• Hindi News
  • National
  • JNU Campus Violence | JNU Violence News Latest Updates; Amit Shah, JNUSU Aishe Ghosh, Priyanka Gandhi, Jawaharlal Nehru University Video, Protest At Mumbai Gateway Of India

इंडिया गेट और गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन; कोलकाता में लेफ्ट और एबीवीपी समर्थक आमने-सामने

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
नई दिल्ली: यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मशाल रैली निकाली। - Dainik Bhaskar
नई दिल्ली: यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने मशाल रैली निकाली।
  • नकाबपोशों ने प्रदर्शनकारी छात्रों पर लाठी-रॉड से हमला किया, ढाई घंटे कोहराम मचाते रहे; छात्र संघ अध्यक्ष आइशी समेत 35 जख्मी
  • जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष ने एबीवीपी पर मारपीट का आरोप लगाया, कहा- नकाबपोशों ने मुझे बुरी तरह पीटा
  • राहुल ने कहा- देश की फासीवादी सरकार छात्रों की आवाज से डरी, केजरीवाल बोले- कैम्पस सुरक्षित नहीं, तरक्की कैसे होगी

नई दिल्ली. जेएनयू में हिंसा के बाद देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं। सोमवार शाम यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इंडिया गेट पर मशाल रैली निकाली। वहीं, मुंबई स्थित गेटवे ऑफ इंडिया पर छात्रों ने प्रदर्शन किया। एक छात्रा कश्मीर को रिहा करने का संदेश देती दिखी। तमिलनाडु में छात्रों ने कैंडल मार्च निकाला। इससे पहले दिल्ली पुलिस ने स्वत: संज्ञान लेते हुए अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की। सुरक्षा के मद्देनजर जेएनयू में 700 पुलिसकर्मी तैनात किए गए क्योंकि उत्तरी गेट पर छात्र एकत्रित होकर विरोध जता रहे थे। वहीं, कोलकाता में लेफ्ट और भाजपा समर्थक इसी मामले पर आमने-सामने हुए। 

फीस बढ़ोतरी के खिलाफ हिंसा हुई थी
जेएनयू में फीस बढ़ोतरी के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान रविवार रात हिंसा हुई थी। नकाबपोशों ने छात्र-शिक्षकों को डंडे और लोहे की रॉड से बुरी तरह पीटा। वे ढाई घंटे तक कैंपस में कोहराम मचाते रहे। हमले में छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष समेत कई घायल हो गए। आइशी ने एबीवीपी पर हमले का आरोप लगाया और कहा कि नकाबपोश गुंडों ने मुझे बुरी तरह पीटा। करीब 35 लोग जख्मी हो गए। अब तक 23 घायलों को एम्स से छुट्टी मिल चुकी है।

अपडेट्स

  • यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोतरी को लेकर पिछले दो महीनों से प्रदर्शन चल रहा है। रविवार सुबह भी छात्र अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद कर रहे थे। इसी दौरान मारपीट की घटना हुई। जेएनयू छात्र संघ ने अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद(एबीवीपी) और यूनिवर्सिटी प्रबंधन पर इस घटना में शामिल होने का आरोप लगाया है। एबीवीपी ने कहा कि इस सबके पीछे लेफ्ट से जुड़े छात्रों का हाथ है।
  • मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एचआरडी) ने सोमवार को यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार, प्रोक्टर और रेक्टर को तलब किया। जेएनयू के कुलपति एम. जगदीश कुमार ने छात्रों से शांति बनाए रखने की अपील की।
  • यूनिवर्सिटी में हिंसा की जांच के लिए दिल्ली पुलिस ने ज्वाइंट कमिश्नर की अगुआई में टीम गठित की। पुलिस सीसीटीवी फुटेज जुटाने के लिए कैंपस पहुंची।
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने आवास पर आम आदमी पार्टी नेताओं और अपने मंत्रियों के साथ जेएनयू में हिंसा के मुद्दे पर बैठक बुलाई।
  • हिंसा के बाद छात्र संगठनों ने रविवार रात को मारपीट की घटना को लेकर दिल्ली पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। सोमवार को मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया, कोलकाता की जाधवपुर यूनिवर्सिटी और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में प्रदर्शन हुए।
  • गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली के पुलिस कमिश्नर अमूल्य पाठक से कहा- हिंसा की वरिष्ठ अधिकारियों से जांच कराई जाए। जल्द रिपोर्ट पेश की जाए। जो भी जरूरी कदम हो वो उठाए जाएं। मानव संसाधन मंत्रालय ने भी तत्काल जेएनयू प्रशासन से रिपोर्ट मांगी।
  • कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने कहा- ट्रॉमा सेंटर में भर्ती छात्रों ने मुझे बताया कि कैम्पस में गुंडे दाखिल हुए, उन्होंने डंडों और हथियारों से हमला किया। कई लोगों के सिर पर चोट आई है। कुछ ने कहा कि पुलिस ने उनके सिर पर कई बार लात मारी।
  • जेएनयू के पूर्व छात्र और विदेश मंत्री एस जयशंकर ने ट्वीट किया कि मैं जेएनयू की हालत देख रहा हूं। इस तरह की घटना की निंदा करता हूं। यह यूनिवर्सिटी की परंपरा और संस्कृति के खिलाफ है। वहीं, कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा- देश की फासीवादी सरकार छात्रों की आवाज से डरी हुई है।
  • दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- जेएनयू में हिंसा की घटना से स्तब्ध हूं। छात्रों को बुरी तरह पीटा गया है। पुलिस को तत्काल हिंसा रोककर कैंपस में शांति बहाल करना चाहिए। कैसे देश तरक्की करेगा, जब यूनिवर्सिटी कैंपस के भीतर हमारे छात्र सुरक्षित नहीं रहेंगे।
  • यूनिवर्सिटी में फीस बढ़ोतरी को लेकर पिछले दो महीनों से प्रदर्शन चल रहा है। रविवार सुबह भी छात्र अपनी मांगों को लेकर आवाज बुलंद कर रहे थे। इसी दौरान मारपीट की घटना हुई। जेएनयू छात्र संघ ने एबीवीपी और यूनिवर्सिटी प्रबंधन पर इस घटना में शामिल होने का आरोप लगाया है। एबीवीपी ने कहा- इस सबके पीछे लेफ्ट से जुड़े छात्रों का हाथ है।
  • कैंपस में हिंसा का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें नकाबपोश लोग डंडे और लोहे की रॉड लेकर मारपीट करते नजर आ रहे हैं। इसी दौरान प्रदर्शनकारी यह कहते सुने जा सकते हैं कि कौन हो तुम लोग? किसे डराना चाह रहे हो?.. एबीवीपी वापस जाओ।
  • जेएनयू के पूर्व प्रोफेसर योगेंद्र यादव के साथ भी हाथापाई हुई। जेएनयू के भीतर फंसे छात्रों ने भास्कर को बताया था कि हिंसा के बाद वे भीतर फंसे गए। काफी देर तक कैम्पस में मारपीट और शोरशराबा चलता रहा। हॉस्टल के गेट बंद कर दिए गए और नाकबपोश लोग डंडे लेकर घूमते रहे।