• Hindi News
  • National
  • Devinder Singh Kashmir DSP | Kashmir Police On DSP Devinder Singh Hizbul terrorists News Updates: Kashmir DSP is not awarded any Gallantry medal by Ministry of Home Affairs

जम्मू-कश्मीर / गिरफ्तार डीएसपी को गृह मंत्रालय ने नहीं दिया पुरस्कार, केवल राज्य से मिला एक मेडल: पुलिस

देविंदर सिंह पर आतंकियों से पैसे लेकर उनकी मदद करने का आरोप। देविंदर सिंह पर आतंकियों से पैसे लेकर उनकी मदद करने का आरोप।
X
देविंदर सिंह पर आतंकियों से पैसे लेकर उनकी मदद करने का आरोप।देविंदर सिंह पर आतंकियों से पैसे लेकर उनकी मदद करने का आरोप।

  • पुलिस ने कहा- देविंदर सिंह को राष्ट्रपति और गृह मंत्रालय से वीरता पुरस्कार मिलने की खबरें सही नहीं
  • ‘देविंदर को राज्य सरकार ने फिदायीन हमले के खिलाफ ऑपरेशन में हिस्सा लेने के लिए पदक दिया’ 
  • कांग्रेस ने कहा- क्या देविंदर के नाम के आगे खान होता तो भी इस पर आरएसएस-भाजपा चुप रहती

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2020, 06:07 PM IST

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने आतंकियों के साथ गिरफ्तार डीएसपी देविंदर सिंह को लेकर मंगलवार को नया खुलासा किया। पुलिस ने कहा- देविंदर सिंह को राष्ट्रपति और गृह मंत्रालय से वीरता पुरस्कार मिलने की खबरें सही नहीं हैं। उसे 2017 में 25-26 अगस्त को फिदायीन हमले के खिलाफ पुलिस ऑपरेशन में हिस्सा लेने के लिए केवल राज्य सरकार ने वीरता पदक दिया था। पुलिस एक अनुशासित संस्था है। अगर इसका सिपाही गलत काम करेगा तो उस पर भी कार्रवाई होगी। इस पर कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा- अगर देविंदर सिंह के नाम के आगे खान होता तो आरएसएस की ट्रोल रेजिमेंट हमलवार हो गई होती। इसका कारण ये है कि आरएसएस-भाजपा देश की सांप्रदायिक सद्भावना को बिगाड़ना चाहती है।

कोई बड़ी साजिश लग रही है: रणदीप सुरजेवाला

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा- इस मामले में कोई बड़ी साजिश चल रही है। आखिर देविंदर सिंह किसके इशारों पर काम कर रहा था। कहीं, उसके पीछे किसी और शक्तिशाली व्यक्ति का हाथ तो नहीं। वह किसके कहने पर आतंकियों को अपनी कार से ले जा रहा था। पिछले साल हुए पुलवामा हमले के वास्तविक अपराधी कहां हैं? क्या वह 2011 में संसद पर हुए हमले में भी संलिप्त था? वह कितने साल से आतंकियों की मदद कर रहा था? ये ऐसे सवाल हैं, जिसका प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री को जवाब देना चाहिए।

देश की सुरक्षा से जुड़े मुद्दे पर राजनीति होना दुखद: फारूक खान

जम्मू-कश्मीर के लेफ्टीनेंट गवर्नर के सलाहकार फारूक खान ने कहा- मैं अभी इस मुद्दे पर ज्यादा चर्चा नहीं करना चाहता। यह दुखद है कि देश की सुरक्षा से जुड़े इस मुद्दे पर राजनीति की जा रही है। हर संस्था में एक गद्दार होता है। देविंदर सिंह भी ऐसा ही था। उसे सामने लाने का श्रेय जम्मू कश्मीर पुलिस को जाता है, जिसने उसे पकड़ा और उसकी साजिशों का पर्दाफाश किया। मामले की जांच चल रही है।

आतंकी नावीद बाबा के साथ गिरफ्तार हुआ था देविंदर

देविंदर सिंह को रविवार को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह नावीद बाबा को अपनी कार से ले जा रहा था। देविंदर ने पूछताछ में बताया कि नावीद को उसने श्रीनगर स्थित अपने घर में भी ठहराया था। उसकी गिरफ्तारी के बाद आईजीपी विजय कुमार ने कहा था- देविंदर सिंह ने जघन्य अपराध किया है। वह आतंकवादियों को ले जा रहा था। उसने आतंकियों से 12 लाख रुपए लिए थे। एक आतंकी के तौर पर ही उसके खिलाफ केस दर्ज किया जाएगा।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना