पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

देश में संक्रमण के मामले 30 लाख के पार:संक्रमण के 20 लाख मामले मिलने में 206 दिन लगे, बाकी 10 लाख मामले केवल 16 दिन में मिल गए

नई दिल्लीएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • अमेरिका और ब्राजील के बाद भारत में सबसे ज्यादा मरीज
  • देश में महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा 6 लाख 71 हजार संक्रमित

देश में शनिवार को संक्रमण के मामले 30 लाख से ज्यादा हो गए। 30 जनवरी को पहला मामला सामने आया था। 222 दिन बाद यानी शनिवार को देश में मरीजों का आंकड़ा 30 लाख के पार हो गया। हैरानी की बात यह है कि संक्रमण के 20 लाख मामले मिलने में 206 दिन लगे थे। जबकि संक्रमण के 10 लाख मामले केवल 16 दिन में मिल गए। देश में 5 अगस्त के बाद से हर दिन लगभग 60 हजार मरीज मिल रहे हैं।

देश में पांच सबसे संक्रमित राज्य

राज्य

संक्रमितमौतेंठीक हुए
महाराष्ट्र6,71,94221,9954,80,114
तमिलनाडु3,67,4306,3403,07,677
आंध्र प्रदेश3,45,2163,1892,52,638
कर्नाटक2,64,5464,5221,76,942
उत्तर प्रदेश1,82,4562,8671,31,295

तीसरा संक्रमित देश भारत

भारत में शुक्रवार को 69,029 मामलों की पुष्टि हुई थी। आंकड़ों के अनुसार, भारत दुनिया में तीसरा सबसे संक्रमित देश है। 58 लाख 2 हजार 145 केस के साथ अमेरिका पहले नंबर पर है, जबकि दूसरा सबसे संक्रमित देश ब्राजील है, जहां 35 लाख 36 हजार 488 मरीज हैं।

फोटो नई दिल्ली की है। पीपीई किट पहने हेल्थ वर्कर शनिवार को कोरोना से जान गंवाने वाले युवक का दाह संस्कार करने श्मशान घाट पहुंचे। दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 1 लाख 60 हजार से ज्यादा है।
फोटो नई दिल्ली की है। पीपीई किट पहने हेल्थ वर्कर शनिवार को कोरोना से जान गंवाने वाले युवक का दाह संस्कार करने श्मशान घाट पहुंचे। दिल्ली में संक्रमितों की संख्या 1 लाख 60 हजार से ज्यादा है।

पहले 10 लाख केस होने में 138 दिन लगे थे

20 लाख से 30 लाख मामले होने में ब्राजील में 23 दिन और अमेरिका में 28 दिन लगे। तीनों देशों में से भारत में 10 लाख केस होने में सबसे ज्यादा 138 दिन लगे। लेकिन तब से, भारत में मिलने वाले मामलों में सबसे तेजी से वृद्धि हुई है। अमेरिका में 43 दिन और ब्राजील में 27 दिनों की तुलना में 10 से 20 लाख मामले होने में भारत को 21 दिन लगे।

अमेरिका, ब्राजील की तुलना में भारत में मृत्यु दर कम

हालांकि, भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या दोनों देशों की तुलना में बहुत कम है। 30 लाख मरीजों पर अमेरिका में मरने वालों की संख्या 1.3 लाख से ज्यादा थी, जबकि ब्राजील में यह आंकड़ा 1 लाख से ज्यादा था। इस बीच, भारत में एक्टिव केस शुक्रवार को 7 लाख से ज्यादा हो गए। 6 से 7 लाख होने में 16 दिन लगे। इसके विपरीत, सक्रिय मामले केवल नौ दिनों में 5 लाख से 6 लाख तक बढ़ गए थे।

ये भी पढ़ें...

भारतीय और जर्मन शोधकर्ताओं की रिसर्च:कोरोना को रोकने के लिए सलाह, घर के अंदर नमी 40 से 60 फीसदी ही रखें; इससे सांस लेने पर नाक में वायरस पहुंचने का खतरा कम

खबरें और भी हैं...