• Hindi News
  • National
  • Jammu Kashmir Snowfall Photos Update; Hill Station Gulmarg, Baramulla, Ramban And Anantnag

कश्मीर में सीजन की पहली बर्फबारी के 10 PHOTO:पहलगाम में पारा माइनस में, गुलमर्ग में स्कीइंग का लुत्फ ले रहे पर्यटक

श्रीनगरएक महीने पहले

जम्मू-कश्मीर के बारामूला, रामबन और अनंतनाग सहित कई जिलों में शनिवार सुबह सीजन की पहली बर्फबारी हुई। कश्मीर के प्रसिद्ध हिल स्टेशन गुलमर्ग में बर्फ की सफेद चादर नजर आने लगी है। आज सुबह हुई बर्फबारी के बाद यहां स्कीइंग शुरू कर दी गई है।

इस सीजन में यहां दुनियाभर से स्कीइंग लवर्स आते हैं। इस बार भी सैकड़ों पर्यटक पहुंच चुके हैं। पहलगाम में भी आज सुबह बर्फबारी हुई है। इसके बाद यहां टेम्परेचर माइनस 0.3 डिग्री रह गया है, वहीं श्रीनगर में पारा 5.6 डिग्री है।

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में गुलमर्ग प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह श्रीनगर से 217 किलोमीटर दूर है। स्कीइंग के लिए दुनियाभर से टूरिस्ट यहां आते हैं।
जम्मू-कश्मीर के बारामूला में गुलमर्ग प्रसिद्ध पर्यटन स्थल है। यह श्रीनगर से 217 किलोमीटर दूर है। स्कीइंग के लिए दुनियाभर से टूरिस्ट यहां आते हैं।
फोटो बडगाम के दूध पथरी हिल स्टेशन की है। यह श्रीनगर से 42 और बडगाम से 14 किमी दूर है। दूध-पथरी का मतलब है दूध की घाटी। यहां नदी का पानी ऊंचाई से नीचे गिरकर दूध जैसी धारा बनाता है।
फोटो बडगाम के दूध पथरी हिल स्टेशन की है। यह श्रीनगर से 42 और बडगाम से 14 किमी दूर है। दूध-पथरी का मतलब है दूध की घाटी। यहां नदी का पानी ऊंचाई से नीचे गिरकर दूध जैसी धारा बनाता है।
फोटो रामबन जिले की महू वैली का है। यहां लंबे-लंबे घास के मैदान हैं। ऑफबीट ट्रैवलर्स इस जगह को काफी पसंद करते हैं। जिले की कुल आबादी 2.84 लाख है।
फोटो रामबन जिले की महू वैली का है। यहां लंबे-लंबे घास के मैदान हैं। ऑफबीट ट्रैवलर्स इस जगह को काफी पसंद करते हैं। जिले की कुल आबादी 2.84 लाख है।
फोटो अनंतनाग जिले की छोटी सी तहसील पहलगाम का है। यह प्रसिद्ध पर्यटन स्थल होने के साथ-साथ अमरनाथ यात्रा का एक महत्वपूर्ण पड़ाव भी है।
फोटो अनंतनाग जिले की छोटी सी तहसील पहलगाम का है। यह प्रसिद्ध पर्यटन स्थल होने के साथ-साथ अमरनाथ यात्रा का एक महत्वपूर्ण पड़ाव भी है।
पहलगाम लिद्दर नदी के किनारे बसा हुआ है। मुगलों के शासनकाल के दौरान यह इलाका केवल चरवाहों का गांव था। आज यह काफी प्रसिद्ध टूरिस्ट स्पॉट है।
पहलगाम लिद्दर नदी के किनारे बसा हुआ है। मुगलों के शासनकाल के दौरान यह इलाका केवल चरवाहों का गांव था। आज यह काफी प्रसिद्ध टूरिस्ट स्पॉट है।
बर्फबारी से सेब की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। पेड़ों पर ज्यादा बर्फ गिरने से कई पेड़ों की टहनियां टूट गई हैं। पहलगाम के किसानों ने नुकसान ज्यादा होने की बात कही है।
बर्फबारी से सेब की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है। पेड़ों पर ज्यादा बर्फ गिरने से कई पेड़ों की टहनियां टूट गई हैं। पहलगाम के किसानों ने नुकसान ज्यादा होने की बात कही है।
बर्फबारी के बाद पहलगाम में सड़कें सफेद चादर से ढक गई हैं। इससे लोगों को गाड़ी चलाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
बर्फबारी के बाद पहलगाम में सड़कें सफेद चादर से ढक गई हैं। इससे लोगों को गाड़ी चलाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
बर्फबारी होने के बाद कश्मीर के लोगों को यातायात में काफी परेशानी होती है। ठंड बढ़ने पर फ्यूल जम जाता है, जिसके बाद गाड़ियों को स्टार्ट करने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है।
बर्फबारी होने के बाद कश्मीर के लोगों को यातायात में काफी परेशानी होती है। ठंड बढ़ने पर फ्यूल जम जाता है, जिसके बाद गाड़ियों को स्टार्ट करने में काफी मशक्कत करनी पड़ती है।
जम्मू संभाग के रामबन जिले में भी बर्फबारी हुई। इसके बाद जम्मू-श्रीनगर हाईवे से गुजरने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
जम्मू संभाग के रामबन जिले में भी बर्फबारी हुई। इसके बाद जम्मू-श्रीनगर हाईवे से गुजरने वाले लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।
फोटो गांदरबल जिले के सोनमर्ग हिल स्टेशन की है। यह गांदरबल से 62 किलोमीटर और श्रीनगर से 80 किलोमीटर दूर है। यहां भी सेब की फसल को नुकसान पहुंचा है।
फोटो गांदरबल जिले के सोनमर्ग हिल स्टेशन की है। यह गांदरबल से 62 किलोमीटर और श्रीनगर से 80 किलोमीटर दूर है। यहां भी सेब की फसल को नुकसान पहुंचा है।
खबरें और भी हैं...