धमकी / रूस से एस-400 डिफेंस सिस्टम का सौदा: अमेरिका ने कहा- भारत से रिश्तों पर गंभीर असर होगा



S-400 Missile deal with Russia; US says it will have serious impact in ties
X
S-400 Missile deal with Russia; US says it will have serious impact in ties

  • भारत और रूस के बीच पिछले साल अक्टूबर में हुआ था एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम का समझौता
  • अमेरिका ने हाल ही तुर्की से फाइटर जेट डील रद्द कर दी थी, क्योंकि उसने रूस से रक्षा समझौता किया था
  • अमेरिका दुश्मन देश से सौदा करने की वजह से भारत पर प्रतिबंध लगाने की चेतावनी दे चुका

Dainik Bhaskar

Jun 01, 2019, 08:03 AM IST

वॉशिंगटन. भारत और रूस के बीच पिछले साल हुई एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम डील पर अमेरिका ने नाराजगी जताई है। डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन ने गुरुवार रात धमकी देते हुए कहा है कि भारत का यह फैसला अमेरिका और भारत के रिश्तों पर गंभीर असर डालेगा। 

 

अमेरिकी विदेश विभाग के एक अफसर ने कहा, “नई दिल्ली का मॉस्को से रक्षा समझौता करना बड़ी बात है, क्योंकि ‘काट्सा कानून’ के तहत दुश्मनों से समझौता करने वालों पर अमेरिकी प्रतिबंध लागू होते हैं। ट्रम्प प्रशासन पहले ही साफ कर चुका है कि इस कानून के बावजूद समझौता करने वाले देश रूस को गलत संदेश पहुंचा रहे हैं। यह चिंता की बात है।’’ 

 

तुर्की पर हो चुकी कार्रवाई

अफसर ने नाम न बताने की शर्त पर कहा, “आप देख सकते हैं अमेरिका दुश्मनों से समझौता करने वालों पर कैसी कार्रवाई कर रहा है। हमने अपने नाटो पार्टनर तुर्की को भी एस-400 खरीदने के लिए कड़ा संदेश दिया है।” अमेरिका ने हाल ही में रूस से रक्षा समझौता करने के लिए तुर्की को लॉकहीड मार्टिन के एफ-35 फाइटर जेट बेचने पर रोक लगाई थी। 

 

भारत तय करे उसे किसका साथ चाहिए
अफसर ने कहा, “अमेरिका इस तरह के मामलों में हर देश से अलग तरह से निपटेगा। हालांकि, बड़ा मुद्दा यह है कि भारत के सैन्य रिश्ते किस तरफ जा रहे हैं। किसके साथ वह आधुनिक तकनीक और बेहतर माहौल साझा करना चाहता है। हमारे बीच कॉम्बैट एयरक्राफ्ट और कई अन्य विकसित हथियारों के समझौते पर बात चल रही है। ऐसे में भारत की एस-400 डील का बातचीत पर असर पड़ेगा।’’ 

 

काट्सा कानून के तहत प्रतिबंध लगा सकता है अमेरिका
दरअसल, अमेरिका काट्सा कानून के तहत अपने दुश्मन से हथियार खरीदने वाले देशों पर प्रतिबंध लगा सकता है। इस लिहाज से भारत भी रूस से हथियार खरीदने के लिए प्रतिबंधों के दायरे में आ सकता है, लेकिन अमेरिका और भारत का रक्षा व्यापार बीते समय में काफी बढ़ा है। इसके चलते वह भारत पर प्रतिबंध लगाने से बचना चाहता था।   

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना