इंटरव्यू / बंगाल में राज्य सरकार की तानाशाही के कारण हिंसा हुई, सत्ता पर पेशेवर अपराधियों का कब्जा- योगी



interview with cm Yogi Adityanath
X
interview with cm Yogi Adityanath

  • योगी ने दैनिक भास्कर से बातचीत में दावा करते हुए कहा कि जनता भाजपा के साथ
  • उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में हम गोरखपुर सहित 74 सीटें जीत रहे हैं

Dainik Bhaskar

May 16, 2019, 11:51 PM IST

वाराणसी (विजय उपाध्याय). उत्तर प्रदेश में भाजपा तीन लोकसभा सीटों गोरखपुर, फूलपुर, कैराना में हुए उपचुनाव में हार गई थी। गोरखपुर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सीट थी। साल 2017 के बाद हुए इस उपचुनाव में भाजपा की गठबंधन से सीधी टक्कर रही। अब कांग्रेस जोश में है। उसने छोटे दलों के साथ भाजपा की घेराबंदी की है। अंतिम चरण में यूपी की 13 सीटों पर चुनाव है। इस पर सीएम योगी ने दैनिक भास्कर से बातचीत की। उन्होंने दावा किया कि इस चुनाव में गठबंधन नाकाम है। जनता भाजपा के साथ है।
 

सवाल: यूपी में भाजपा उपचुनाव में गोरखपुर सहित तीन सीटें हारी थीं। अब अंतिम चरण की 13 सीटों पर क्या होगा?
जवाब: भाजपा सभी 13 सीटों पर क्लीन स्वीप करेगी। गठबंधन पहले चरण में फेल हो गया। हताश विपक्ष प्रधानमंत्री की जाति पूछ रहा है। यूपी में हम गोरखपुर सहित 74 सीटें जीतेंगे। मोदी जी के नाम और काम के कारण जनता हमारे साथ है। यूपी में एक भी दंगा नहीं हुआ। सिर्फ विकास हुआ।


सवाल: प्रियंका गांधी पूर्वी यूपी में सक्रिय हैं। सपा-बसपा साझा रैलियां कर रहे हैं। भाजपा के वोट कैसे बचेंगे?
जवाब:
कांग्रेस की नेता (प्रियंका गांधी वाड्रा) ने कहा कि राम जन्मभूमि विवादित है। जबकि हाईकोर्ट में साबित हो चुका है कि वह स्थान ही राम जन्मभूमि है। एेसे में कांग्रेस नेता की टिप्पणी आहत करती है। कभी कांग्रेस सरकार ने राम और कृष्ण को मिथक बताया था। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी को जय श्रीराम कहने से नफरत है। जहां तक गठबंधन की बात है, यह जातिवाद- भ्रष्टाचार का गठजोड़ है। जनता जवाब देगी।


सवाल: आप ने बंगाल में चुनाव दौरे किए। तृणमूल कांग्रेस का आरोप है कि बंगाल में हिंसा के पीछे भाजपा है?
जवाब: ममता दीदी की सरकार लोकतंत्र का काला अध्याय है। बंगाल में हिंसा का कारण वहां की प्रशासनिक मशीनरी और सरकार की तानाशाही है। सरकार पर पेशेवर अपराधियों और माफिया का कब्जा है। वहां पंचायत चुनाव में भी भारी हिंसा हुई थी। लोकसभा चुनाव के पिछले छह चरण में भी पूरे देश में सर्वाधिक हिंसा बंगाल में हुई।


सवाल: भाजपा चौतरफा घिरती दिख रही है। बंगाल से पार्टी को बहुत उम्मीद थी। वहां कितनी सीटें जीत पाएंगे?
जवाब: दीदी हताश है। बंगाल सरकार ने बुधवार को मेरी तीन सभाएं रद्द करा दीं। तीन दिन पहले अनुमति दी थी। हमने चुनाव आयोग से शिकायत की तो दो सभा के लिए एक घंटे पहले अनुमति दी। कैसे डिस्टर्ब करें, ये कोशिश हो रही है। इसके बावजूद भाजपा बंगाल में 26 से 30 सीटें जीतेगी। हार को सामने देखकर तृणमूल कांग्रेस बौखला गई है। 


