• Hindi News
  • National
  • Indian Army Pakistan Army | India Army Killed 10 Pakistan Soldiers, Destroys Terror Launch Pads PoK

कार्रवाई / पीओके में गोले दागकर 3 आतंकी लॉन्च पैड तबाह किए; सेना प्रमुख ने कहा- करीब 10 पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकी मारे गए



न्यूज एजेंसी ने नीलम घाटी में भारतीय सेनाओं की आर्टिलरी फायरिंग में तबाह हुए आतंकी कैम्प की फोटो जारी की। न्यूज एजेंसी ने नीलम घाटी में भारतीय सेनाओं की आर्टिलरी फायरिंग में तबाह हुए आतंकी कैम्प की फोटो जारी की।
थल सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत। थल सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत।
X
न्यूज एजेंसी ने नीलम घाटी में भारतीय सेनाओं की आर्टिलरी फायरिंग में तबाह हुए आतंकी कैम्प की फोटो जारी की।न्यूज एजेंसी ने नीलम घाटी में भारतीय सेनाओं की आर्टिलरी फायरिंग में तबाह हुए आतंकी कैम्प की फोटो जारी की।
थल सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत।थल सेना प्रमुख जनरल विपिन रावत।

  • खुफिया इनपुट के बाद सेना ने पीओके में जूरा, ऐथमुकाम और कुंदलशाही में आतंकी लॉन्च पैड्स पर गोले दागे
  • आर्मी चीफ ने कहा- जब से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया, सीमा पर घुसपैठ की कई बार कोशिशें की गईं
  • पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में सेना के 2 जवान शहीद हुए, एक नागरिक की जान गई
  • फरवरी में भारत ने बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर आतंकी शिविर नष्ट किया था, इसके 8 महीने बाद सेना की बड़ी कार्रवाई

Dainik Bhaskar

Oct 21, 2019, 11:00 AM IST

श्रीनगर. सेना ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी ठिकानों पर भारी गोलीबारी की। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने बताया कि इस कार्रवाई में 6 से 10 पाकिस्तानी सैनिक और कई आतंकी मारे गए हैं। उन्होंने कहा कि गोलाबारी में पीओके में स्थित 3 आतंकी लॉन्च पैड तबाह हो गए और एक अन्य आतंकी ठिकाने में भी नुकसान हुआ है। सेना ने यह कार्रवाई तब की, जब पाकिस्तान ने आतंकी घुसपैठ को अंजाम देने के लिए शनिवार रात अचानक भारतीय पोस्टों पर गोलाबारी शुरू की। भारतीय सेना ने आर्टिलरी फायरिंग (गोलाबारी) कर पीओके के जूरा, ऐथमुकाम और कुंदलशाही में स्थित आतंकी लॉन्च पैड को तबाह किए।

 

न्यूज एजेंसी को सेना के सूत्र ने बताया कि पाकिस्तान की फायरिंग में भारतीय सेना के दो जवान शहीद हुए और एक नागरिक की जान गई। उसने कहा कि सेना की इस कार्रवाई की तुलना किसी भी सूरत में सितंबर 2016 में की गई सर्जिकल स्ट्राइक से नहीं की जानी चाहिए। इसी साल 26 फरवरी को पीओके के बालाकोट में भारतीय वायुसेना ने एयरस्ट्राइक की थी।

 

देश के बाहर कोई है, जो जम्मू-कश्मीर का माहौल बिगाड़ना चाहता है- आर्मी चीफ
जनरल बिपिन रावत ने कहा- जब से जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया गया है, तब से ही हमें लगातार घुसपैठ की खबरें मिल रही थीं। वे राज्य में शांति को बिगाड़ना चाहते हैं। राज्य में हालात सामान्य हो रहे हैं, लेकिन कोई है जो आतंकियों और एजेंसियों के पीछे काम कर रहा है। इनमें से कुछ लोग देश में हैं और कुछ देश के बाहर पाकिस्तान और पीओके में हैं। ये लोग शांति का माहौल बिगाड़ना चाहते हैं। हमें खबर थी कि आतंकी फॉरवर्ड पोस्टों के नजदीक आ रहे हैं। शनिवार रात तंगधार में घुसपैठ की कोशिश की गई और हमने जवाब दिया। पाकिस्तान ने हमारी पोस्ट पर फायरिंग की और इससे हमें नुकसान हुआ। लेकिन, इससे पहले कि वे घुसपैठ को अंजाम दे पाते, हमने फैसला किया कि हम सीमापार आतंकी कैम्प को निशाना बनाएंगे। हमें इन कैम्पों के बारे में भी जानकारी मिली थी। सीमापार आतंकी ठिकानों को हमारी कार्रवाई से बड़ा नुकसान हुआ है।

 

पाकिस्तान ने कहा- हमारा एक सैनिक मारा गया
पाकिस्तान की की सेना ने दावा किया कि उनकी गोलीबारी में 9 भारतीय सैनिकों की जान गई, लेकिन भारतीय सेना ने यह दावा खारिज कर दिया। पाकिस्तानी फौज के प्रवक्ता मेजर जनरल आसिफ गफूर ने कहा कि भारतीय सेना की गोलाबारी में एक जवान मारा गया और 3 नागरिकों की जान गई।
 

भारतीय सेना ने कुछ पाक पोस्टों को भी निशाना बनाया

सेना ने बताया- हमारे पास इस बात की पुख्ता सूचना थी कि लाइन ऑफ कंट्रोल (एलओसी) के उस पार इन लॉन्च पैड्स में आतंकवादी मौजूद हैं। इसके बाद आर्मी ने इन पर गोलाबारी की। पाकिस्तानी सेना इन आतंकवादियों की भारतीय सीमा में घुसपैठ कराना चाहती थी और इसीलिए उसने शनिवार रात भारतीय पोस्टों पर अचानक गोलाबारी शुरू कर दी। जवाब में भारतीय सेना ने गोलाबारी की। पाक सेना की कुछ पोस्टें इन लॉन्च पैड्स की हिफाजत कर रही थीं और भारतीय सेना ने इनमें से कुछ पोस्टों को भी निशाना बनाया। 

 

पुलावामा हमले के बाद भारतीय वायुसेना ने की थी एयर स्ट्राइक
14 फरवरी को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आतंकी हमला किया गया था। इसमें सीआरपीएफ के 46 जवान शहीद हुए थे। इस हमले का जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना ने 26 फरवरी को पीओके के बालाकोट में एयर स्ट्राइक कर आतंकी लॉन्चपैड तबाह किए थे। इसमें करीब 350 आतंकियों के मारे जाने का दावा किया गया था।

 

श्रीनगर के आसपास आतंकी मौजूद
खुफिया सूत्रों के मुताबिक, 10 से ज्यादा आतंकी श्रीनगर के आसपास छिपे हुए हैं। ये कश्मीर में सख्ती कम होने और सुरक्षा प्रतिबंधों के ढीला होने की ताक में हैं। पत्थरबाजों के नेटवर्क को भी सक्रिय करने की कोशिशें जारी हैं। इन आतंकियों को श्रीनगर के बाहरी इलाकों में घूमता देखा गया है।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना