• Hindi News
  • National
  • Infosys Share Price NSE Today | Infosys Share Price Falls After Complaints Against CEO Salil Parekh

इन्फोसिस / सीईओ के खिलाफ शिकायत से शेयर 17% लुढ़का, निवेशकों को 50639 करोड़ रु का नुकसान



इन्फोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख। इन्फोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख।
X
इन्फोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख।इन्फोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख।

  • व्हिसल ब्लोअर का सीईओ सलिल पारेख पर आरोप- कंपनी का प्रॉफिट बढ़ाने की कोशिश में अकाउंटिंग में गड़बड़ी की
  • सीएफओ निलंजन रॉय के खिलाफ भी शिकायत, इन्फोसिस ने कहा- जांच की जाएगी

Dainik Bhaskar

Oct 22, 2019, 05:19 PM IST

बेंगलुरू. इन्फोसिस के सीईओ और सीएफओ पर अकाउंटिंग में गड़बड़ी के आरोपों की वजह से कंपनी का शेयर मंगलवार को 17% लुढ़क गया। यह पिछले 6 साल में एक दिन की सबसे बड़ी गिरावट है। बीएसई पर शेयर 16.21% गिरावट के साथ 643.30 रुपए पर और एनएसई पर 16.65% नीचे 640 रुपए पर बंद हुआ। बीएसई पर इन्फोसिस का मार्केट कैप घटकर 2,76,300 करोड़ रुपए रह गया। शुक्रवार को 3,26,939 करोड़ रुपए था। इस तरह निवेशकों को 50,639 करोड़ का नुकसान हुआ।

 

सीईओ सलिल पारेख और सीएफओ निलंजन रॉय पर अकाउंटिंग में गड़बड़ी कर कंपनी का प्रॉफिट बढ़ाने की कोशिशों के आरोप लगे हैं। 'एथिकल एम्प्लॉयी' नाम से कर्मचारियों के अज्ञात ग्रुप ने इस संबंध में कंपनी के बोर्ड को 20 सितंबर को पत्र लिखा, जिसकी जानकारी सोमवार को सामने आई।

शिकायतकर्ता ने पारेख की अमेरिका यात्रा पर भी सवाल उठाए

  1. पारेख और रॉय पर आरोप हैं कि उन्होंने अनैतिक तरीका अपनाकर शॉर्ट टर्म में कंपनी का रेवेन्यू और प्रॉफिट बढ़ाने की कोशिश की। आंकड़ों में हेर-फेर करने और ऑडिटर को अंधेरे में रखने का भी आरोप है। इन्फोसिस के चेयरमैन नंदन नीलेकणि ने मंगलवार को बताया कि दो शिकायतें मिली हैं। एक शिकायत में सीईओ पारेख की अमेरिका और मुंबई यात्रा को लेकर भी सवाल उठाए गए हैं। आरोपों की जांच की जाएगी। सीईओ और सीएफओ को इससे दूर रखा गया है।

  2. व्हिसल ब्लोअर ने कहा कि पारेख ने बड़े सौदों की समीक्षा रिपोर्ट नजर अंदाज की। ऑडिटर और कंपनी बोर्ड से मिली सूचनाएं छिपाईं। बोर्ड और ऑडिटर की मंजूरी लिए बिना 'निवेश नीति और अकाउंटिंग' में बदलाव किए ताकि शॉर्ट टर्म में इन्फोसिस का मुनाफा ज्यादा दिखे।

  3. व्हिसल ब्लोअर ने इस मामले से जुड़े ई-मेल और वॉइस रिकॉर्डिंग होने का दावा किया है। साथ ही कहा- हमें उम्मीद है कि इन्फोसिस का बोर्ड इस मामले में उचित जांच कर कार्रवाई करेगा। शिकायतकर्ताओं ने इन्फोसिस बोर्ड के साथ ही अमेरिका के सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन को भी पत्र लिखा है। इन्फोसिस अमेरिकी शेयर बाजार में भी लिस्टेड है।

     

    DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना