\'सियाचीन में -50 डिग्री सेल्सियस में भारतीय सैनिक हमारी रक्षा करते हैं, ऐसा हो जाता है उनका हाल..\' इस मैसेज के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है फोटो / 'सियाचीन में -50 डिग्री सेल्सियस में भारतीय सैनिक हमारी रक्षा करते हैं, ऐसा हो जाता है उनका हाल..' इस मैसेज के साथ सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है फोटो

DainikBhaskar.com

Jan 14, 2019, 07:47 PM IST

क्या सच में ये सियाचीन में तैनात जवान का फोटो है ? ये है तस्वीर के पीछे का पूरा सच

Indian Army viral Photo, its truth or fake post

नेशनल डेस्क. सोशल मीडिया पर अक्सर देशभक्ति और भारतीय सेना के नाम पर कई तरह की फर्जी खबरें और फोटो अक्सर सोशल मीडिया पर वायरल होती रहती हैं। इसी तरह की एक तस्वीर इन दिनों भी वायरल हो रही है, जिसको लेकर दावा किया जा रहा है कि ये फोटो सियाचीन में तैनात भारतीय सेना के जवान की है। इस फोटो में जवान के पैर पूरी तरह से गले हुए दिखाए दे रहे हैं।


क्या है वायरल फोटो में?

वायरल फोटो में एक सेना का जवान है, जिसके पैर पूरी तरह से गले हुए हैं। दावा किया जा रहा है कि सियाचिन की ठंड की वजह से वहां तैनात सेना के जवान के पैर पूरी तरह गल गए। वॉट्सऐप पर इस फोटो को शेयर करते हुए लिखा जा रहा है, "सियाचिन -50 डिग्री सेल्सियस तापमान पर भारतीय सैनिक हमारी रक्षा करते हुए।"

पड़ताल : क्यों झूठा है ये दावा?

इस फोटो की सच्चाई जानने के लिए जब हमने गूगल रिवर्स इमेज पर इसे ढूंढा तो हमें कई सारी लिंक मिली जहां इस फोटो को इसी दावे के साथ शेयर किया गया था। पड़ताल करने पर हमें एक चीनी वेबसाइट www.clien.net मिली, जिसपर यही फोटो लगी हुई थी। इस वेबसाइट पर यही फोटो एकदम साफ क्वालिटी पर अपलोड की गई थी, जिसके ऊपर "U.S." लिखा हुआ है, जिससे पता चलता है कि ये फोटो अमेरिकी सेना के जवान की है।

यूनिफॉर्म से खुली पोल : इसके अलावा जब भारतीय सेना और अमेरिकी सेना की यूनिफॉर्म को देखा तो पता चला कि वायरल फोटो में जो सैनिक है, वो अमेरिकी सेना का ही है। भारतीय सेना और अमेरिकी सेना की यूनिफॉर्म में काफी अंतर होता है।हालांकि, हमें ये तो नहीं पता चला सका कि ये फोटो कबका और किसका है, लेकिन इतना सच है कि जिस फोटो को भारतीय सेना के नाम पर फैलाया जा रहा है, वो अमेरिकी सेना की फोटो है।

ज्यादा देर पानी में रहने से हो जाते हैं ऐसे पैर

सेना के जवानों की अक्सर ऐसी जगह ड्यूटी होती है, जहां दलदल या ज्यादा पानी होता है जिस वजह से उनके पैर ज्यादा देर तक पानी में खड़े होने की वजह से गलने लगते हैं। इसे 'ट्रेंच फुट' कहा जाता है। जबकि बर्फ या ज्यादा ठंड की वजह से पैरों को नुकसान जो पहुंचता है, उसे 'फ्रॉस्टबाइट' कहते हैं। ट्रेंच फुट अक्सर 0-15 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर होते हैं और इनकी संभावना तब ज्यादा बढ़ जाती है, जब पैर लगातार गीले होते रहते हैं। कुछ लोगों में इस तरह की समस्या कुछ ही देर में दिखाई देने लगती है, जबकि कुछ लोगों को हफ्ते भर बाद पैर गलने की समस्या आती है। ट्रेंच फुट की समस्या सेना के जवानों में ज्यादा देखने को मिलती है, हालांकि बेघर लोगों के साथ भी ये समस्या होती है।
- वहीं, सियाचिन या ठंडी जगह पर ज्यादा समय तक रहने से हायपोथर्मिया हो जाता है। दरअसल, हमारे शरीर का तापमान 37 डिग्री सेल्सियस होता है, लेकिन इस तापमान से नीचे जाने पर हमारे शरीर का तापमान गिरने लगता है और शरीर सुन्न हो जाता है। ज्यादा देर तक ऐसा होने पर मौत भी हो सकती है। हालांकि, सियाचिन में जवानों को ट्रेनिंग के बाद ही तैनात किया जाता है।

X
Indian Army viral Photo, its truth or fake post
COMMENT