 3.96 लाख लोगों की मौत हुई।

2. देश में अब तक 5.6% वयस्कों को वैक्सीन की डोज दी गई है। अमेरिका की 40% से ज्यादा आबादी को वैक्सीन लगाई गई है।

3. भारत ने पिछले हफ्ते 3 करोड़ 91 लाख लोगों को वैक्सीन की डोज दी। हेल्थ मिनिस्ट्री ने एक ट्वीट में लिखा कि ये मील का पत्थर है। कनाडा, मलेशिया जैसे देशों की आबादी से ज्यादा लोगों को एक हफ्ते में वैक्सीन दी गई। आधिकारिक बयान के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी देश की वैक्सीनेशन ड्राइव से संतुष्ट हैं।

4. सरकार ने बताया है कि रोजाना जितने नए केस आ रहे हैं, उससे ज्यादा रिकवरी हो रही है। ये ट्रेंड लगातार 46 दिन से जारी है। शुक्रवार को डेली पॉजिटिविटी रेट यानी संक्रमण दर 2.94% है। पिछले 21 दिनों से ये 5% से कम है।

5. सरकार ने ये भी कहा कि 12 देशों में डेल्टा प्लस वैरिएंट चिंता का विषय बना हुआ है। देश के 12 राज्यों में इसके 52 से ज्यादा केस सामने आए हैं। इसके चलते केंद्र सरकार ने 8 राज्यों आंध्रप्रदेश, गुजरात, हरियाणा, जम्मू-कश्मीर, पंजाब, कर्नाटक, राजस्थान और तमिलनाडु को चिट्ठी लिख कर टेस्टिंग, ट्रैकिंग और वैक्सीनेशन की रफ्तार बढ़ाने को कहा है। एक गाइडलाइन भी जारी की गई है। गाइडलाइन पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी हर महीने ब्रॉडकास्ट होने वाले अपने रेडियो प्रोग्राम मन की बात में वैक्सीनेशन कराने की अपील की है। उन्होंने कहा कि लोग टीके से कतराए नहीं। उन्होंने कहा था- मेरी माताजी करीब 100 साल की हैं और उन्होंने वैक्सीन की दोनों डोज ली हैं। आप लोग भी वैक्सीन से जुड़ी अफवाहों पर भरोसा न करें।

7. वैक्सीनेशन को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने भी केंद्र से कई सवाल किए हैं। इस बीच सरकार ने कोर्ट से कहा है कि इस साल के अंत तक 188 करोड़ डोज मिलने की उम्मीद है ताकि सभी वयस्कों का टीकाकरण किया जा सके।

8. वैक्सीनेशन में जेंडर गैप भी देखने को मिल रहा है। देश के कुल वैक्सीनेशन में अब तक 54% पुरुष और 46% महिलाओं को टीका लगाया गया है। यानी 8% कम महिलाओं का टीकाकरण हुआ है। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल का कहना है कि इस अंतर को कम किया जाना जरूरी है।

9. देश में 12 से 18 साल की उम्र के बच्चों के लिए टीका अगस्त तक आने की उम्मीद है। जाइडस कैडिला की वैक्सीन के टेस्ट जुलाई लास्ट तक पूरे कर लिए जाएंगे। इसके बाद ये वैक्सीन बच्चों को दी जा सकेगी। जायडस कैडिला ने भारत से अपने टीके जायकोव-डी के इमरजेंसी यूज की मंजूरी मांगी है।

10. एम्स के चीफ डॉ. रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि टीकाकरण देश में स्कूल खोलने के लिए अहम भूमिका निभा सकता है। आईसीएमआर के मुताबिक, तीसरी लहर के आने तक हमें 6 से 8 महीने का वक्त मिलेगा। ऐसे में रोजाना एक करोड़ टीके लगाकर हम बड़ी आबादी को सुरक्षित कर सकते हैं। यही हमारा टारगेट है।

चीन ने किया सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन का दावा
कोरोना वायरस का ओरिजिन प्लेस माने जाने वाले चीन ने सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन का दावा किया है। चीनी सरकार के मुताबिक वहां 117 करोड़ वैक्सीन डोज लगाए गए हैं। 22.3 करोड़ लोगों को दोनों डोज लग चुके हैं। हालांकि, चीन के डेटा पर दुनिया भरोसा नहीं करती है। इसलिए इस डेटा को कहीं शामिल नहीं किया जाता। वहां अब तक कोरोना के सिर्फ 91 हजार मामले मिले हैं। इसके मुकाबले अमेरिका में यह संख्या साढ़े 3 करोड़ के करीब पहुंच चुकी है। चीन की ओर से बताया गया कोरोना से जुड़ा डेटा हमेशा संदिग्ध माना गया है।