कश्मीर में 2 पाकिस्तानी आतंकी ढेर:पुलवामा हमले की साजिश में शामिल लंबू भी मारा गया; जैश के सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार था

श्रीनगर3 महीने पहले

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में नागबेरन-तरसर के जंगलों में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों को मार गिराया है। पुलिस ने बताया है कि मारे गए आतंकियों में से एक जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी लंबू है जो पाकिस्तान का टॉप मोस्ट आतंकी था। बता दें लंबू इम्प्रूवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (IED) बनाने में एक्सपर्ट था और 2019 में हुए पुलवामा हमले की साजिश में भी शामिल था। सुरक्षाबलों को 4 साल से उसकी तलाश थी। वह 2017 से घाटी में सक्रिय था।

कश्मीर पुलिस के IG विजय कुमार के मुताबिक मोहम्मद इस्माइल अल्वी उर्फ लंबू उर्फ अदनान जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार था। वह 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए हमले के दिन तक फियादीन आदिल डार के साथ ही रुका हुआ था। आदिल के वायरल वीडियो में लंबू की आवाज भी सुनाई दी थी। बता दें पुलवामा हमले में CRPF के 40 जवान शहीद हुए थे।

पुलवामा हमले के 19 में से 7 आतंकी मारे गए
IG विजय कुमार ने बताया कि पुलवामा हमले में शामिल 19 में से 7 आतंकी अब तक मारे जा चुके हैं। 7 गिरफ्तार किए जा चुके हैं, जबकि 5 फरार हैं। वहीं चिनार कॉर्प्स कमांडर के लेफ्टिनेंट जनरल डीपी पांडे का कहना है कि लंबू के मारे जाने का दोगुना महत्व है। IED ब्लास्ट में खुद को उड़ाने वाले आदिल को लंबू ने ही ट्रेंड किया था। लंबू स्थानीय युवाओं का ब्रेशवॉश कर उन्हें आतंकी बनाता था और उन्हें IED बनाना सिखाकर सुरक्षाबलों के खिलाफ इस्तेमाल करता था।

शनिवार के एनकाउंटर को लेकर पुलिस ने बताया कि नागबेरन-तरसर के जंगलों में कुछ आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने पर सर्चिंग शुरू की गई थी। इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी। सूत्रों के मुताबिक ये 5 आतंकियों का ग्रुप था। इसमें एक स्थानीय और चार पाकिस्तानी आतंकी थे। एनकाउंटर में मारे गए दूसरे आतंकी की अभी पहचान नहीं हुई है। वहीं पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन भी जारी है, इसमें तीन जिलों की पुलिस और सेना क जवान जुटे हुए हैं।

पुलवामा हमले में 350 किलो IED इस्तेमाल हुआ था
14 फरवरी 2019 को जम्मू-कश्मीर में पुलवामा के अवन्तीपुरा इलाके में CRPF के काफिले पर फिदायीन हमला हुआ था। गोरीपुरा गांव के पास हुए इस हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले की जिम्मेदारी आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली थी। आतंकियों ने हमले के लिए 350 किलो आईईडी का इस्तेमाल किया था।

पुलवामा हमला कश्मीर में 30 साल का सबसे बड़ा आतंकी हमला था। आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से लदी गाड़ी CRPF जवानों को ले जा रही बस से टकरा दी थी।
पुलवामा हमला कश्मीर में 30 साल का सबसे बड़ा आतंकी हमला था। आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटक से लदी गाड़ी CRPF जवानों को ले जा रही बस से टकरा दी थी।

जम्मू-कश्मीर में फिर दिखे ड्रोन
जम्मू-कश्मीर के सांबा में शनिवार शाम दो ड्रोन देख गए। सांबा के घगवाल और चछवाल इलाके में स्थानीय लोगों ने इन्हें देखा। इसकी सूचना पुलिस को दी गई। SSP सांबा राजेश शर्मा ने कहा कि ये ड्रोन बाद में पाकिस्तान की ओर उड़ गए। जम्मू-कश्मीर में बीते कई दिनों से लगातार संदिग्ध ड्रोन दिखाई दे रहे हैं।

पंजाब में 2 पाकिस्तानी घुसपैठिए ढेर
पंजाब के फिरोजपुर बॉर्डर पर BSF ने शुक्रवार रात पाकिस्तान के 2 घुसपैठियों को मार गिराया। BSF के जवानों ने घुसपैठियों को रुकने के लिए कहा, लेकिन वे नहीं माने। जैसे ही वे भारतीय सीमा में घुसे जवानों ने उन्हें ढेर कर दिया। इसके साथ ही आसपास के इलाकों में भी सर्च ऑपरेशन जारी है।

जम्मू-पुंछ हाइवे पर IED मिला
शोपियां में 14 जगहों पर सुरक्षाबलों की छापेमारी की जा रही है। यह कार्रवाई जम्मू-पुंछ हाईवे पर IED मिलने और टेरर फंडिंग के मामले की जा रही है। आतंकी हिदायत अहमद के शरतपोरा स्थित घर पर भी छापा मारा गया है। उसे पिछले साल जम्मू से गिरफ्तार किया गया था।

बारामूला में ग्रेनेड हमले में 3 जवान घायल
शुक्रवार को बारामूला में सुरक्षाबलों पर आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया था। हमले में CRPF के तीन जवान और एक नागरिक घायल हो गया। इन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी की और सर्च ऑपरेशन चलाया, लेकिन आतंकियों का अभी तक पता नहीं चल पाया है।

खबरें और भी हैं...