सवाल: क्या बंगाल में भाजपा वाम दलों और तृणमूल कांग्रेस का विकल्प बन रही है। यदि हां, तो आधार क्या है?
जवाब: बंगाल में पहले कांग्रेस, फिर सीपीएम, अब तृणमूल कांग्रेस की सत्ता है। तृणमूल ने जनता का शोषण किया। 130 साल पहले बंकिमचंद चटर्जी ने अपनी किताब आनंदमठ में बंगाल की जिस बदहाली का जिक्र किया था, वह कई क्षेत्रों में आज भी मौजूद है। केंद्र सरकार की कल्याण योजनाएं बंगाल की सरकार ने लागू नहीं की। 


सवाल: ममता बनर्जी का आरोप है कि भाजपा के लोगों ने ईश्वरचंद्र विद्यासागर की मूर्ति तोड़ी।
जवाब: दीदी एक झूठ 100 बार बोलकर उसे सच साबित करना चाहती हैं। जहां मूर्ति टूटी, वहां सीसीटीवी है। बंगाल सरकार फुटेज सार्वजनिक करे। राज्य सरकार ने उन स्कूलों को बंद किया, जिन्हें ईश्वरचंद्र विद्यासागर ने स्थापित कराया था। हम मूर्ति पूजक हैं। दीदी के ज्यादातर समर्थक मूर्ति विरोधी हैं। मूर्ति कैंपस में थी। भाजपा का रोड शो बाहर सड़क पर चल रहा था।

 

सवाल: चुनाव में नेता अभद्र भाषा बोल रहे हैं। चुनाव आयोग ने आप पर भी इसी आरोप में 72 घंटे तक प्रचार करने की रोक लगाई थी? 
जवाब: विपक्षी दलों में हताश और निराश लोग हैं। ये लोग इसलिए एकजुट हो गए, क्योंकि इन्हें पता है कि केंद्र में दोबारा मोदी सरकार बनेगी। मोदी सरकार भ्रष्ट लोगों को नहीं छोड़ेगी। लोग चुनाव जीतने के लिए निचले स्तर पर हमले कर रहे हैं। राजनीति में सामान्य शिष्टाचार का पालन होना चाहिए। जहां तक मेरी बात है, मैं अभद्र भाषा का इस्तेमाल नहीं करता।

 

सवाल: ऐसी चर्चा है कि अल्पसंख्यक मतदाता भाजपा के खिलाफ गठबंधन का साथ निभा रहे हैं। भाजपा की रणनीति क्या है?
जवाब: मोदी जी की रणनीति है सबका विकास हो। किसी का तुष्टिकरण नहीं हो। जो लोग तुष्टिकरण के नाम पर अल्पसंख्यकों को वोट बैंक बना रहे हैं, उन्होंने ही उनका सबसे ज्यादा अहित किया है। भाजपा शासन में 17 फीसदी अल्पसंख्यकों को विकास में 30 प्रतिशत की हिस्सेदारी की है। विकास को मजहब में बांट दिया जाए तो 30 प्रतिशत लाभ नहीं मिल सकता। आज भी किसी पर मजहबी जूनून सवार है तो अपने पैर पर कुल्हाड़ी मार रहे हैं।

 

सवाल: चुनाव के दौरान नेता मंदिरों में मत्था टेक रहे हैं। आप भी मंदिरों में जा रहे हैं। 
जवाब: यह हमारी वैचारिक सफलता है। लेकिन छद्मरूप में जनता को गुमराह न करिये। जो लोग खुद को एक्सीटेंटली हिंदू कहते थे उनकी चौथी पीढ़ी जनऊधारी हो गई। मंदिर जाना अच्छा है। कोई भी जाए या न जाए, कोई दिक्कत नहीं, लेकिन आस्था के साथ खिलवाड़ करने का हक किसी को नहीं है। 


सवाल: चुनाव का अब अंतिम चरण है तो क्या लगता है कि आपकी पार्टी द्वारा बनाया गया लक्ष्य मिलेगा या नुकसान होगा। 
जवाब:
चुनाव का ‘मोड’ शुरू से ही मोदी जी के पक्ष में है। पहला चुनाव है जब जनता सामने आकर लड़ रही है। प्रत्याशी पीछे है। स्वाभाविक है कि जनता पीएम मोदी को उनके नाम व काम पर समर्थन दे रही है। भाजपा उप्र में अपने सहयोगियों के साथ 74 प्लस जीतेगी। पूरे देश में सहयोगियों के साथ 400 प्लस सीट पाएगी।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना