--Advertisement--

फोटो स्टोरी /बस्तर में लोगों ने वोट दिया पर स्याही नहीं लगवाई, कहा- नक्सली मार देंगे

Dainik Bhaskar

Apr 12, 2019, 12:12 PM IST


intresting photo story of loksabha election 2019
X
intresting photo story of loksabha election 2019
  • comment

रायपुर.  छत्तीसगढ़ में बस्तर लोकसभा सीट के लिए हुए मतदान में हाल में हुईं नक्सल घटनाओं के बावजूद 61% से ज्यादा वोटिंग हुई। पिछली बार ये 59% थी। सुकमा-बीजापुर में नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार किया था, फिर भी वोट प्रतिशत बढ़ा। शहरों में मतदान औसत 50% के पार रहा।

दहशत के बीच बूथों में ग्रामीण पहुंचे तो जरूर, लेकिन इस बार स्थिति थोड़ी अलग देखने को मिली। वोट देने के बाद ग्रामीणों ने ऊंगलियों पर अमिट स्याही नहीं लगवाई। उन्हें डर था कि नक्सली स्याही देखकर पहचान न लें। भास्कर की टीम मुचनार गांव पहुंची। बारसूर से मुचनार के बीच रास्तेभर सन्नाटा। यहां करीब 70 साल की एक बुजुर्ग महिला से पूछा गया कि आप वोट देने गईं थी या नहीं, महिला ने कुछ देर से सहमते हुए जवाब दिया- गई थी, लेकिन किसी से मत कहना। उसने अपने अंगूठे को दिखाया और बताया कि अंगूठा लगाकर आ रही हूं। अमिट स्याही नहीं लगवाई, क्योंकि जान का खतरा है।

  • गुजरात: 543 कुर्सियों से बना लोकतंत्र का स्कल्पचर

    गुजरात: 543 कुर्सियों से बना लोकतंत्र का स्कल्पचर

    वडोदरा. गुजरात के वडोदरा में कुर्सियों का स्कल्पचर बनाया गया है। लकड़ी की 543 कुर्सियों से तैयार ये स्कल्पचर संदेश देता है कि सब एक दूसरे से जुड़े हैं और कोई भी हटा तो यह बिखर सकता है। संसद में लगी कुर्सियों का अध्ययन कर महाराजा सयाजीराव विश्वविद्यालय के फाइन ऑर्ट्स के छात्र चेतन परमार और उनके साथियों ने 20 दिन में इसे आकार दिया। 

  • गुजरात : मोदी की सभा में 15 हजार लीटर छाछ पिलाई

    गुजरात : मोदी की सभा में 15 हजार लीटर छाछ पिलाई

    गांधीनगर.  गुजरात के सोनगढ़ के गुणसदा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सभा में आए लोगों को गर्मी से राहत दिलाने के लिए 15 हजार लीटर छाछ से भरा टैंकर मंगवाया गया। इसके अलावा 36 हजार लीटर पानी से भरे हुए टैंकर भी मंगवाए गए। तेज गर्मी के दौरान लोगों में प्यास बुझाने की होड़ कुछ ऐसी दिखी। यहां गर्मी और कड़ी धूप से बचने के लिए पंडाल में 6 लाइन में स्प्रिंकलर लगाए गए थे। यहां रखी गई कुर्सियों को लॉक किया गया था। पहले व्यारा में सभा की घोषणा की गई थी, पर पर्याप्त जगह न होने के कारण रद्द कर दी गई। अब गुणसदा में सुगर फैक्ट्री के नजदीक सभा की गई है। मौसम विभाग के अनुसार, सोनगढ़ में बुधवार को 42 डिग्री तापमान रहा। लोगों को कड़ी धूप और गर्मी से बचाने के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी।

  • छत्तीसगढ़ : राजनाथ आंधी के बाद बीच में सभा खत्म की

    छत्तीसगढ़ : राजनाथ आंधी  के बाद बीच में सभा खत्म की

    भिलाई. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह की सभा गुरुवार को भिलाई में हुई। सभा को आधे में ही खत्म करना पड़ा, क्योंकि तेज आंधी और तूफान की वजह से पंडाल गिरने लगे थे। कुर्सियां भी बिखर गईं। लोग पंडाल छोड़कर जा रहे थे। इतने में राजनाथ सिंह ने ऐलान कर दिया कि अब सभा खत्म करनी पड़ेगी, क्योंकि आंधी आ रही है। उन्होंने भाजपा प्रत्याशी विजय बघेल के समर्थन में सभा की।

  • छत्तीसगढ़: सेल्फी लेने वालों की होड़ में मंत्री से बात नहीं कर पाई महिला

    छत्तीसगढ़: सेल्फी लेने वालों की होड़ में मंत्री से बात नहीं कर पाई महिला

    रायपुर. बुझा हुआ मन लिए मंच से उतर रही ये वृद्धा हैं सराईपाली की पद्मा ठाकुर। पिछले कई सालों से अटल आवास की अर्जी लिए अफसर-नेताओं से मिलने की कोशिश इनके जीवन का हिस्सा सा बन गया है। गुरुवार को पद्मा को पता चला कि सराईपाली के राजमहल मैदान में होने वाली सभा में कांग्रेस के मंत्री-नेता आने वाले हैं। सभा दोपहर बाद होनी थी, लेकिन वह दोपहर 12 बजे से ही मैदान पहुंच गईं। शाम 5 बजे मंत्री टीएस सिंहदेव मंच पर आए तो उनके साथ समर्थकों की भीड़ भी पहुंच गई। पद्मा जैसे-तैसे मंच पर चढ़ गईं। सिंहदेव को ज्ञापन भी दिया, लेकिन सेल्फी-फोटो ले रहे समर्थकों की होड़ के चलते वह मंत्री को कुछ नहीं बोल पाई। समर्थकों की भीड़ ने उन्हें पीछे कर दिया।

  • छत्तीसगढ़: नक्सली हमले में मारे गए विधायक मंडावी का पूरा परिवार वोट देने पहुंचा

    छत्तीसगढ़: नक्सली हमले में मारे गए विधायक मंडावी का पूरा परिवार वोट देने पहुंचा

    रायपुर. नक्सली हमले में मारे गए भाजपा विधायक भीमा मंडावी की पत्नी ओजस्वी मंडाली परिवार समेत वोट देने पहुंची। परिवार ने दंतेवाड़ा जिले के गृहग्राम गदापाल के पोलिंग बूथ पर मतदान किया। मंगलवार को नक्सलियों ने हमला करके भाजपा विधायक की हत्या कर दी थी। विधायक के काफिले पर हुए हमले में चार जवान भी शहीद हो गए थे।


    गुरुवार को बस्तर लोकसभा सीट के लिए हुए मतदान में हाल में हुईं नक्सल घटनाओं के बावजूद 61% से ज्यादा वोटिंग हुई। पिछली बार ये 59% थी। सुकमा-बीजापुर में नक्सलियों ने चुनाव बहिष्कार किया था, फिर भी वोट प्रतिशत बढ़ा। शहरों में मतदान औसत 50% के पार रहा।


    नकुलनार. नक्सलियों ने कुआकोंडा ब्लॉक मुख्यालय से 4 किमी दूर हल्बारास पोलिंग बूथ पर चुनाव बहिष्कार के पर्चे फेंके थे।
     

  • छत्तीसगढ़: छातों में लिखा मतदान करने का संदेश

    छत्तीसगढ़: छातों में लिखा मतदान करने का संदेश

    रायपुर.  लोगों को मतदान के लिए जागरूक करने मोर रायपुर-वोट रायपुर अभियान के तहत गुरुवार को महिला एवं बाल विकास विभाग की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, बीएलओ, स्व-सहायता समूहों की महिलाएं और सामाजिक महिला कार्यकर्ताओं ने अनोखी छाता रैली निकाली। इसमें महिलाओं ने छातों में मतदान करने के लिए संदेश लिखे। महिलाएं तेज गर्मी में छाते लेकर सड़कों पर निकली और सभी से 23 अप्रैल को अनिवार्य रूप से मतदान करने की अपील की। महिलाओं ने बताया कि इस जागरूकता अभियान के तहत आंगनबाड़ी केंद्रों में मेहंदी डिजाइन, जागरूकता रैली के साथ-साथ संकल्प व ई-मिलेनियम चेन के लिए ऑनलाइन शपथ दिलाने का काम भी किया जा रहा है। अफसरों ने बताया कि पर्यवेक्षक आभा शर्मा के नेतृत्व में समूह की महिलाओं, सेक्टर की कार्यकर्ताओं ने छाता मतदाता जागरूकता रैली निकलकर मतदान का संदेश दिया। महिलाओं ने सभी व्यापारिक प्रतिष्ठानों में जाकर दुकानदारों व ग्राहकों को अनिवार्य रूप से मतदान करने का संदेश दिया। इसके साथ ही लोगों को संकल्प दिलाया कि वे हर काम को छोड़कर पहले मतदान के लिए केंद्रों में जाएंगे। इस तरह की अनूठी रैली लोगों में चर्चा का विषय बनी रही और सभी ने रैली की सराहना भी की। 

  • छत्तीसगढ़: महिला ने 18 किमी चलकर वोट डाला

    छत्तीसगढ़:  महिला ने 18 किमी चलकर वोट डाला

    दंतेवाड़ा. ये तस्वीर नदी पार गांव तुमरीगुंडा से मुचनार के बीच की है। नदी पार नक्सलगढ़ गांव तुमरीगुंडा के बूथ को मुचनार में शिफ्ट किया गया था।

    नक्सल धमकी, खौफ के बीच भी अपने अधिकार को समझते हुए वोट देने महिलाएं भी पहुंची। चिलचिलाती धूप में मासूम दुधमुंहे बच्चों को गोद में लेकर करीब 18 किमी का सफर पैदल तय कर महिलाएं मतदान केंद्रों तक पहुंची और मतदान किया।

  • छत्तीसगढ़: तेज धूप से बचने महिलाओं ने पत्तों से सिर ढंका

    छत्तीसगढ़: तेज धूप से बचने महिलाओं ने पत्तों से सिर ढंका

    सुकमा (छत्तीसगढ़). सुकमा जिले के जीरमपाल गांव में सुबह से ही बड़ी संख्‍या में महिलाएं और पुरुष मतदान के लिए पहुंच गई थीं। बूथ के बाहर वोटिंग के लिए लम्बी लाइन देखी गई। मतदान केंद्र 60 व 61 के बाहर महिलाओं ने तेज धूप से बचने के लिए ताड़ के पत्तों का सहारा लिया। 

COMMENT
Astrology
Click to listen..
विज्ञापन

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543
विज्ञापन