यूं ही नहीं था इमरान खान का डर, अभिनंदन को बंदी बनाए जाने के बाद हमले की तैयारी में था भारत, दे दी थी इतनी मिसाइल मारने की धमकी

इन दो लोगों के बीचबचाव के बाद टल गया था बड़ा संघर्ष, रिपोर्ट में हुआ खुलासा

dainikbhaskar.com

Mar 17, 2019, 04:52 PM IST
India threatened to fire at least six missiles at Pakistan

नेशनल डेस्क. पुलवामा में आतंकी हमले के बाद बालाकोट में की गई भारत की एयर स्ट्राइक और विंग कमांडर अभिनंदन के पाकिस्तान में पकड़े जाने के बाद दोनों देश युद्ध के मुहाने पर आकर खड़े हो गए थे। भारतीय विंग कमांडर के बंदी बनाए जाने के बाद भारत ने तो पाकिस्तान पर मिसाइल हमले की तैयारी कर भी ली थी हालांकि, अमेरिकी विदेश मंत्री और NSA के हस्तक्षेप के बाद भारत मान गया था। इस बात का दावा न्यूज एजेंसी रॉयटर्स ने अपनी एक रिपोर्ट में भारत, पाक और अमेरिकी सूत्रों से बातचीत के बाद किया है। रिपोर्ट के मुताबिक तनातनी के उस दौर में भारत ने कम से कम 6 मिसाइलें दागने की धमकी दी थी, वहीं जवाब में इस्लामाबाद ने भी 3 गुनी ज्यादा मिसाइलें दागने की बात कही थी। बता दें कि पाक पीएम इमरान खान ने जिस दिन अभिनंदन को छोड़ने की बात संसद में कही थी, उसी दिन उन्होंने कहा था कि भारत हम पर मिसाइल हमला कर सकता है।

डोभाल ने ISI प्रमुख से की थी बात...

- रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारत की एयर स्ट्राइक के अगले दिन यानी 27 फरवरी को पाकिस्तानी वायुसेना द्वारा सीमा लांघे जाने पर भारत ने प्रतिरोध किया था। इसी दौरान भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान पाकिस्तान में फंस गए थे।
- इसके बाद ही भारत ने पाकिस्तान को सीधे हमले की धमकी दे दी थी। राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल ने इस बारे में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI के प्रमुख असीम मुनीर से बात भी की थी।
- डोभाल ने सख्त लहजे में कहा कि पायलट अभिनंदन भले ही उनकी गिरफ्त में हो, लेकिन आतंकी संगठनों के खिलाफ भारत के रवैये में कोई अंतर नहीं आने वाला। अगर पाक नहीं सुधरा तो उस पर मिसाइलों से हमला किया जाएगा।

ट्रम्प-किम की मीटिंग के बीच भारत को समझाने में जुटा था अमेरिका

- दोनों देशों के बीच जब तनाव बढ़ रहा था तब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प उत्तर कोरिया के तानाशाह किम-जोंग-उन के साथ हनोई में मीटिंग कर रहे थे। हालांकि, इसके बावजूद मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जॉन बोल्टन और विदेश मंत्री माइक पोम्पियो भारत के साथ संपर्क में थे।
- भारत में तैनात एक विदेशी राजनायिक के मुताबिक, अमेरिका की पहली कोशिश पायलट अभिनंदन को छुड़ाने की थी। ऐसे में उसने भारत को इस बात के लिए मना लिया था कि पाकिस्तान पर हमले के लिए वो मिसाइलों का इस्तेमाल नहीं करेगा।
- भारत ने पाकिस्तान के भीतर चिन्हित किए गए 6 टारगेट्स पर मिसाइल हमले की धमकी दी थी। जवाब में पाकिस्तान ने कहा था, 'भारत जो कुछ भी करेगा, हम उसका तीन गुना जवाब देंगे।'
- सूत्रों के मुताबिक, इसके लिए अमेरिकी विदेशमंत्री ने पाक के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और अपनी भारतीय समकक्ष सुषमा स्वराज से फोन पर बात की थी। भारत-प्रशांत क्षेत्र के कमांडर एडमिरल फिल डेविडसन ने भी सिंगापुर में कबूल किया था कि वे भारतीय नौसेना के प्रमुख सुनील लांबा से संपर्क में हैं।

इमरान ने संसद में जताई थी भारत के हमले की आशंका

- 28 फरवरी को ट्रम्प ने वियतनाम के हनोई से ही कहा था कि उन्हें लगता है कि भारत-पाक के बीच चल रहा तनाव जल्दी खत्म हो जाएगा। इसके बाद संसद में पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने संसद में कहा कि वे भारतीय पायलट को रिहा करने जा रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा था कि भारत हम पर मिसाइल हमला कर सकता है, हालांकि बाद में उसे रोक दिया गया।

X
India threatened to fire at least six missiles at Pakistan
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना