• Hindi News
  • National
  • Pakistan Releases Masood Azhar, Rajasthan Jammu Border high alert after intel about intel about terrorist intrusion

रिपोर्ट / पाक ने आतंकी हमलों के लिए मसूद अजहर को रिहा किया, राजस्थान बॉर्डर पर अतिरिक्त सैनिक तैनात किए



पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और आतंकी मसूद अजहर। पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और आतंकी मसूद अजहर।
X
पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और आतंकी मसूद अजहर।पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा और आतंकी मसूद अजहर।

  • इंटेलिजेंस ब्यूरो के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद बॉर्डर पर घुसपैठ की घटनाएं बढ़ीं
  • खुफिया रिपोर्ट्स में कहा- पाकिस्तान और वहां के आतंकी संगठन भारत में बड़े धमाकों की साजिश रच रहे
  • सेना और पुलिस ने 21 अगस्त को लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया था

Dainik Bhaskar

Sep 09, 2019, 01:10 PM IST

नई दिल्ली. भारतीय खुफिया विभाग इंटेलिजेंस ब्यूरो (आईबी) ने जम्मू और राजस्थान बॉर्डर पर आतंकी घुसपैठ और धमाकों को लेकर अलर्ट जारी किया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, आईबी के दो अधिकारियों ने कहा है कि पाकिस्तान ने आतंकी हमलों के लिए जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को रिहा कर दिया है। साथ ही पाक ने जम्मू और राजस्थान सेक्टर में अपने अतिरिक्त सैनिक भी तैनात किए हैं।

 

खुफिया जानकारी के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 खत्म होने के बाद से ही बॉर्डर पर लगातार घुसपैठ की घटनाएं बढ़ी हैं। पाक और आतंकी संगठन बड़े धमाकों की साजिश रच रहे हैं। आतंकी लगातार बॉर्डर पर घुसपैठ की कोशिश कर रहे हैं। आईबी ने राजस्थान-जम्मू बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ और सेना अधिकारियों को भी अलर्ट भेजा है।

 

इमरान खान ने भारत को धमकी दी थी
पाक प्रधानमंत्री इमरान खान ने 6 सितंबर को कहा था कि भारत जम्मू-कश्मीर में जो कुछ कर रहा है, उसका हरसंभव जवाब दिया जाएगा। भारत ने अनुच्छेद 370 खत्म करके जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को दो अलग-अलग केंद्र शासित राज्य बनाया। भारत के इस कदम को वैश्विक समुदाय ने नजरअंदाज किया। इसके कारण नई दिल्ली और इस्लामाबाद के बीच तनाव की स्थिति बनी है। वहीं, पाक सेना प्रमुख कमर जावेद बाजवा ने कहा था कि कश्मीर हमारी दुखती रग है, इसके लिए हम आखिरी गोली तक लड़ेंगे।

 

बॉर्डर पर घुसपैठ कर रहे लश्कर के दो आतंकी गिरफ्तार
हाल ही में सेना और पुलिस ने 4 सितंबर को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया था कि 21 अगस्त को लश्कर-ए-तैयबा के 2 आतंकियों को गिरफ्तार किया गया। दोनों आतंकियों ने कबूला था कि नियंत्रण रेखा (एलओसी) के उस तरफ पाकिस्तानी फौज हमारी मदद कर रही है। पाक फौज की मदद से ही हमें घुसपैठ और हमले की ट्रेनिंग मिली। वहीं, सेना के लेफ्टिनेंट जनरल केजेएस ढिल्लन ने कहा था कि पांच से सात आतंकी हर रोज घुसपैठ की कोशिश कर रहे।

 

30 दिन में पांच कश्मीरियों की मौत
ले. जनरल ढिल्लन ने कहा था, ‘‘6 अगस्त को पत्थरबाजी के दौरान जख्मी हुए कश्मीरी नागरिक असरार अहमद खान की बुधवार को मौत हो गई। पिछले 30 दिन में यह पांचवें कश्मीरी नागरिक की मौत है। यह सब पाकिस्तान के आतंकियों, पत्थरबाजों और कठपुतलियों की वजह से हो रहा है।’’

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना