नौसेना प्रमुख बनकर भी नहीं भूले संस्कार:25वें नेवी चीफ बने एडमिरल आर. हरि कुमार, चार्ज लेते ही मां के पैर छूकर लिया आशीर्वाद

नई दिल्ली6 महीने पहले

एडमिरल आर. हरि कुमार ने मंगलवार को भारतीय नौसेना के 25वें नेवी चीफ का पदभार संभाला। इस मौके पर देश को भारतीय संस्कार की झलक देखने को मिली। इतने बड़े पद पर पहुंचने के बाद भी एडमिरल कुमार अपना संस्कार नहीं भूले। दरअसल, पदभार संभालने के बाद कुमार भावुक हो गए और उन्होंने अपनी मां के पैर छूकर आशीर्वाद लिया। मां ने गले लगा कर बेटे को बधाई दी।

न्यूज एजेंसी ANI ने एक वीडियो जारी किया है जिसमें एडमिरल कुमार मां के पैर छूकर आशीर्वाद लेते दिखाई दे रहे हैं। नए नौसेना प्रमुख को साउथ ब्लॉक लॉन में गार्ड ऑफ ऑनर देकर सम्मानित किया गया।

अपनी मां के गले लगकर मुस्कुराते हुए एडमिरल कुमार।
अपनी मां के गले लगकर मुस्कुराते हुए एडमिरल कुमार।

पद ग्रहण के मौके पर कुमार ने कहा- एडमिरल करमबीर सिंह 41 साल तक देश सेवा करने के बाद आज सेवानिवृत्त हो रहे हैं। हम उनके नेतृत्व और मार्गदर्शन के लिए आभारी हैं। भारतीय नौसेना हमेशा उनकी आभारी रहेगी।

1983 में भारतीय नौसेना में हुए शामिल
एडमिरल कुमार नोसेना की बागडोर संभालने से पहले पश्चिमी नौसेना कमान के कमांडर इन चीफ रह चुके हैं। 12 अप्रैल 1962 को जन्मे एडमिरल कुमार 1 जनवरी 1983 को भारतीय नौसेना में शामिल हुए थे। करीब 38 साल की अपनी लंबी एवं विशिष्ट सेवा के दौरान एडमिरल कुमार ने अलग-अलग कमानों और स्टाफ में अपनी सेवाएं दी हैं।

इनमें कोस्ट गार्ड शिप C-01, भारतीय नौसेना के जहाजों की कमान के साथ निशंक, कोरा, रणवीर और एयर क्राफ्ट कैरियर INS विराट जैसे जहाज शामिल हैं।

करमबीर सिंह बोले- 30 महीने नौसेना प्रमुख रहना गर्व की बात
पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह ने कहा- पिछले 30 महीने भारतीय नौसेना के प्रमुख के रूप में काम करना मेरे लिए बहुत ही गर्व की बात है। इस दौरान देश और नौसेना ने कोविड महामारी के वक्त मुश्किल समय का सामना किया है। नौसेना ने इस कठिन समय में अपना सर्वश्रेष्ठ दिखाते हुए कार्य किया।