पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • National
  • Bipin Rawat; Indian Army Staff General Bipin Rawat To Parliamentary Panel On India China Ladakh Broder Tension

लद्दाख में तनाव लंबा चलने के आसार:भारतीय सेना ने संसदीय पैनल से कहा- एलएसी पर चीन से लंबे समय तक निपटने और सर्दियों में तैनाती के लिए भी सेना तैयार

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारत-चीन सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच 8 अगस्त को मेजर जनरल लेवल की मीटिंग हुई थी। (फाइल फोटो)
  • सेना के टॉप कमांडरों ने कहा- भारत हर हर परिस्थिति के लिए तैयार है और लद्दाख क्षेत्र में इसके लिए सारी व्यवस्था कर ली गई है
  • भारत चाहता है कि 5 मई को पैंगोंग त्सो में हुए विवाद से पहले वाली स्थिति पूर्वी लद्दाख के सभी इलाकों में बरकरार हो

भारतीय सेना के टॉप अफसरों ने कहा है कि भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख में लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) पर चीन से लंबे समय तक निपटने के लिए तैयार है। उन्होंने संसदीय पैनल को बताया कि सेना भीषण सर्दियों में भी तैनाती के लिए बिल्कुल तैयार है।

सूत्रों के हवाले से न्यूज एजेंसी ने बताया कि चीफ ऑफ स्टाफ (सीडीएस) जनरल बिपिन रावत की अगुआई वाली अफसरों की टीम ने पैनल को बताया कि दोनों देशों के बीच डी-एस्कलेशन की प्रॉसेस में अभी और समय लग सकता है। लेकिन, भारत हर परिस्थिति के लिए तैयार है और लद्दाख क्षेत्र में इसके लिए सारी व्यवस्था कर ली गई है।

चीन ने ड्रिल की आड़ में बढ़ाई सेना
चीन ड्रिल की आड़ में भारत के बॉर्डर पर निर्माण कर रहा था। चीन ने सीमा पर तेजी से सैनिकों की तैनाती में इजाफा किया। सूत्रों के मुताबिक, चीन ने सीमा पर करीब 40 हजार सैनिक जमा कर लिए हैं। चीन ने अप्रैल-मई से ही इसी काम में जुटा है। भारत और चीन के बीच कई बार मिलिट्री लेवल की बातचीत हो चुकी है। लेकिन, इससे ज्यादा सफलता नहीं मिली। ऐसे लगता है कि चीन भारत पर दबाव बनाने के लिए मामले को लंबा खींचना चाहता है।

भारत भी पूरी तरह तैयार
भारतीय सेना ने भी पूरी तैयारी कर रखी है। भारत ने चीन को देप्सांग प्लेन्स समेत सभी तनाव वाले इलाकों से सेना पीछे हटाने को कहा है। भारत ने चीन की किसी भी हरकत को काउंटर करने के लिए पूरी तैयारी कर रखी है। भारतीय सेना ने लद्दाख सेक्टर में दो डिविजन में आगे बढ़ चुकी है, जहां पहले से ही पाकिस्तान और चीन से बचाव के लिए दो फॉर्मेशन तैनात किए गए हैं।

भारत-चीन की सेना के बीच 8 अगस्त को हुई थी चर्चा
भारत-चीन सीमा विवाद को सुलझाने के लिए दोनों देशों के बीच 8 अगस्त को मेजर जनरल लेवल की मीटिंग हुई थी। इस दौरान दोनों देशों के बीच पूर्वी लद्दाख के दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) और देप्सांग समेत लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (एलएसी) के तनाव वाले इलाकों से सेना पीछे हटाने को लेकर चर्चा हुई थी। भारत, चीन पर जल्द से जल्द सेना पीछे हटाने के लिए जोर दे रहा है। भारत चाहता है कि चीन पूर्वी लद्दाख के सभी इलाकों में 5 मई को पैंगोंग त्सो में हुए विवाद से पहले वाली स्थिति बहाल करे।

ये भी पढ़ सकते हैं...

1. भारत-चीन सीमा विवाद, दोनों देशों के बीच मेजर जनरल लेवल की 5वें दौर की मीटिंग 8.30 घंटे चली, देप्सांग समेत विवादित इलाकों से चीनी सेना हटाने पर बात हुई

2. भारतीय सेना ताकत बढ़ाएगी, लद्दाख सेक्टर में तैनात इजराइली हेरोन ड्रोन लेजर गाइडेड बम और मिसाइलों से लैस होंगे, सेना ने प्रपोजल भेजा

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप भावनात्मक रूप से सशक्त रहेंगे। ज्ञानवर्धक तथा रोचक कार्यों में समय व्यतीत होगा। परिवार के साथ धार्मिक स्थल पर जाने का भी प्रोग्राम बनेगा। आप अपने व्यक्तित्व में सकारात्मक रूप से परिवर्तन भ...

और पढ़ें