सुरक्षा / रूस से एंटी टैंक मिसाइल खरीदेगा भारत, 200 करोड़ रु. में डील हुई



एमआई-35 हेलिकॉप्टर। एमआई-35 हेलिकॉप्टर।
X
एमआई-35 हेलिकॉप्टर।एमआई-35 हेलिकॉप्टर।

  • तीन महीने के भीतर ही भारतीय वायुसेना को मिसाइलें मिल जाएंगी
  • मिसाइलों को एमआई-35 हेलिकॉप्टरों में लगाया जाएगा, जिससे यह दुश्मनों के टैंक और हथियारों को नष्ट कर सकेगा

Dainik Bhaskar

Jun 30, 2019, 05:54 PM IST

नई दिल्ली. भारत रूस से एंटी-टैंक मिसाइल ‘स्ट्रम अटाका’ खरीदेगा। इसके लिए दोनों देशों के बीच 200 करोड़ रुपए का समझौता हुआ। मिसाइल को एमआई-35 हेलिकॉप्टर में लगाया जाएगा। सरकारी सूत्रों के मुताबिक, आपातकालीन नियमों के तहत रूस से एंटी-टैंक मिसाइल के लिए डील हुई है, जिसके अंतर्गत समझौते के तीन महीने के भीतर ही मिसाइलों की सप्लाई की जाएगी।

 

सूत्रों के मुताबिक, एंटी मिसाइल को युद्धक एमआई-35 में लगाए जाने से दुश्मनों के टैंक और अन्य हथियारों से निपटने की क्षमता हासिल हो जाएगी। एमआई-35 भारतीय वायुसेना का अटैकिंग हेलिकॉप्टर है। इसे अमेरिका के अपाचे की जगह लाया गया। भारत लंबे समय से रूस से मिसाइलें खरीदना चाहता था। लेकिन, एक दशक से ज्यादा समय से यह अटका हुआ था।

 

सेना युद्ध की स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहेगी

पिछले हफ्ते रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में आपातकालीन प्रावधानों के तहत तीनों सेनाओं की ओर से की जाने वाली खरीदारी के बारे में एक प्रजेंटेशन हुआ था। इसमें आपातकालीन प्रावधानों का इस्तेमाल कर हथियार खरीदने में भारतीय वायुसेना आगे रही।

 

सरकार के सूत्र के मुताबिक, तुरंत युद्ध की स्थिति के मद्देनजर आपातकालीन प्रावधान के तहत वायुसेना ने कई देशों के साथ स्पाइस 2000 स्टैंड ऑफ वेपन सिस्टम और कई स्पेयर और एयर टू एयर मिसाइल की डील की है।

 

फ्रांस से भी मिसाइल खरीदेगा भारत

भारतीय सेना फ्रांस से स्पाइक एंटी टैंक मिसाइल खरीदने की प्रक्रिया में है। साथ ही रूस से एयर डिफेंस मिसाइल तत्काल प्रभाव से खरीदने जा रही है। सूत्र के मुताबिक, 14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के कुछ दिनों के बाद ही तीनों सेनाओं को आपातकालीन शक्तियां दी गई थीं। इसके तहत सेना अपने जरूरत के हिसाब से 300 करोड़ रुपए के हथियार खरीद सकती है।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना