• Hindi News
  • National
  • India Republic Day Parade 2022 Update : No Chief Guest At Gantantra Diwas

आधा घंटा लेट शुरू होगी रिपब्लिक-डे परेड:5000 आम लोगों को मिलेगी एंट्री, 19 हजार गेस्ट होंगे; लगातार दूसरे साल कोई विदेशी चीफ गेस्ट नहीं

4 महीने पहले

इस बार रिपब्लिक-डे परेड हर बार की तरह 10 बजे शुरू होने के बजाय आधा घंटा देरी से, यानी 10.30 बजे शुरू होगी। रक्षा मंत्रालय ने यह फैसला 26 जनवरी को दिल्ली में कोहरा रहने के पूर्वानुमान की वजह से लिया है।

रिपब्लिक-डे परेड में दूसरा बड़ा बदलाव यह है कि लगातार दूसरे साल किसी विदेशी चीफ गेस्ट को भी इन्विटेशन नहीं भेजा गया है। पहले 5 देशों के राष्ट्राध्यक्षों को गणतंत्र दिवस परेड में बतौर अतिथि बुलाने की तैयारी थी।

राजपथ पर कुल 24,000 लोगों को ही मिलेगी एंट्री
देश में कोरोना वायरस की तीसरी लहर को देखते हुए महज 24,000 लोगों को ही परेड देखने के लिए राजपथ पर आने की इजाजत मिलेगी। इनमें 19,000 लोग इन्विटेशन के जरिए आने वाले गेस्ट होंगे, जबकि आम लोगों में से महज 5,000 को ही एंट्री दी जाएगी। इन 5,000 लोगों को परेड देखने के लिए टिकट खरीदना होगा।

पिछले साल भी कोरोना वायरस के चलते 25,000 लोगों को ही राजपथ पर एंट्री दी गई थी, जबकि 26 जनवरी, 2020 की परेड को देखने के लिए राजपथ पर करीब 1.25 लाख लोग पहुंचे थे।

सुरक्षाबलों की महिला जवानों के स्टंट भी परेड में खास आकर्षण होंगे। BSF की महिला जवानों की टीम सीमा भवानी इस समय राजपथ पर जोरदार ट्रेनिंग में जुटी हुई है।
सुरक्षाबलों की महिला जवानों के स्टंट भी परेड में खास आकर्षण होंगे। BSF की महिला जवानों की टीम सीमा भवानी इस समय राजपथ पर जोरदार ट्रेनिंग में जुटी हुई है।

कोरोना के कारण विदेशी चीफ गेस्ट को इन्विटेशन नहीं
IANS की रिपोर्ट के मुताबिक, लगातार दूसरे साल किसी विदेशी चीफ गेस्ट को इन्विटेशन नहीं भेजा गया है। पहले तय किए गए 5 देशों के राष्ट्राध्यक्षों को भी अब नहीं बुलाया जा रहा है। इन देशों में कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, ताजिकिस्तान और उज्बेकिस्तान शामिल हैं। इन देशों में भी कोरोना के हालात बहुत अच्छे नहीं हैं। हालांकि, रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि अभी विदेश मंत्रालय की तरफ से इन देशों को इन्विटेशन नहीं भेजे जाने की पुष्टि नहीं की गई है।

एक ही बार कई देशों के प्रमुख एक साथ बने हैं चीफगेस्ट
यदि इस बार 5 देशों के राष्ट्राध्यक्ष चीफगेस्ट के तौर पर रिपब्लिक-डे परेड में शामिल होते हैं, तो यह महज दूसरा मौका होगा, जब भारत एक साथ कई देशों के प्रमुखों के समूह की चीफ गेस्ट के तौर पर अगवानी करेगा। इससे पहले 2018 में आसियान देशों के राष्ट्राध्यक्ष एक साथ रिपब्लिक-डे परेड में चीफ गेस्ट बने थे।

इस बार तय किए गए 5 देशों में से केवल कजाकिस्तान के राष्ट्र प्रमुख इससे पहले भी एक बार रिपब्लिक-डे परेड में चीफ गेस्ट रह चुके हैं। साल 2009 में कजाकिस्तान के तत्कालीन राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबाएव रिपब्लिक-डे में चीफ गेस्ट के तौर पर शामिल हुए थे।

रिपब्लिक-डे पर सुरक्षा को लेकर भी खास ध्यान रखा जा रहा है। इसके लिए सुरक्षा बल लगातार मॉक ड्रिल कर रहे हैं।
रिपब्लिक-डे पर सुरक्षा को लेकर भी खास ध्यान रखा जा रहा है। इसके लिए सुरक्षा बल लगातार मॉक ड्रिल कर रहे हैं।

पिछले साल ऐन मौके पर टला था ब्रिटिश PM का आना
सूत्रों के मुताबिक, कोरोना वायरस की हालत को देखते हुए सरकार विदेशी गेस्ट के मामले में कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है। इसलिए उन्हें बुलाने का प्लान कैंसिल होने की संभावना है। पिछले साल भी ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को चीफ गेस्ट के तौर पर बुलाया गया था, लेकिन बाद में ब्रिटेन में कोरोना वायरस के मामलों में बड़े पैमाने पर तेजी के कारण उनका दौरा अचानक कैंसिल हो गया था।

पहले भी बिना विदेशी चीफ गेस्ट के हुई है परेड
IANS की रिपोर्ट के मुताबिक, पहले भी रिपब्लिक-डे परेड का आयोजन बिना किसी विदेशी चीफ गेस्ट के हो चुका है। साल 1966 में जनवरी में ही तत्कालीन प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री का निधन होने पर इंदिरा गांधी ने 24 जनवरी को PM के तौर पर शपथ ली थी। उस साल भी किसी विदेशी चीफ गेस्ट के परेड सेरेमनी में नहीं बुलाया गया था।

10 विशाल LED स्क्रीन दिखाएंगी परेड से पहले सेना का जलवा
रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि राजपथ पर 10 विशाल LED स्क्रीन लगाई जा रही हैं। इनमें से 5 एक किनारे पर होंगी, जबकि 5 दूसरे किनारे पर लगाई जाएंगी। इन स्क्रीन पर परेड शुरू होने से पहले पुरानी रिपब्लिक-डे परेड की फुटेज और सेना के तीनों विंग्स की शॉर्ट फिल्म्स चलाई जाएंगी। परेड शुरू होने के बाद इन स्क्रीन पर उसका लाइव टेलिकास्ट होगा।

यह भी दिखेगा परेड में

  • 75 लड़ाकू विमान और हेलिकॉप्टर ट्रैडीशनल फ्लाई-पास्ट में हिस्सा लेंगे
  • इनमें राफेल, सुखोई, जगुआर, Mi-17, सारंग, अपाचे और डकोटा शामिल हैं।
  • एयरफोर्स के पायलट परेड में 15 अलग-अलग तरह के फ्लाई-पास्ट फॉर्मेशंस बनाएंगे।