जेईई एडवांस / टॉपर कार्तिकेय गुप्ता ने कहा- शांत दिमाग से की गई तैयारी का परिणाम

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 12:34 PM IST



कार्तिकेय गुप्ता। कार्तिकेय गुप्ता।
Kartikey Gupta: IIT JEE Advanced 2019 Topper Kartikey Gupta Interview
कार्तिकेय गुप्ता। कार्तिकेय गुप्ता।
X
कार्तिकेय गुप्ता।कार्तिकेय गुप्ता।
Kartikey Gupta: IIT JEE Advanced 2019 Topper Kartikey Gupta Interview
कार्तिकेय गुप्ता।कार्तिकेय गुप्ता।

  • महाराष्ट्र के चंद्रपुर के रहने वाले हैं कार्तिकेय, मुंबई में रहकर की एग्जाम की तैयारी
  • कार्तिकेय अपना आदर्श महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन को मानते हैं
  • तैयारी के दौरान सोशल मीडिया से दूरी बनाए रखी, कीपैड वाला फोन किया इस्तेमाल

मुंबई. शुक्रवार को रुड़की आईआईटी ने जेईई एडवांस की रिजल्ट घोषित कर दिया। इसमें महाराष्ट्र के कार्तिकेय गुप्ता ने ऑल इंडिया पहली रैंक हासिल की। कार्तिकेय मूल रुप से महाराष्ट्र के चंद्रपुर के रहने वाले हैं। इससे पहले जेईई मेंस परीक्षा में भी 100 पर्सेंटाइल स्कोर हासिल कर कार्तिकेय ने ऑल इंडिया 18वीं रैंक हासिल की थी। कार्तिकेय ने इसी साल 12वीं की परीक्षा 93.7 प्रतिशत अंकों के साथ उत्त्तीर्ण की है।

 

अपनी सफलता से खुश कार्तिकेय कहते हैं कि रिजल्ट अच्छा आएगा, इस बात का यकीन था। लेकिन, टॉप करुंगा इसकी उम्मीद नहीं थी। कार्तिकेय अपनी सफलता का श्रेय शांत दिमाग से की गई तैयारी को देते हैं। उन्होंने बताया कि रेगुलर क्लास के अलावा 6 से 7 घंटे का शेड्यूल बनाकर सेल्फ स्टडी करते थे। 

 

दिमाग में डाउट्स नहीं रखे: कार्तिकेय
कार्तिकेय कहते हैं कि जेईई की तैयारी का सबसे बड़ा फॉर्मूला यह है कि दिमाग में डाउट्स मत रखिए। क्योंकि, अगर आपने डाउट्स क्लीयर नहीं किए तो वह आगे और समस्या बढ़ाएंगे। इसलिए, हर सब्जेक्ट का डाउट्स क्लीयर करने के बाद ही मैं रात को सोता था। 


शांत दिमाग से तैयारी करें साथी छात्र
कार्तिकेय अपनी सक्सेस का मंत्र शांत दिमाग से की गई तैयारी को देते हैं। वह कहते हैं- मैं स्टूडेंट्स से कहना चाहूंगा कि लक्ष्य प्राप्ति के लिए शांत दिमाग रखकर तैयारी करें। क्योंकि, आपका मुकाबला खुद से है। पढ़ाई को एंजॉय करें। जो भी विषय पढ़े, उसे मन से पढ़ें। एग्जाम की तैयारी को लेकर बिल्कुल पैनिक मत होइए। 

 

सोशल मीडिया से दूरी, कीपैड का फोन 
कार्तिकेय ने तैयारी के दौरान सोशल मीडिया से दूरी बनाकर रखी। वह कहते हैं कि सोशल मीडिया के इस्तेमाल में वक्त बर्बाद न हो, इसलिए मैं कीपैड वाला फोन इस्तेमाल करता था। क्योंकि, स्मार्ट फोन दिन के कई घंटे बर्बाद कर देता है और आपको इसका पता ही नहीं चलता है।  

 

कार्तिकेय के आदर्श हैं महान गणितज्ञ
महान गणितज्ञ श्रीनिवास रामानुजन को कार्तिकेय अपना आदर्श मानते हैं। वह कहते हैं कि बेहद कम संसाधनों व सुविधाओं में गणित विषय के लिए उनका योगदान शानदार था। आईआईटी मुम्बई की सीएस ब्रांच से इंजीनियरिंग कार्तिकेय का सपना था, जो अब पूरा होने जा रहा है। 

 

कार्तिकेय के पिता चन्द्रेश गुप्ता पेपर इण्डस्ट्री में जनरल मैनेजर और मां पूनम गुप्ता गृहिणी है। बड़ा भाई भारतीय विद्या भवन सरदार पटेल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, मुम्बई से सीएस ब्रांच से इंजीनियरिंग कर रहे हैं।

COMMENT