गृह मंत्री अमित शाह की IB के साथ बैठक:भारत की आंतरिक सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बुधवार को दिल्ली में देशभर के इंटेलिजेंस ब्यूरो (IB) के अधिकारियों के साथ हाई लेवल मीटिंग की। इसमें उन्होंने भारत की आंतरिक सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की। साथ ही राज्यों की आतंकवाद विरोधी और एंटी ड्रग एजेंसियों के बीच इनफार्मेशन शेयर करने और संपर्क बढ़ाने की प्रक्रिया को और मजबूत करने का सुझाव दिया।

बैठक में गृह मंत्री ने नक्सलवाद को नियंत्रित करने के लिए इसके फाइनेंशियल सपोर्ट सिस्टम को खत्म करने पर जोर देने के लिए कहा। इसके साथ ही उन्होंने देश की तटीय सुरक्षा को बढ़ाने और सबसे छोटे और सबसे अलग बंदरगाह पर भी कड़ी नजर रखने का सुझाव दिया।

ड्रोन के जरिए सीमा पार से ड्रग्स की तस्करी रोकी जाए
गृह मंत्री ने सीमा पार से नशीली दवाओं की तस्करी को रोकने के लिए ड्रोन का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करने के लिए कहा। शाह ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा- नारकोटिक्स न केवल देश के युवाओं को बर्बाद करता है बल्कि इससे अर्जित धन देश की आंतरिक सुरक्षा को भी प्रभावित करता है, इसलिए हमें इसे मिलकर खत्म करना होगा।

बैठक में इन मुद्दों पर हुई चर्चा
शाह ने कहा- हमारी लड़ाई आतंकवाद के साथ-साथ इसकी सपोर्ट सिस्टम के खिलाफ भी है। बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई। इसमें आतंकवाद का मुकाबला, चरमपंथ से खतरा, साइबर सुरक्षा से संबंधित मुद्दे, सीमा से संबंधित पहलू और सीमा पार तत्वों से राष्ट्र की अखंडता और स्थिरता के लिए खतरे जैसे मुद्दे शामिल रहे।

बैठक सुबह 11 बजे शुरू हुई और शाम 5 बजे खत्म हुई। इसमें देश भर के अधिकारियों ने भी भाग लिया जो खुफिया संबंधी मुद्दों से संबंधित थे। केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला और आईबी प्रमुख तपन डेका भी बैठक में शामिल हुए।